--Advertisement--

हरियाणा का पहला महिला सब स्टेशन, तीन महिलाएं संभाल रहीं 12 फीडर

पानीपत में प्रदेश का पहला महिला बिजली सब स्टेशन शुरू हो गया है। इसमें ऑपरेशन संबंधी सभी कार्य महिलाएं ही करती हैं।

Danik Bhaskar | Feb 09, 2018, 07:02 AM IST

पानीपत. पानीपत में प्रदेश का पहला महिला बिजली सब स्टेशन शुरू हो गया है। इसमें ऑपरेशन संबंधी सभी कार्य महिलाएं ही करती हैं। 25 जनवरी को सीएम मनोहर लाल ने पानीपत में स्मार्ट ग्रिड प्रोजेक्ट के उद्घाटन के दौरान प्रदेश में महिला सब स्टेशन शुरू करने की घोषणा की थी। इस पर अमल करते हुए पानीपत बिजली निगम अधिकारियों ने प्रदेश का पहला महिला सब स्टेशन शुरू कर दिया है। इसमें तीन शिफ्टों में काम होता है और तीनों में महिलाएं रहती हैं।

ऑपरेशन संबंधी जितने भी काम हैं उनके लिए किसी भी पुरुष कर्मचारी को नहीं रखा है। बिजली निगम एसई वीएस मान ने कहा कि सरकार की घोषणा के बाद तीन महिला कर्मचारियों को जॉइन कराया, इन्हें ट्रेनिंग दी गई। ये अब अच्छे से काम कर रही हैं। एसडीओ अश्वनी कौशिक ने बताया कि बीच में जांच करते हैं तो सभी अच्छे से काम करती मिलती हैं। क्षेत्र के उपभोक्ता भी फॉल्ट पर तुरंत कार्रवाई होने से खुश हैं। यह सब स्टेशन माॅडल टाउन में 33 केवीए ओल्ड इंडस्ट्रियल एरिया है। इसमें 12 फीडर हैं और इन पर करीब 8500 कनेक्शन हैं। ज्यादातर कनेक्शन इंडस्ट्री के हैं, जिनमें काम ज्यादा रहता है। तीन शिफ्टों में काम होता है और सभी शिफ्ट में ऑपरेशन के लिए एक-एक शिफ्ट अटेंडेंट हैं। केवल ये तीन महिलाएं बखूबी इन फीडरों और कनेक्शनों का काम संभाल रही हैं।


महिलाओं के पास ये हैं जिम्मेदारी: सब स्टेशन पर महिलाएं हर घंटे सभी 12 फीडरों का लोड नोट करती हैं। इनकी रीडिंग देखनी होती हैं, ट्रिपिंग करनी होती हैं। फीडर को ऑन-ऑफ करने से लेकर, अगर कोई अब स्टेशन में फाॅल्ट आ जाए तो उसे देखती हैं। बाहर कहीं लाइन में फाॅल्ट हो तो उन पर संबंधित लाइनमैन की ड्यूटी लगाकर ठीक कराती हैं। सब स्टेशन पर सभी काम अंदर कंप्यूटराइज होते हैं, लेकिन कई बार फाॅल्ट आने से यह काम नहीं करता तो सब स्टेशन पर सभी काम मैनुअल देखती हैं।

सरकार की अच्छी पहल : तीनों महिला कर्मचारियों का कहना है कि सरकार की यह अच्छी पहल है, जिससे वो अलग से एक सब स्टेशन में काम कर पा रही हैं। महिलाओं को अब तक बिजली निगम में इस तरह के अधिकार नहीं थे, लेकिन अब शुरुआत हुई है तो इससे महिलाओं में यहां काम करने के लिए आत्मविश्वास बढ़ेगा।
हर जिले में बनाने की योजना : पानीपत के बाद अब प्रदेश के हर जिले में एक महिला सब स्टेशन बनाने की योजना है। इसमें करनाल में कुंजपुरा रोड सब स्टेशन और नारनौल में अर्बन स्टेट सब स्टेशन में इसे दूसरे नंबर पर शुरू किया जाएगा।

इन 3 महिलाओं पर जिम्मेदारी
मॉडल टाउन स्थित 33 केबी बिजली सब स्टेशन में काम करती मोनिका देवी।
1. मोनिका : ये निंबरी की रहने वाली हैं और इन्होंने यूपी से आईटीआई कोर्स किया है। पहली बार वे इस तरह की जिम्मेदारी संभाल रही हैं।
2. पूनम : ये करनाल के तरावड़ी कस्बे से हैं और इन्होंने राजकीय कालेज सोनीपत से इलेक्ट्रिकल का डिप्लोमा किया है। अब बीटेक कर रही हैं।
3. कविता : ये इसराना से हैं और इन्होंने नोएडा से आईटीआई कोर्स किया है। इससे पहले भी ये इसराना पावर हाउस में काम करती रही हैं, लेकिन वहां पुरुष और महिला कर्मचारी दोनों होते थे।