--Advertisement--

बचपन के दोस्त FB पर मिले तो बने गैंगस्टर, दुश्मनों पर दागते थे बेतहाशा गोलियां

पुलिस ने सोमवार को संदीप बड़वासनी गैंग के दो शूटरों को अरेस्ट किया है। दोनों पर पुलिस ने दो लाख रुपए का ईनाम रखा था।

Danik Bhaskar | Jan 23, 2018, 06:26 AM IST

रोहतक. पुलिस ने सोमवार को संदीप बड़वासनी गैंग के दो शूटरों को अरेस्ट किया है। दोनों पर पुलिस ने दो लाख रुपए का ईनाम रखा था। अजय उर्फ बिट्टू संदीप बड़वासनी के मरने के बाद उसका गैंग चला रहा था। बरौणा के ही विकास उर्फ एक्शन और विकास उर्फ फौजी अजय बचपन में दोस्त रहे हैं। अजय के क्राइम में जाने के बाद उनका संपर्क नहीं हुआ। अक्टूबर 2017 में अजय ने दोनों को फेसबुक पर संपर्क किया। इसके बाद उनमें बातचीत होने लगी। दोनों अजय और संदीप बड़वासनी के नाम से प्रभावित होकर उसके पास चले गए और कई वारदातों को अंजाम दिया। सभी दुश्मनों को मारने का बनाया था प्लान


- दोनों ने बताया है कि अजय उर्फ बिट्टू के पुलिस मुठभेड़ में पकड़े जाने के बाद उन्होंने जल्द ही अपने सभी दुश्मनों को मारने का प्लान बनाया था। दोनों शूटरों के निशाने पर सोनीपत के बरौणा का ही मणियां व कुख्यात रामकरण बैयांपुर था।

- रामकरण को कोर्ट में मारने का प्लान एक्शन और फौजी ने बना लिया था। इसके लिए उन्हें कुछ रुपयों की जरूरत थी। इसके लिए ही वो अपने एक दोस्त के पास सोमवार को रोहतक आए थे। ये खबर रोहतक पुलिस की एंटी व्हीकल थैफ्ट सैल को लग गई। जिसके बाद वो काबू आ गए। आरोपियों के पास से मिली सूमो गाड़ी दिल्ली से चोरी की गई बताई गई है।

- बदमाशों ने वकील हत्याकांड को लेकर एक खुलासा और किया है।

- इन्होंने बताया कि इसमें उनके साथ एक युवक और शामिल था। जो रोहित उर्फ काली का दोस्त था।

- वारदात के बाद ये दोनों दिल्ली चले गए थे। पुलिस उस युवक के बारे में जानकारी जुटा रही है।


गैंग में एक-दूसरे से खुद को बड़ा शूटर साबित करने के लिए दागते थे बेतहाशा गोलियां

पुलिस जांच में सामने आया कि एडवोकेट सत्यवान मलिक मर्डर के दौरान जब शूटरों ने उसे घेरा तो अजय उर्फ बिट्टू ने विकास उर्फ एक्शन को गोली मारने को कहा था। लेकिन विकास उर्फ फौजी ने खुद को बड़ा शूटर साबित करने के लिए वकील की आंख में पहली गोली मार दी। दूसरी गोली रोहित उर्फ काली ने दाग दी। इसके बाद इन सभी ने कई राउंड फायरिंग की। ये भी पता चला है कि शीला बाईपास पर वकील की हत्या को अंजाम देने के बाद स्कॉर्पियो से भागे इन बदमाशों का पीछा करने के लिए किसी ने फॉरच्यूनर गाड़ी लगाई थी। इससे आरोपी थोड़ा घबराए और अपनी स्कॉर्पियो को ओमेक्स सिटी के पास छोड़ कर पैदल नहर की ओर निकल गए। अगले दिन वे सभी अलग-अलग रास्तों से गुरुग्राम पहुंचे थे।

जाट कॉलेज का छात्र है विकास उर्फ एक्शन : सोनीपत जिले के बरौणा गांव का विकास उर्फ एक्शन जाट कॉलेज में बीए फाइनल का छात्र है। वह अक्टूबर माह से ही अपराध जगत में अाया है।

सूमो में रखे बैग से मिले नौ पिस्तौल : पुलिस ने बदमाशों के पास से बिना नंबर प्लेट की टाटा सोम गाड़ी बरामद की है। इसमें एक बैग मिला जिसमें 9 पिस्टल बरामद हुए है। बदमाशों के कब्जा से 4 जिंदा कारतूस बरामद हुए है। बदमाशों के पास से दो खाली खोल भी बरामद हुए जो बदमाशों ने पुलिस पार्टी पर फायर किया थे।

टोल पर गाड़ी का शीशा उतरते ही मारनी थी गोली: बदमाशों ने पुलिस को बताया कि उन्होंने गुरुग्राम से ही वकील की गाड़ी का पीछा किया था। उनका प्लान था कि रास्ते में टोल प्लाजा पर जब टोल देने के लिए गाड़ी का शीश उतरेगा तो उसी वक्त वकील को गोली मारेंगे। लेकिन उनकी गाड़ी पीछे रहने की वजह से वे उसे नहीं मार सके। इसके बाद पीछा करते हुए रोहतक पहुंच गए।

सीआरपीएफ के रिटायर्ड एसआई का बेटा है विकास
विकास उर्फ फौजी एमडीयू में एमए फिजीकल का छात्र है। दो भाई है। बड़ा भाई रेलवे है पिता सीआरपीएफ में सबइंस्पेक्टर के पद से रिटायर्ड है। तीन महीने पहले ही अपराध की दुनिया में पैर रखा है। अपने गांव के ही युवक का कत्ल किया था। इसके अलावा कई वारदातों को अंजाम दिया है।