Hindi News »Haryana News »Panipat» Risk Of Disease Increases By 84 Percent Due To Pollution In City Area

हरियाणा के शहरी क्षेत्र में पॉल्यूशन से बीमारी का खतरा 84% ज्यादा

Bhaskar news | Last Modified - Jan 08, 2018, 06:50 AM IST

हरियाणा के शहरी क्षेत्रों में घर से निकलते ही पॉल्यूशन के कारण बीमारी का खतरा 84 फीसदी बढ़ जाता है।
हरियाणा के शहरी क्षेत्र में पॉल्यूशन से बीमारी का खतरा 84% ज्यादा

पानीपत.हरियाणा के शहरी क्षेत्रों में घर से निकलते ही पॉल्यूशन के कारण बीमारी का खतरा 84 फीसदी बढ़ जाता है। हालांकि प्रदेश में आउटडोर पॉल्यूशन बेहद खराब होने के बावजूद इंडोर पॉल्यूशन काफी कम है। इसका कारण है कि हरियाणा में खाना बनाने के लिए लकड़ी, कोयला और केरोसिन तेल का प्रयोग काफी कम होता है। इन्हीं कारण से इंडोर पल्यूशन क्म है। हालांकि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में यह आउडोर पल्यूशन 93 फीसदी तक है, जबकि वहां इंडोर पल्यूशन 1.7 प्रतिशत कम है। आउटडोर पॉल्यूशन के कारण पंजाब में में बीमार होने का खतरा 80 फीसदी तक। जो हरियाणा से 4 फीसदी कम है। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च और इंडिया स्टेट लेवल बर्डन डिजीज की स्टडी में यह तथ्य सामने आए हैं। एक साल की इस स्टडी में देश के सभी राज्य शामिल थे। डेटा सेटेलाइट ऑप्टिकल सिस्टम और प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से मिले डेटा के विश्लेषण के आधार पर निष्कर्ष निकाले गए हैं।

राजस्थान पीछे नहीं
राजस्थान में आउटडोर पॉल्यूशन से बीमारी की आशंका 69.3% बढ़ जाती है जबकि इंडोर पॉल्यूशन से
यह खतरा 37.9% है।

बिहार बदतर
बिहार में आउटडोर पॉल्यूशन के कारण बीमारी होने का खतरा 88.6% है।

मध्य प्रदेश कुछ बेहतर
मध्य प्रदेश में आउटडोर पॉल्यूशन से बीमारी का खतरा 64.1 फीसदी पाया गया जबकि इंडोर पॉल्यूशन से यह आशंका 27 फीसदी से भी नीचे है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Haryana News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: hariyaanaa ke shhari ksetr mein polyushn se bimaari ka khtraa 84% jyada
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From Panipat

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×