--Advertisement--

घर से स्पोर्ट्स स्कूल लौटी लड़की, हॉस्टल में फंदे पर लटकी मिली लाश

खेल स्कूल राई में गुरुवार को हॉस्टल में फंदे पर लटकी मिली छात्रा को स्कूल स्टाफ सामान्य अस्पताल लेकर पहुंचा।

Danik Bhaskar | Jan 19, 2018, 06:46 AM IST

सोनीपत. खेल स्कूल राई में गुरुवार को हॉस्टल में फंदे पर लटकी मिली छात्रा को स्कूल स्टाफ सामान्य अस्पताल लेकर पहुंचा। जहां पर डाॅक्टरों ने उसे मृतक घोषित किया। छात्रा इंटरनल एग्जाम के बाद घर गई थी और सोमवार को ही वापस स्कूल लौटी थी। देर शाम एफएसएल टीम ने भी हॉस्टल में पहुंचकर साक्ष्य जुटाए।


- छात्रा आशू दहिया गांव मटिंडू की रहने वाली थी। हाल में वह 11वीं कक्षा में पढ़ रही थी। पिता अशोक ने बताया कि बेटी के इंटरनल एग्जाम हुए थे।

- इसके बाद वह गांव आई थी। सोमवार को स्कूल लौटने से पहले उसने बेटी से पूछा था कि उसके पास पैसे हैं। तो बेटी ने कहा था कि 400 रुपए हैं।

- उसने बेटी को कहा था कि कम है, इसके बाद 150 रुपए और दे दिए थे। उसने बेटी से पूछा अब भी कम है। इस पर बेटी ने कहा कि स्कूल में पार्टी है।

- यह सुनने के बाद उसने बेटी को 500 रुपए और दे दिए थे। बेटी ने उसे बताया था कि एग्जाम में इस बार मैथ में अंक कम आए। उसने बेटी की इस बात पर कहा था कि कोई नहीं, इस बार अच्छी तैयार करना अंक अच्छे आएंगे।

स्कूल स्टाफ की एक शिक्षिका के गले लग कर रोई मृतका की मां

- राई स्पोर्ट्स स्कूल में छात्रा की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत होने के मामले में अस्पताल में गमगीन माहौल बन गया।

- इमरजेंसी वार्ड में मृतका की मां स्कूल स्टाफ की एक शिक्षिका के गले लग कर रोई। शिक्षिका ने मां को ढांढस बंधाया। जबकि पिता अशोक भी बेहद दुखी थे।

- घटना की सूचना मिलने के बाद रात करीब साढ़े सात बजे एफएसएल की टीम राई स्पोटर्स स्कूल के होस्टल में पहुंची। एफएसएल ने काफी देर जांच की। ।

आज होगा पोस्टमार्टम

- छात्रा का पोस्टमार्टम रात को नहीं हो सका। पोस्टमार्टम शुक्रवार की सुबह होगा।

मामले पर जब राई थाना प्रभारी ऋषिकांत से बात की गई तो उन्होंने बताया कि उन्हें सूचना तब मिली जब छात्रा अस्पताल पहुंचने पर दम तोड़ चुकी थी।

- अब मौत के कारणों की जांच की जा रही है। परिजनों की तरफ से कोई स्टेटमेंट नहीं मिली है। परिजनों की स्टेटमेंट के बाद हर पहलू की जांच की जाएगी।

अस्पताल में बढ़ाई सुरक्षा

- अस्पताल में गमगीन माहौल था, जबकि कुछ देर तनाव की स्थिति भी बनी रही। इसके बाद एसडीएम जितेंद्र, एडीसी आमना तसनीम , सिविल लाइन थाना प्रभारी नरेंद्र, सिक्का कालोनी चौकी इंचार्ज कृष्ण पहुंचें।

- काफी देर तक स्कूल स्टाफ के साथ सिविल सर्जन कार्यालय में इमरजेंसी में तैनात डाक्टरी की बातचीत भी चलती रही। अब मामले में सब की नजर पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर है।