--Advertisement--

15 शिकायतों में पहली 5 पुलिस की, मंत्री विज एसपी से बोले- लोगों की क्यों नहीं सुनती पुलिस?

स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज की कष्ट निवारण समिति की दूसरी बैठक। 15 शिकायतों में पहली 5 पुलिस की थीं।

Danik Bhaskar | Jan 09, 2018, 07:46 AM IST

पानीपत. स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज की कष्ट निवारण समिति की दूसरी बैठक। 15 शिकायतों में पहली 5 पुलिस की थीं। इस पर विज ने एसपी राहुल शर्मा से कहा- पुलिस के खिलाफ ही शिकायतें आ रही हैं। पुलिस, पब्लिक की सुनती नहीं है क्या? बैठक में आईं 15 शिकायतों में से 10 का मौके पर समाधान कर दिया गया, जबकि पांच शिकायतें अगली बैठक के लिए पेंडिंग रखी गईं।


यूपी-बिहार में रेड की दुहाई देते रहे एसपी-डीएसपी
दो साल से लापता महादेव कॉलोनी की नाबालिग लड़की का मामला पहली शिकायत में रखा गया। पुलिस की कार्यशैली को लेकर विज पहली ही शिकायत से नाराज थे। पुलिस ने लड़की को अगवा करने वाले आरोपियों को गिरफ्तार करने की बात कही। इस पर विज ने कहा कि जो भी हो, ये हमारी कमजोरी भी है और शर्म की बात भी। इतने दिन में लड़की को नहीं ढूंढ़ पाए। एसपी और डीएसपी जगदीप दूहन यूपी और बिहार में रेड करने की दुहाई देते रहे। इस पर विज ने कहा कि लड़की बरामद करने के लिए क्या किया? डीएसपी ने कहा कि 4 आरोपियों की लाई डिटेक्टर टेस्ट कराए गए, उसमें भी कुछ नहीं आ रहा। स्वास्थ्य मंत्री ने जांच का दायरा बढ़ाकर कुछ और लोगों को जांच में शामिल करने को कहा। लड़की के पिता ने सीबीआई जांच की मांग की। तो विज ने कहा कि एक बार देख लेते हैं, फिर सीबीआई की ओर सोचेंगे।

महिला पीटीआई के सुसाइड में दूसरे आरोपी को गिरफ्तार करें : विज
दूसरी शिकायत सनौली रोड चांदनी बाग निवासी विनोद कुमार पुनिया की थी। 22 जून 2017 को पुनिया की पीटीआई पत्नी राज पुनिया ने सुसाइड कर लिया था। चांदनी बाग के अशोक पुनिया और घरौंडा के दिनेश पुनिया को सुसाइड नोट में दोषी ठहराया। विनोद ने अनिल विज से कहा कि एसपी से मिलने गए तो उन्होंने ऑफिस से भगा दिया। इस पर एसपी ने कहा कि सुसाइड नोट की एफएसएल जांच नहीं हो रही। इसलिए गिरफ्तारी नहीं हो पाई। विज ने दूसरे आरोपी को भी गिरफ्तार करने को कहा।

पुलिस की एक और एसआईटी, विज ने कहा- रिपोर्ट के साथ एसआईटी को पेश करो
तहसील कैंप प्रकाश नगर की सुरजीत कौर की शिकायत है कि उसकी बेटी देविंद्र कौर की हत्या उसके पति जसविंद्र ने की और शव को खुर्दबुर्द कर दिया। करनाल पुलिस ने पति की शिकायत पर गुमशुदगी का केस दर्ज कर लिया, लेकिन उन लोगों की शिकायत नहीं सुनी। पुलिस ने तर्क दिया कि मायके वालों की 28 पॉइंट पर की गई शिकायत की जांच एसआईटी कर रही है। इस पर विधायक महीपाल ढांडा और पूर्व जिला अध्यक्ष गजेंद्र सलूजा ने आपत्ति दर्ज कराई। तो विज ने कहा कि अगली मीटिंग में रिपोर्ट के साथ एसआईटी को पेश करो।