--Advertisement--

गैंगस्टर के भाई समेत 5 ने दोस्त का किया मर्डर, ऐसी है हत्या की वजह

ग्योंग के भाई जोगेंद्र व उसके अन्य साथियों ने सुरेंद्र के दोस्त जयदेव शर्मा को गोलियाें से भून डाला।

Danik Bhaskar | Dec 31, 2017, 02:46 AM IST
गैगस्टर सुरेंद्र के भाई ने जयदेव को 8 गोलियां मारी। गैगस्टर सुरेंद्र के भाई ने जयदेव को 8 गोलियां मारी।

पानीपत. करनाल के राहड़ा गांव में अप्रैल में हुए कुख्यात गैंगस्टर सुरेंद्र ग्योंग के एनकाउंटर की मुखबिरी करने के शक में ग्योंग के भाई जोगेंद्र व उसके 5 साथियों ने सुरेंद्र के दोस्त जयदेव शर्मा को गोलियाें से भून डाला। उसपर डेढ़ दर्जन से अधिक गोलियां चलाई गईं। वारदात को शनिवार दोपहर 3 बजे अंसल सुशांत सिटी के गेट नंबर-3 के सामने कार सवार हथियारबंद 5 से अधिक बदमाशों ने अंजाम दिया। कैसे दिया वारदात को अंजाम....

- जयदेव शर्मा यहां ससुर के साड़ू के इंस्पेक्टर पोस्ट से रिटायरमेंट फंक्शन में शामिल होने के लिए आया था। तब उसको समारोह से करीब 200 मीटर दूर बुलाकर बदमाशों ने ताबड़तोड़ गोलियां मारी।

- एक गोली बदमाश को भी लगी है। हत्या के बाद एसपी राहुल शर्मा मौके पर पहुंच गए। 28 वर्षीय जयदेव शर्मा पुत्र रोशनलाल राहड़ा गांव का रहने वाला था। उसके ससुर ओमप्रकाश के साड़ू जिले सिंह मधुबन पुलिस अकादमी में से इंस्पेक्टर पोस्ट से रिटायर्ड हुए हैं।

- जिले सिंह पानीपत में रहते हैं। शनिवार को उनके घर पर समारोह था। इस पर जयदेव अपनी पत्नी सुशीला, 5 साल के बेटे कुनाल और ससुर ओमप्रकाश के साथ आया था। हत्या के बाद आरोपी फरार हो गए।

-एसएचओ अमित कुमार ने बताया कि जोगेंद्र, करनाल एमसी भागा व उसका भाई सुशील व 5-6 अन्य के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है।

कारतूस के13 खोल और 6 सिक्के मिले

जहां जयदेव की हत्या हुई, वहां आसपास कम ही घर हैं। गोलियों की आवाज सुनी तो लोगों को लगा कि पार्टी में फायरिंग हो रही है। घटनास्थल पर एसपी राहुल शर्मा पहुंच गए। शाम को एसपी दोबारा सिविल अस्पताल में पहुंचे । पुलिस को 13 कारतूस के खोल और 6 सिक्के मिले हैं।

बच्चे साथ थे, नहीं लाया था निजी गनमैन

- ससुर ओमप्रकाश ने पुलिस को बताया कि जयदेव हमेशा अपने साथ 2-3 निजी गनमैन लेकर चलता था। लेकिन पार्टी में पत्नी व बच्चे के साथ आने के कारण वह गनमैन लेकर नहीं आया था।

- जयदेव की पत्नी सुशीला का मायका काबड़ी गांव में है। काबड़ी गांव से भी काफी लोग अस्पताल में पहुंच गए।

रैकी के बाद हत्या, करीबी भी शामिल

पुलिस का मानना है कि हमलावरों को पता था कि जयदेव पानीपत में रिटायरमेंट पार्टी में आ रहा है। वारदात में कोई करीबी शामिल है। उसके फोन कर बुलाने पर ही जयदेव पार्टी से बाहर निकलकर करीब 200 मीटर दूर तक पैदल आया। तभी उस पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी गई।

- आरोपियों ने पहले से आसपास के एरिया की रैकी कर रखी थी। हत्या के बाद वे गाड़ी से फरार हो गए।

- पिता रोशनलाल के बयान पर जोगेंद्र ग्योंग, भागा एमसी करनाल, उसके भाई सुशील व 3 अन्य के खिलाफ हत्या का केस दर्ज हुआ है।

चालू नहीं था सीसीटीवी कैमरा

- आरोपियों ने जयदेव पर ताबड़तोड़ गोलियां चलाईं। एक हत्यारे के पैर में भी गोली लगी है। आशंका है कि सड़क से टकराने के बाद गोली उसके पैर में लगी है।

- आरोपियों की गाड़ी के पास एक घर में एक दिन पहले ही सीसीटीवी कैमरे लगे थे। जो चालू नहीं हुए थे।

- बता दें कि गैंगस्टर सुरेंद्र ग्योंग पर दिल्ली और हरियाणा में हत्या, हत्या के प्रयास, लूट, डकैती सहित अन्य धाराओं में 34 केस दर्ज थे। वह 1994 से अपराध जगत में सक्रिय था। कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने भी ग्योंग से अपनी जान को खतरा बताया था।

गोली लगते ही जयदेव की मौके पर ही मौत हो गई। गोली लगते ही जयदेव की मौके पर ही मौत हो गई।
जयदेव ने अपनी सिक्युरिटी के लिए गन ले रखा था लेकिन वह कमर में ही टंगी रही। जयदेव ने अपनी सिक्युरिटी के लिए गन ले रखा था लेकिन वह कमर में ही टंगी रही।
जयदेव अपने ससुर के साढू के यहां फंक्शन में पहुंचा था। जयदेव अपने ससुर के साढू के यहां फंक्शन में पहुंचा था।
वारदात में 5 लोग शामिल थे। वारदात में 5 लोग शामिल थे।
जयदेव के मौत की खबर सुनते ही उसके पिता हॉस्पिटल पहुंचे। जयदेव के मौत की खबर सुनते ही उसके पिता हॉस्पिटल पहुंचे।