--Advertisement--

पब मेंं मना रहा था न्यू ईयर पार्टी का जश्न, डॉस फ्लोर के पास आकर मारी गोली

ग्रेटर कैलाश पार्ट वन के आरबी 17 लांज एंड बार के अंदर शनिवार रात एक युवक को गोली मार दी गई।

Danik Bhaskar | Jan 01, 2018, 03:48 AM IST

नई दिल्ली। ग्रेटर कैलाश पार्ट वन के आरबी 17 लांज एंड बार के अंदर शनिवार रात एक युवक को गोली मार दी गई। डांस फ्लोर के पास हुई फायरिंग के बाद घायल को एम्स ट्रॉमा सेंटर में भर्ती करवाया गया। जहां उनकी हालत समान बनी हुई है। पुलिस ने हत्या की कोशिश करने के जुर्म में मामला दर्ज कर आरोपी उमेश उर्फ आदित्य कुमार को अरेस्ट कर लिया है। वारदात में इस्तेमाल हुई पिस्तौल भी जब्त कर ली गई है। मना रहे थे नए साल का जश्न...

- जसोला गांव के विनय भाटी (27) नोएडा की एक कंपनी में जॉब करते हैं। उनके अनुसार, शनिवार रात ग्यारह बजे उन्होंने अपने भाई अजय को कॉल कर बताया कि वह पार्टी में जा रहे हैं और देर रात घर आएंगे।

- विनय अपने दोस्त सैम और खानपुर के विनय के साथ आरबी 17 बार में पार्टी करने पहुंच गए। कुछ समय बाद उनका दोस्त बिट्टू भी वहां पहुंच गया। चारों दोस्तों ने देर रात फेसबुक पर पार्टी का लाइव वीडियो पोस्ट किया था।

- रात करीब ढाई बजे डांस फ्लोर के पास पीड़ित विनय की कहासुनी आरोपी उमेश के साथ हो गई। इसके कुछ ही देर बाद उमेश ने विनय को गोली मार दी।

पुलिस- पार्किंग में विवाद

- रविवार सुबह साउथ डीसीपी रोमिल बानिया ने जानकारी दी कि पार्किंग एरिया में विनय को गोली मारी गई। जब इस बारे में पीड़ित के परिवार को पता चला तो उन्होंने पुलिस पर मामले को दबाने का आरोप लगाना शुरू कर दिया।

- परिजनों का कहना है कि बार मालिक को बचाने के लिए पुलिस वारदात की जगह पार्किंग एरिया को बता रही है।

- मामले को तूल पकड़ता देख पुलिस अधिकारियों ने कहा कि वे पब और पार्किंग एरिया में लगे सीसीटीवी कैमरे को चेक करके वारदात की जगह के बारे में पता किया जाएगा।

घायल ने बताया बार में हुई फायरिंग
- रविवार दोपहर ढाई बजे स्थिति सामान्य होने पर विनय ने डीसीपी को अपना बयान दिया। उन्होंने बताया कि फायरिंग बार के अंदर हुई थी।

- ऐसे में अब पुलिस अधिकारियों का कहना है कि कुछ लोगों ने बताया था कि वारदात पार्किंग एरिया में हुई थी। बार के अंदर जांच करने पर पुलिस को गोली का एक खोखा बरामद हुआ है।

पब के बाहर नशे में रोज होता है हंगामा, लोग हैं परेशान

- यह बार सड़क से 10 कदम की दूरी पर है। पब के पास रहने वाली बुजुर्ग एलवी कुमार ने बताया कि इस पब के खिलाफ उन्होंने 2 महीने पहले पुलिस को शिकायत दी थी।

- इस पर पुलिस ने जवाब दिया था कि बार का लाइसेंस देने का काम पुलिस नहीं बल्कि लाइसेंसिंग यूनिट करती है।

- कुमार ने बताया कि करीब 2 साल पहले उन्होंने लाइसेंसिंग यूनिट से आग्रह किया था कि इस एरिया में बार ना खोला जाए। ऐसे में यूनिट ने जवाब दिया था कि भविष्य में लाइसेंस रिन्यू नहीं किया जाएगा।

- उ न्होंने बताया कि जब पिछले बार मालिक का लाइसेंस रिन्यू नहीं हुआ तो 3-4 महीने पहले इस बार के मालिकों ने नया लाइसेंस लेकर नया बार खोल लिया।

- एरिया के बिजनेसमैन नागेश जैन ने कहा कि बार देर रात तक खुला रहता है। ऐसे में देर रात तक लोग शराब के नशे में सड़कों पर हंगामा करते हैं और आसपास रहने वाले लोगों को परेशानी झेलनी पड़ती है।

आरोपी की हुई पिटाई
- गोली चलने की आवाज सुनकर बार में अफरातफरी मच गई। वहीं, कुथ लोगों ने आरोपी को पकड़कर धुन दिया।

- मौके पर पहुंची पुलिस ने पिस्तौल को जब्त कर, आरोपी को एम्स ट्रॉमा सेंटर ले गई। आरोपी उमेश को रविवार को एम्स से छुट्टी मिल गई। इसके बाद पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया।


परिजनों पर समझौते का दबाव
- परिजनों का आरोप है कि वारदात की रात पुलिस अधिकारी खुद मौके पर पहुंचे थे लेकिन बार मालिक को बचाने के लिए उन्होंने वारदात की जगह को पार्किंग एरिया का बता दिया।

- परिजनों के अनुसार, पुलिस को नहीं पता था कि वारदात से ठीक पहले रात करीब 3 बजे विनय और उनके दोस्तों से फेसबुक पर लाइव वीडियो पोस्ट किया था।

- अगर फेसबुक पर वीडियो नहीं होता तो पुलिस मामले को पार्किंग एरिया का साबित कर देती। अजय के अनुसार बार मालिक की ओर से उनपर समझौता करने का दबाव बनाया जा रहा है।


डांस फ्लोर पर धक्का-मुक्की
घायल के दोस्त विनय ने बताया कि घटना के वक्त वे सभी डांस कर रहे थे। डांस फ्लोर पर 50-60 लोग थे और इस दौरान भीड़ के कारण धक्का मुक्की हुई थी। घायल के दोस्त बिट्टू ने बताया कि वह घटना के वक्त विनय के पास नहीं था। गोली की आवाज सुनकर वह विनय के पास गए तो विनय ने बताया कि उसे गोली लगी है। उसे आनन-फानन में एम्स ट्रॉमा सेंटर पहुंचाया गया।
हिरासत में बार मालिक
- जांच में पता चला है कि यह बार पिछले 3-4 महीनों से यहां चल रहा था। यह बार दो पार्टनर चला रहे थे।

- पहले यहां कॉकटेल नाम का दूसरा बार हुआ करता था। पब के आसपास के लोगों का कहना है कि बार देर रात तक खुला रहता है और बीट अफसर को इस बारे में पता है। पुलिस ने मामले की जांच के लिए पब के दोनों मालिकों को भी हिरासत में ले लिया है।

लाइसेंस रद्द करने के लिए पत्र
पुलिस पता लगा रही है कि सुरक्षा जांच के बावजूद भी आरोपी बार में पिस्तौल लेकर कैसे पहुंचा। वहीं, डीसीपी रोमिल बानिया का कहना है कि पब का लाइसेंस रद्द करवाने के लिए पत्र के जरिए सिफारिश की जाएगी। इसके अलावा ग्रेटर कैलाश थाना पुलिस की भूमिका भी जांच के दायरे में है।