Hindi News »Haryana »Panipat» PWD Rest House Will Made 3 Story

सीएम को नाइट स्टे 22 किमी. दूर न करना पड़े, इसलिए 3 मंजिला बनेगा PWD रेस्ट हाउस

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जब भी पानीपत के दौरे पर आते हैं तो उनका नाइट स्टे 20 से 22 किलोमीटर दूर रिफाइनरी टाउनशिप में

Bhaskar news | Last Modified - Dec 18, 2017, 07:34 AM IST

सीएम को नाइट स्टे 22 किमी. दूर न करना पड़े, इसलिए 3 मंजिला बनेगा PWD रेस्ट हाउस

पानीपत. मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जब भी पानीपत के दौरे पर आते हैं तो उनका नाइट स्टे 20 से 22 किलोमीटर दूर रिफाइनरी टाउनशिप में ही होता है। जिले में अभी ऐसा कोई सरकारी रेस्ट हाउस नहीं, जहां अफसर भी ठहर सकें। इसलिए जीटी रोड स्थित लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) का 3 मंजिल का रेस्ट हाउस बनाया जाएगा। 25 कमरे व कॉन्फ्रेंस हॉल होंगे। पीडब्ल्यूडी इस पर 6.72 करोड़ खर्च करेगा। सरकार ने 2017-18 के बजट से राशि जारी कर दी है। 15 दिनों में टेंडर प्रक्रिया शुरू होगी, और डेढ़ साल में प्रोजेक्ट पूरा होगा। हरियाणा सरकार के अतिरिक्त मुख्य सचिव ने पीडब्ल्यूडी बीएंडआर के मुख्य इंजीनियर को पत्र जारी कर प्रशासनिक अनुमति दे दी है। निर्माण पर अभी 6.72 करोड़ का अनुमानित खर्च तय किया है। इसमें बढ़ोतरी हो सकती है। पीडब्ल्यूडी के एक्सईएन प्रदीप अत्री ने बताया कि वर्तमान रेस्ट हाउस सिर्फ 5 कमरों का है। जजों की संख्या बढ़ने के साथ अफसरों को भी ठहरने के लिए कमरे नहीं मिलते। इसलिए, कृष्णलाल पंवार के साथ तीनों विधायकों ने रेस्ट हाउस को अपग्रेड करने की मांग रखी थी।

हरियाली बरकरार रहेगी सिर्फ 3 पेड़ काटे जाएंगे

रेस्ट हाउस परिसर की हरियाली बरकरार रखते हुए नए रेस्ट हाउस की प्लानिंग बनाई है। इसके लिए तीन पेड़ काटे जाएंगे। वर्तमान रेस्ट हाउस के सामने बाईं ओर नया रेस्ट हाउस बनाया जाएगा। एक्सईएन ने कहा कि वर्तमान रेस्ट हाउस कम से कम 20 साल और उपयोग में आ सकता है। इसलिए वर्तमान को नहीं गिराया जाएगा।

जानिए...किस फ्लोर पर कितने कमरे बनेंगे

ग्राउंड फ्लोर को छोड़कर यह तीन मंजिल की बिल्डिंग होगी। लिफ्ट भी लगाई जाएगी। ग्राउंड फ्लोर और पहली मंजिल पर पांच-पांच व दूसरी मंजिल और तीसरी मंजिल पर सात-सात कमरे बनेंगे। पहली मंजिल पर रिसेप्शन काउंटर बनेगा। ग्राउंड फ्लोर पर ही किचन बनेगी। रेस्ट हाउस परिसर के चारों ओर करीब 6 फीट की दीवार भी खड़ी की जाएगी।

पहली मंजिल पर होगा सीएम सुइट

पहली मंजिल पर सीएम सुइट और सीएम का ड्राइंग रूम बनेगा। इसके साथ ही एक कॉन्फ्रेंस हॉल भी बनाया जाएगा। इसमें करीब 40 लाेगों के बैठने की जगह होगी। ताकि अधिकारियों की मीटिंग के लिए मुख्यमंत्री को लघु सचिवालय जाने की जरूरत न पड़े। रेस्ट हाउस के कमरों की व्यवस्था भी बेहतर हाेगी। सभी कमरों की आंतरिक सजावट की जाएगी। सोफा, टेबल, कुर्सी, डबल बेड ड्रेसिंग टेबल, एलईडी टीवी सहित बेहतर पर्दे भी लगाए जाएंगे। पानी निकासी के लिए रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम भी लगाए जाएंगे।

2 फायदे शहर वासियों को

1 अब तक सीएम के शहर में जितने भी ठहराव हुए हैं, मुख्यमंत्री रिफाइनरी में रुकते हैं। जहां पर चाय या नाश्ते पर बड़े नेताओं को ही सीएम से मिलने का वक्त मिल पाता है। रेस्ट हाउस बनने के बाद सीएम का काफिला यहीं पर रहेगा। ऐसी स्थिति में सरकार का जुड़ाव भी जनता से बढ़ेगा।

2 सबसे बड़ा फायदा कि जिले को 25 कमरों का सरकारी आवास मिलेगा। कमरे खाली रहेंगे तो थोड़ी-बहुत जान-पहचान वाले को किसी जरूरी वक्त पर अपने या रिश्तेदार के लिए एक कमरा तो मिल ही जाएगा। कम से कम सत्ताधारी पार्टी के नेता और कार्यकर्ता तो इसका लाभ जरूर उठाएंगे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Panipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×