--Advertisement--

हरियाणा में अब नया सोशल ट्रेंड: लड़कों से ज्यादा लड़कियों को लिया जा रहा गोद

चार साल में ज्यादा लड़कियां ली गईं गोद, काउंसिलिंग में दंपती बता रहे कारण।

Dainik Bhaskar

Mar 08, 2018, 04:12 AM IST
पिछले 4 साल की बात करें तो हरिया पिछले 4 साल की बात करें तो हरिया

पानीपत. हरियाणा में नया सोशल ट्रेंड शुरू हुआ है। शादी के बाद किसी नवदंपती को अगर पहला लड़का होता है तो वे दूसरा बच्चा बनाने के बजाय लड़की को गोद लेना पसंद कर रहे हैं। यह बात बच्चों को गोद लेने की प्रक्रिया से सामने आई है। दरअसल, जब भी कोई दंपती किसी बच्चा गोद लेने के लिए आवेदन करता है तो उसकी काउंसिलिंग की जाती है। उससे इसका कारण पूछा जाता है। इसी काउंसिलिंग में सामने आया है कि बच्चा गोद लेने के लिए अगर 100 आवेदन आते हैं, तो उसमें 80 आवेदक ऐसे होते हैं, जिनके पास एक लड़का होता है और दूसरे बच्चे के रूप में लड़की को गोद लेना चाहते हैं।

लड़की गोद लेने का कारण ये बताते हैं कपल

ज्यादातर आवेदक लड़की गोद लेने का कारण बताते हैं कि बुढ़ापे में लड़के साथ छोड़ देते हैं और अलग रहने लगते हैं। उस स्थिति में बेटियां ही हमेशा माता-पिता का साथ देती हैं। इसलिए नवदंपती लड़कों की तुलना में लड़कियों को गोद लेना पसंद कर रहे हैं। पिछले 4 साल की बात करें तो हरियाणा में हर साल लड़कों से ज्यादा लड़कियां गोद ली जा रही हैं।

जिन्हें माता-पिता ने छोड़ा, वे आज कई परिवारों की खुशी बनीं

केस 1: 2016 में महक नाम की दो वर्षीय बच्ची झुग्गी-झोपड़ी के पास मिली थी। उसका परिवार दुर्घटना में खत्म हो गया था। उसे बाल ग्राम राई में भेजा गया। कनाडा के दंपती ने उसे रिजर्व किया है।

केस 2: 2016 में 4-5 दिन की नैंसी और प्रियांशी नाम की दो बच्चियों को कोई एक कोठी के बाहर छोड़ गया। दोनों नोएडा की एक ही फेमिली की खुशी बनी हुई हैं।

हरियाणा से देश में गोद लिए बच्चे

2013-14 2014-15 2015-16 2016-17
लड़कियां 22 25 15 31
लड़के 12 15 14 19

हरियाणा से विदेश में गोद लिए बच्चे

2013-14 2014-15 2014-15 2016-17
लड़कियां 07 06 23 05
लड़के 01 01 07 01


X
पिछले 4 साल की बात करें तो हरियापिछले 4 साल की बात करें तो हरिया
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..