--Advertisement--

शराब कारोबारी पर किया गौतस्करों ने हमला, घिरे तो गाड़ी छोड़ हुए फरार

गौरक्षा दल के जिला प्रधान दीपक चौहान ने बताया कि रात करीब 11 बजे उन्हें इलाके में कुछ गौतस्करों की सूचना मिली थी।

Danik Bhaskar | Jan 10, 2018, 02:21 PM IST
सफीदों में गौतस्करों के द्वारा मौके पर छोड़ी गई गाड़ी के पास मौजूद गौरक्षक दल के सदस्य। गौतस्करों को पहले गौरक्षक दल ने रोका तो फिर शराब के एक ठेकेदार ने टाेका, जिसके चलते वो भाग गए। सफीदों में गौतस्करों के द्वारा मौके पर छोड़ी गई गाड़ी के पास मौजूद गौरक्षक दल के सदस्य। गौतस्करों को पहले गौरक्षक दल ने रोका तो फिर शराब के एक ठेकेदार ने टाेका, जिसके चलते वो भाग गए।

सफीदों(जींद)। सफीदाें में मंगलवार रात गौतस्करों ने शराब के एक ठेकेदार को घायल कर दिया। बाद में खुद को घिरा पाकर तस्कर भाग निकले। फिलहाल पुलिस बिना नंबरों की गाड़ी के आधार पर गौतस्करों की तलाश में जुटी हुई है। इस घटना में शराब के ठेकेदार को सिर पर चोटें आई हैं, वहीं उसकी गाड़ी को भी काफी नुकसान हुआ है। इस तरह हुई गौतस्करी की कोशिश नाकाम...

- गौरक्षा दल के जिला प्रधान दीपक चौहान ने बताया कि रात करीब 11 बजे उन्हें इलाके में कुछ गौतस्करों के सक्रिय होने की सूचना मिली थी। इसके बाद पीछा करके गोयल अस्पताल के पास गाय उठाने की कोशिश को नाकाम कर दिया गया।

- चौहान ने बताया कि यहां से गौतस्कर खानसर चौक की तरफ भाग गए। वहां भी उन्होंने गायों को उठाने की कोशिश की, मगर कामयाब नहीं हो सके।
- दरअसल वहां से गुजर रहे शराब के ठेकेदार नीटू बूरा उन्हें ललकारा तो उन्होंने फायरिंग शुरू कर दी। साथ ही गौतकरों ने नीटू की गाड़ी को भी पीछे से टक्कर मार दी। पता चला है कि नीटू के सिर पर चोट आई है।
- हालांकि इस दौरान सूचना पाकर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई थी, लेकिन तब तक टोडीखेड़ी के खेतों की तरफ पहुंच चुके तस्कर गाड़ी को वहीं छोड़कर भाग निकले। पुलिस ने बिना नंबर की इस गाड़ी को कब्जे में ले आरोपियाें की तलाश शुरू कर दी है।

शराब के ठेकेदार नीटू बूरा की गाड़ी, जिसे तस्करों ने भागने की कोशिश में टक्कर मारकर डैमेज कर दिया। शराब के ठेकेदार नीटू बूरा की गाड़ी, जिसे तस्करों ने भागने की कोशिश में टक्कर मारकर डैमेज कर दिया।
तस्करों की गाड़ी में पड़े पत्थर और दूसरी चीजें। तस्करों की गाड़ी में पड़े पत्थर और दूसरी चीजें।
एक तरफ गौरक्षक दल पीछे पड़ा हुआ था, दूसरी तरफ पुलिस भी मौकेब पर आ गई तो गाड़ी को छोड़ भागे तस्कर। एक तरफ गौरक्षक दल पीछे पड़ा हुआ था, दूसरी तरफ पुलिस भी मौकेब पर आ गई तो गाड़ी को छोड़ भागे तस्कर।