पानीपत

--Advertisement--

T-20 मैचों का सरताज बना ये क्रिकेटर, पिता ने बेटे को लेकर कही ये बात

टी 20 सीरिज का पहला मैच जीतने के बाद सबसे ज्यादा चर्चा टीम इंडिया के यंग स्पिनर युजवेंद्र चहल की हो रही है।

Dainik Bhaskar

Dec 21, 2017, 11:40 PM IST
श्रीलंका के खिलाफ युजवेंद्र चहल मैच के हीरो रहे। श्रीलंका के खिलाफ युजवेंद्र चहल मैच के हीरो रहे।

जींद . कटक में चल रहे टी 20 सीरिज का पहला मैच जीतने के बाद सबसे ज्यादा चर्चा टीम इंडिया के यंग स्पिनर युजवेंद्र चहल की हो रही है। युजवेंद्र चहल की बचपन से ही क्रिकेटर बनने की जिद थी। इस जिद को पूरा करने के लिए उसने कई साल तक लगातार  कड़ी मेहनत की। 6 साल पहले तक वह खेत में उनके पिता द्वारा बनाई पिच पर कड़ी मेहनत करता था। माता-पिता ने  भी उसकी जिद का ख्याल रखा और उसका पूरा साथ दिया। इसी मेहनत का परिणाम यह है कि युजवेंद्र अब टी-20  क्रिकेट का सबसे बेहतरीन गेंदबाज है। साल 2017 में उसने दुनिया के दिग्गज गेंदबाजों  को पछाड़ कर 10 मैच मे सबसे ज्यादा 19 विकेट लेने का रिकाॅर्ड  बनाया है।  

 

छक्का लगने पर माता-पिता की धड़कनें होती थीं तेज 

युजवेंद्र चहल के माता-पिता उनका हर मैच देखते हैं। कुछ दिन पहले तक जब बेटे की गेंद पर छक्का लगता था तो  उनका दिल धड़कने तेज हो जाती थी कहीं बल्लेबाज उसके कोटे के पूरे ओवर ही न फेंकने दे लेकिन अब ऐसा नहीं है।  

 

टेस्ट खेले तो बनेगा संपूर्ण क्रिकेटर : पिता
- युजवेंद्र के पिता एडवोकेट केके चहल का कहना है कि बेटे ने टी-20 में साल 2017 में सबसे ज्यादा विकेट लेने का जो रिकाॅर्ड बनाया है। उस पर वे काफी खुश हैं। क्योंकि टी-20 क्रिकेट में बल्लेबाज हावी  होते हैं और गेंदबाज असहाय होते हैं।

- उन्होंने कहा कि उनके साथ युजवेंद्र का भी एक ही सपना है कि टेस्ट क्रिकेट खेलना। टेस्ट खिलने के बाद ही कोई क्रिकेटर संपूर्ण क्रिकेटर बनता है।

- उनका कहना है कि यजुवेंद्र अच्छी बैटिंग भी करता है। इसका प्रमाण अंडर-19 खेलते हुए उसके  द्वारा बनाए गए रन और मिला आलराउंडर का खिताब है।

 

मां ने बताए बेटे चहल के फिटनेस केे सीक्रेट....

- वजन न बढ़े इस पर वे खास ध्यान देते हैं और काफी बैलेंस डाइट लेते हैं।

- यजुवेंद्र की मां सुनीता देवी बताती हैं कि घर हो या बाहर सन्नी (यजुवेंद्र) कभी भी तली हुई चीजें नहीं खाता।

- देशी घी भी बहुत कम। उसकी खाने में सबसे फेवरिट डिश राजमा-चावल और लहसुन की चटनी होती है।

- खाने में दोनों टाइम वह लहसुन की चटनी जरूर खाता है। दूध पीने से वह कभी मना नहीं करता।

- उन्होंने बताया कि घर हो या बाहर यजुवेंद्र डेली 2 से 3 किलो दूध दिन भर में पी जाता है।

- यजुवेंद्र के पिता एडवोकेट केके चहल बताते हैं कि चहल पहले अंडा तक नहीं खाता था लेकिन कोच ने मसल्स प्रॉब्लम बताकर नॉनवेज खिलाना शुरू कर दिया।

बचपन से ही युजवेंद्र की क्रिकेटर बनने की जिद थी। बचपन से ही युजवेंद्र की क्रिकेटर बनने की जिद थी।
युजवेंद्र अब टी-20  क्रिकेट का सबसे बेहतरीन गेंदबाज है। युजवेंद्र अब टी-20 क्रिकेट का सबसे बेहतरीन गेंदबाज है।
युजवेंद्र हरियाणा के जींद के रहने वाले है। युजवेंद्र हरियाणा के जींद के रहने वाले है।
युजवेंद्र की खेत में बनी पिच पर प्रैक्टिस किया करते थे। युजवेंद्र की खेत में बनी पिच पर प्रैक्टिस किया करते थे।
Know story of Cricketer Yuzvendra Chahal
साल 2017 में उसने दुनिया के दिग्गज गेंदबाजों  को पछाड़ कर 10 मैच मे सबसे ज्यादा 19 विकेट लेने का रिकाॅर्ड  बनाया है। साल 2017 में उसने दुनिया के दिग्गज गेंदबाजों को पछाड़ कर 10 मैच मे सबसे ज्यादा 19 विकेट लेने का रिकाॅर्ड बनाया है।
अपनी बहन के साथ युजवेंद्र। अपनी बहन के साथ युजवेंद्र।
अपने पिता केके चहल के साथ युजवेंद्र। अपने पिता केके चहल के साथ युजवेंद्र।
युजवेंद्र के माता- पिता। युजवेंद्र के माता- पिता।
X
श्रीलंका के खिलाफ युजवेंद्र चहल मैच के हीरो रहे।श्रीलंका के खिलाफ युजवेंद्र चहल मैच के हीरो रहे।
बचपन से ही युजवेंद्र की क्रिकेटर बनने की जिद थी।बचपन से ही युजवेंद्र की क्रिकेटर बनने की जिद थी।
युजवेंद्र अब टी-20  क्रिकेट का सबसे बेहतरीन गेंदबाज है।युजवेंद्र अब टी-20 क्रिकेट का सबसे बेहतरीन गेंदबाज है।
युजवेंद्र हरियाणा के जींद के रहने वाले है।युजवेंद्र हरियाणा के जींद के रहने वाले है।
युजवेंद्र की खेत में बनी पिच पर प्रैक्टिस किया करते थे।युजवेंद्र की खेत में बनी पिच पर प्रैक्टिस किया करते थे।
Know story of Cricketer Yuzvendra Chahal
साल 2017 में उसने दुनिया के दिग्गज गेंदबाजों  को पछाड़ कर 10 मैच मे सबसे ज्यादा 19 विकेट लेने का रिकाॅर्ड  बनाया है।साल 2017 में उसने दुनिया के दिग्गज गेंदबाजों को पछाड़ कर 10 मैच मे सबसे ज्यादा 19 विकेट लेने का रिकाॅर्ड बनाया है।
अपनी बहन के साथ युजवेंद्र।अपनी बहन के साथ युजवेंद्र।
अपने पिता केके चहल के साथ युजवेंद्र।अपने पिता केके चहल के साथ युजवेंद्र।
युजवेंद्र के माता- पिता।युजवेंद्र के माता- पिता।
Click to listen..