--Advertisement--

जज ने कहा- कोर्ट में सच बोलते हैं, बच्ची बोली- मुझे पता है, मेरे साथ जो हुआ, वही बता रही हूं

तीसरी कक्षा की छात्रा से छेड़छाड़ के मामले में पुलिस की जांच जरूर भटकती नजर रही हो, लेकिन छात्रा अपने बयान पर कायम है।

Danik Bhaskar | Dec 21, 2017, 04:05 AM IST

पानीपत. आर्य गर्ल्स पब्लिक स्कूल में 8 वर्षीय तीसरी कक्षा की छात्रा से छेड़छाड़ के मामले में पुलिस की जांच जरूर भटकती नजर रही हो, लेकिन छात्रा अपने बयान पर कायम है। रोहतक में मनोरोग विशेषज्ञ के तीन बार जांच के बाद बच्ची अपने बयान पर डटी है। बुधवार को पुलिस ने छात्रा के कोर्ट में सीआरपीसी की धारा 164 के तहत बयान दर्ज कराए। बच्ची के पिता ने बताया कि जज ने बच्ची से कहा कि बेटा कोर्ट में सच बोलते हैं। तुम्हे किसी ने कुछ सिखाया हो या फिर तुम अपनी तरफ से कुछ मत बताना। इस पर बच्ची ने बिना डरे हुए कहा कि मुझे पता है कि कोर्ट में सच बोलते हैं और मैं सच्चाई बताने ही आई हूं। जाे मेरे साथ हुआ, वही बता रही हूं। इसके बाद बच्ची ने छेड़छाड़ की घटना के बारे में जानकारी दी। जज ने सबसे पहले बच्ची का नाम, कितने भाई-बहन है, स्कूल का नाम, घर का पता जैसे कई जानकारी भी ली।

पिता ने बताया कि घटना के बाद पुलिस ने तीन बार बच्ची का रोहतक में मनोरोग विशेषज्ञ डॉक्टर के पास चेकअप कराया। बच्ची को चेकअप के लिए मंगलवार को ले गए थे। लेकिन जांच पूरी नहीं होने पर वह बच्ची के साथ रोहतक में रुक गए थे। सुबह जांच के बाद वे पानीपत आए। डॉक्टर एक सप्ताह में अपनी जांच रिपोर्ट पुलिस को देंगे। डॉक्टर के पास बच्ची अपने बयान पर कायम रही। बेटी इंजेक्शन से डरती है। डॉक्टर ने उससे कहा कि झूठ बोला तो मेरे पास इंजेक्शन और मशीन है। इसपर बच्ची ने उनसे कहा कि आप इंजेक्शन लगा लो, सच तो सामने जाएगा। बच्ची ने बिना डरे एसएचओ, एसपी, डॉक्टर और जज को एक ही बात बताई है कि उसके साथ पीली टी-शर्ट पहने हुए व्यक्ति ने छेड़छाड़ की है।

यह था मामला: शहर की एक कॉलोनी की रहने वाली 8 वर्षीय बच्ची आर्य गर्ल्स स्कूल में तीसरी कक्षा में पढ़ती है। 14 दिसंबर को लंच ब्रेक के बाद क्लास में जा रही थी। स्कूल में पीली टीशर्ट पहने एक व्यक्ति ने उसका मुंह दबा लिया और उसे उठा कर स्कूल के प्रशासनिक भवन के पीछे ले गया। वहां पर छात्रा ने आरोपी के हाथ में काट लिया और उसके चंगुल से भाग निकली। इस घटना से डरी बच्ची ने अपने टीचरों को जानकारी नहीं दी। घर पहुंच कर अपनी बड़ी बहन को पूरा घटनाक्रम बताया। इसके बाद तीन दिन तक स्कूल बंद रहा। पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे की जांच भी की मगर उसमें भी आरोपी के बारे में कुछ पता नहीं चल पाया। पुलिस को अभी तक यह पता नहीं चला है कि आखिर पीली टीशर्ट पहना वो युवक कौन था।