पानीपत

--Advertisement--

मेडिकल कॉलेजों में पीजी के दाखिलों के नियम तय, 50% सीटें ऑल इंडिया और 50% स्टेट मेरिट पर भरी जाएंगी

स्नातकोत्तर (पीजी) कोर्स यानी एमडी, एमएस और एमडीएस में दाखिलों के नियम तय किए गए हैं।

Dainik Bhaskar

Feb 15, 2018, 06:59 AM IST
Medical colleges set rules for PG admission rules

चंडीगढ़/पानीपत। शैक्षणिक सत्र 2018-19 के लिए प्रदेश के सरकारी, सहायता प्राप्त व प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों में स्नातकोत्तर (पीजी) कोर्स यानी एमडी, एमएस और एमडीएस में दाखिलों के नियम तय किए गए हैं। सरकार द्वारा जारी अधिसूचना के तहत सरकारी संस्थानों में 50% सीटें नीट पीजी 2018 व नीट एमडीएस 2018 की ऑल इंडिया मेरिट के आधार पर भरी जाएंगी। बाकी 50% सीटें स्टेट मेरिट कैटेगरी के तहत दी जाएंगी। वहीं, प्रदेश के संस्थानों से एमबीबीएस या बीडीएस कोर्स कर चुके उम्मीदवारों के लिए 25% सीटें आरक्षित होंगी। 3 फीसदी सीटें लोको मोटर डिसएबिलिटी ऑफ लोअर लिंबास उम्मीदवारों के लिए आरक्षित हैं।

प्राइवेट कॉलेजों में 50% सीटें ओपन मेरिट से भरेंगी
निजी संस्थानों में 50% सीटें ओपन मैरिट के आधार पर भरी जाएंगी। बाकी 50% सीटें मैनेजमेंट कैटेगरी के तहत भरी जाएंगी। पंडित भगवत दयाल शर्मा स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय रोहतक को प्रदेश के सभी संस्थानों में दाखिले के लिए संयुक्त केंद्रीयकृत काउंसिलिंग संचालन के लिए प्राधिकृत किया गया है।

सरकारी डॉक्टरों के लिए 50 फीसदी सीटें
पीजी डिप्लोमा कोर्सों में 50% सीटें राज्य सरकार, सरकारी सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों व स्वायत्त निकायोंं के तहत सेवारत डाॅक्टरों के लिए रहेंगी। लेकिन वही इसके पात्र होंगे, जिन्होंने दुर्गम व दूरस्थ क्षेत्रों में कम से कम 3 वर्षों तक सेवाएं दी हों। इस श्रेणी के तहत उम्मीदवारों को उनके नियोक्ता द्वारा प्रायोजित किया जाएगा।

X
Medical colleges set rules for PG admission rules
Click to listen..