--Advertisement--

​हवलदार को धक्का देकर उम्रकैद काट रहा अपराधी फरार, रोहतक PGI की घटना

हथकड़ी नहीं लगाई थी, इसी ढील का उठाया फायदा।

Danik Bhaskar | Mar 13, 2018, 11:28 AM IST

रोहतक। पीजीआई में ओपीडी के लिए आया हत्या के मामले में उम्रकैद की सजा काट रहा जींद के शादीपुर गांव का मंजीत हवलदार को धक्का देकर फरार हो गय। जींद पुलिस उसे पीजीआई लेकर आई थी। मंजीत वर्ष 2014 में हुए मर्डर के मामले में जींद जेल में सजा काट रहा था। फरार कुख्यात मंजीत के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

- सोमवार को जींद जेल से मंजीत को सुनारिया जेल ट्रांसफर किया गया था। जींद पुलिस के पांच कर्मचारी कैदी मंजीत को लेकर सुनारिया जेल पहुंचे।
- जहां पर जेल में कैदी मंजीत के साथ हवलदार सुभाष को छोड़कर बाकी पुलिस कर्मी झज्जर जेल में एक कैदी को छोड़ने के लिए चले गए।
- इसके बाद सुनारिया जेल अस्पताल के डॉक्टरों ने मंजीत को पीजीआईएमएस की ओपीडी में न्यूरो सर्जन से दिखाने के लिए भेज दिया।
- जींद पुलिस का हवलदार सुभाष सोमवार दोपहर को साढ़े 12 बजे मंजीत को लेकर पीजीआई पहुंचा था। कैदी को पीजीआईएमएस की ओपीडी लेकर गया।
- कैदी को हथकड़ी नहीं पहनाई थी। पुलिस के अनुसार कैदी मंजीत ओपीडी के गेट के सामने ऑटो से उतरते वक्त हवलदार को धक्का मार फरार हो गया।
- कैदी के पीजीआईएमएस के फरार होने की सूचना मिलने के बाद जींद पुलिस डीएसपी कप्तान सिंह पीजीआईएमएस पहुंचे। हवलदार सुभाष के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है।
- बता दें कि जींद के गांव शादीपुर के मंजीत पर 2014 में जुलाना में एक दुकानदार की हत्या का केस दर्ज था। इस मामले में उसे उम्रकैद की सजा हुई।
- इसके अलावा हत्या का प्रयास व मारपीट के 9 अन्य मामले भी दर्ज हैं। तीन में सजा हो चुकी है।