Hindi News »Madhya Pradesh News »Gwalior News» Officers Will Listen Pepole Problem In Shani Dev Temple

अफसर न्याय के देवता शनिदेव के दरबार में बैठकर सुनेंगे जनसमस्याएं ताकि विवाद के निपटारे में लोग झूठ न बोल सकें

Bhaskar news | Last Modified - Feb 12, 2018, 06:49 AM IST

जमीन-जायदाद, पुरानी रंजिश व आपसी विवादों के मामले में लोग अक्सर झूठी शिकायतें लेकर आते हैं।
अफसर न्याय के देवता शनिदेव के दरबार में बैठकर सुनेंगे जनसमस्याएं ताकि विवाद के निपटारे में लोग झूठ न बोल सकें

मुरैना.जमीन-जायदाद, पुरानी रंजिश व आपसी विवादों के मामले में लोग अक्सर झूठी शिकायतें लेकर आते हैं। इस समस्या के समाधान के लिए अब जिला प्रशासन ने नई युक्ति निकाली है। 24 फरवरी को जिलेभर के पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी न्याय के देवता शनिदेव के ऐंती स्थित मंदिर में जनसमस्या निवारण शिविर लगाएंगे। इसके पीछे अफसरों का मकसद है कि भगवान शनिदेव न्याय के देवता हैं और लोग उनके मंदिर में जाकर झूठ नहीं बोलेंगे, इसलिए यहां अधिकांश सही शिकायतें आएंगी, जिनका आसानी से निकाल किया जा सकेगा।

कलेक्टर ने चुना शनि मंदिर
समस्या निवारण शिविर के लिए कलेक्टर भास्कर लाक्षाकार ने शनि मंदिर का चयन किया है। शिविर में राजस्व व पुलिस संबंधी सभी तरह की शिकायतें सुनी जाएंगी। कलेक्टर खुद एसपी व अधीनस्थों के साथ मौजूद रहेंगे। यह प्रयास इसलिए भी हो रहा है क्योंकि जमीनी विवाद के निपटारे में अक्सर रंजिश के चलते अनहोनी होने का खतरा रहता है।

शनि दरबार में झूठ नहीं बोलेगा फरियादी
यहां बना त्रेतायुगीन शनि मंदिर आस्था का केन्द्र हैं। शनिदेव को धरती का सबसे बड़ा न्यायाधीश कहा जाता है इसलिए यहां आने वाला कोई भी व्यक्ति झूठ नहीं बोलता। यहां ग्रामीण हकीकत बयां करेगा, इसलिए समस्याओं का निराकरण करने में परेशानी नहीं आएगी। शसफलता मिली तो इस तरह के शिविर मंदिर पर आयोजित किए जाते रहेंगे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Gwalior News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: afsr nyaay ke devtaa shnidev ke drbaar mein baithkar sunengae jnsmsyaaen taaki vivad ke niptaare mein loga jhuth n bol sken
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From Gwalior

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×