--Advertisement--

निगम को बदलना था मीटर, कंज्यूमर ने चेन बांध लगा दिया ताला

मामला रोचक भी है और पेचीदा भी। पोल पर लगे बिजली मीटर पर पिछले 10 दिन से लोहे की मोटी चेन लिपटी है और ताला लगा है।

Dainik Bhaskar

Feb 15, 2018, 04:13 AM IST
Electricity Corporation s JE filed fake case on consumer

सोनीपत. मामला रोचक भी है और पेचीदा भी। पोल पर लगे बिजली मीटर पर पिछले 10 दिन से लोहे की मोटी चेन लिपटी है और ताला लगा है। बिजली निगम अधिकारी मीटर बदलने के लिए पुलिस तक ले जा चुके हैं, लेकिन कंज्यूमर ने मीटर नहीं उतारने दिया। 26 जनवरी को योजना के तहत मीटर बदलने के लिए निगम टीम मौके पर पहुंची थी। आरोप है कि मीटर में बिजली चोरी होती मिली।

- चोरी की वीडियोग्राफी और रिपोर्ट बनाकर नया मीटर बदल दिया गया। बाद में उखाड़ने लगे तो कंज्यूमरने चोरी का झूठा केस बनाकर भ्रष्टाचार के आरोप जेई पर जड़ दिए।

- कंज्यूमर ने बिजली मीटर पर चेन बांधकर ताला लगा रखा है और नजर रखने के लिए सीसीटीवी कैमरे तक लगा दिए हैं।

- मामले की विभागीय जांच में जेई की मीटर नहीं उतारने की लापरवाही मिली है लेकिन भ्रष्टाचार को नकारा गया है।

यह है पूरा मामला
- मामला शहर के माडल टाउन सब डिवीजन इलाके की सिक्का कॉलोनी का है।

- 23 जनवरी को बिजली निगम अधिकारियों ने लेटर जारी कर एसपी कैटेगरी यानी स्माल स्केल इंडस्ट्री वाले कंज्यूमर्स के केडब्ल्यूएच वाले पुराने मीटर की जगह केवीएएच सुविधा वाले मीटर बदलने के निर्देश जारी किए।

- 26 जनवरी को मीटर बदलने की प्रक्रिया के तहत बिजली निगम के दो एएलएम सिक्का कॉलोनी में मीटर बदलने पहुंचे। आरोप है कि कंज्यूमर संदीप के बिजली मीटर में एक फेस मीटर से निकालकर सीधे जोड़ रखा था।

- जेई ने चोरी का केस दर्ज कर दिया। वहीं, मीटर को सील करने की बजाय नया मीटर बदल दिया। 27 जनवरी को कंज्यूमर पर 2,34,010 रुपए का जुर्माना लगा दिया गया और एफआईआर भी करवा दी गई।

कंज्यूमरने लगाया गलत केस बनाने का आरोप

- चोरी का केस बनने के बाद कंज्यूमरने गलत तरीके से केस बनाने की बात कहकर जेई पर ही बिजली चोरी का झूठा केस बनाने व भ्रष्टाचार के आरोप लगा दिए। विभाग स्तर पर जांच शुरू की गई।

- जांच में पाया गया है कि कंज्यूमरद्वारा बिजली चोरी करने के साक्ष्य मिले हैं। जेई की लापरवाही यह थी कि बिजली चोरी का केस बनाने के बाद भी पुराने मीटर की जगह नया मीटर लगा दिया गया।

- डिपार्टमेंटल नियमों में लापरवाही की वजह से जेई को सस्पेंड कर दिया गया, लेकिन भ्रष्टाचार के आरोप अभी साबित नहीं हो पाए। कंज्यूमरअौर जेई दोनों ही अपने आप को पाक-साफ बता रहे हैं।

- अब बिजली निगम आरोपी का मीटर नहीं उतार पा रहा है। कंज्यूमरने मीटर पर मोटी लोहे की चेन पोल के साथ बांधकर ताला लगा दिया है। सीसीटीवी कैमरे की नजर तक इस पर कर दी है।

Electricity Corporation s JE filed fake case on consumer
X
Electricity Corporation s JE filed fake case on consumer
Electricity Corporation s JE filed fake case on consumer
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..