--Advertisement--

चार साल बाद दोस्त ने ही खोल दिया हत्या का राज, मां सहित आरोपी गिरफ्तार

सीआईए-वन ने 22 वर्षीय अमित, उसकी मां कमलेश और दोस्त प्रवीन को गिरफ्तार किया है।

Dainik Bhaskar

Dec 04, 2017, 06:41 AM IST
Four years after the friend opened the secret of murder

पानीपत। शिमला मौलाना गांव में करीब 4 साल पहले हुई 45 वर्षीय दर्शना देवी की हत्या के मामले में सीआईए-वन ने 22 वर्षीय अमित, उसकी मां कमलेश और दोस्त प्रवीन को गिरफ्तार किया है। तीनों आरोपी शिमला मौलाना के ही हैं। वारदात को अमित ने अंजाम दिया था। इस बारे में दोस्त प्रवीन को पता था। इसलिए वह ब्लैकमेल करने लगा। किसी बात को लेकर उनके बीच अनबन हुई तो प्रवीन ने दर्शना देवी के परिजनों को अमित का राज बता दिया।

हत्याकांड की फाइल बंद कर चुकी पुलिस ने प्रवीण और अमित से पूछताछ की तो सारा सच सामने गया। हत्या का अमित की मां को भी पता था। उसने खून से सने अमित के कपड़े जलाए थे। अमित को दो दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है। उसकी मां और दोस्त को सोमवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा।

हत्यारोपी दोस्त को कर रहा था ब्लैकमेल, अनबन होने पर दोस्त ने किया खुलासा
सीआईए-वन के प्रभारी संदीप कुमार ने बताया कि अमित ने कबूला कि दर्शना देवी गांव से करीब 50 मीटर दूर सुनसान जगह पर प्लॉट में उपले बनाने के लिए जाती थी। अमित रोजाना सुबह दौड़ने के लिए जाता था। तब देवी उससे प्यार से बातचीत कर लेती थी। इसलिए उसकी नीयत खराब हो गई। 5 जनवरी 2015 को आरोपी ने उपले बना रही दर्शना देवी से छेड़छाड़ कर दी। महिला ने विरोध कर गांव में इस बारे में बताने की बात कही। आरोपी ने बदनामी के डर से हत्या की साजिश बनाई और घर से चाकू और एक पेचकश लाकर महिला पर वार कर उसकी हत्या कर दी।

धार्मिक स्थान पर छिपकर मंगाए थे कपड़े
सूत्रों का कहना है कि हत्या के बाद प्रवीण ने अमित और उसके परिवार को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया। पिछले दिनों किसी बात को लेकर अमित और प्रवीण में अनबन हो गई। अमित ने दर्शना देवी के बेटे को पहले इसकी जानकारी दी। बाद में पिता के सामने भी सच्चाई बताई। परिजनों ने प्रवीण की बात की रिकॉर्डिंग कर ली और पुलिस को जानकारी दी। दर्शना देवी के पति सतबीर सेना में नायब सूबेदार थे। वह 2000 में सेवानिवृत्त हुए थे।

प्रवीण ने बताई सच्चाई तो परिजनों ने की रिकॉर्डिंग
सूत्रों का कहना है कि हत्या के बाद आरोपी अमित के कपड़े खून से सन गए थे। धुंध होने के कारण वह एक धार्मिक स्थान पर जाकर छुप गया। वहां पर दोस्त प्रवीण को बुलाया। प्रवीण घर से अमित के कपड़े लेकर आया। कपड़े बदलकर दोनों घर गए। जहां पर अमित की मां कमलेश को भी सारी बात बताई। मां ने चूल्हे में खून से सने कपड़े जला दिए थे।


प्रभारी संदीप का दावा है कि गुप्त सूचना पर शनिवार रात को पुलिस ने अमित को शिमला मौलाना मोड़ से कट्टे के साथ गिरफ्तार किया था। सदर थाने में आर्म्स एक्ट के तहत उस पर केस दर्ज कर पूछताछ की गई। इसके बाद दर्शना देवी हत्याकांड का खुलासा हुआ। रविवार शाम को आरोपी का साथ देने वाली मां और दोस्त को भी गिरफ्तार किया।

X
Four years after the friend opened the secret of murder
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..