पानीपत

--Advertisement--

उरलाना कलां में सुनवाई न करने वाले पुलिसकर्मियों की एसपी ने मांगी रिपोर्ट,

परिजनों की सुनवाई न करने वाले पुलिसकर्मियों की एसपी राहुल शर्मा ने डीएसपी संदीप मलिक से जांच कर रिपोर्ट मांगी है।

Danik Bhaskar

Jan 16, 2018, 05:11 AM IST

पानीपत. उरलाना कलां गांव में 11 वर्षीय छठी कक्षा की छात्रा से दरिंदगी के बाद हत्या के मामले में चाैकी में परिजनों की सुनवाई न करने वाले पुलिसकर्मियों की एसपी राहुल शर्मा ने डीएसपी संदीप मलिक से जांच कर रिपोर्ट मांगी है। एसपी ने बताया कि डीएसपी को वेरिफिकेशन करने के लिए कहा कि परिजन चौकी में किस पुलिसकर्मी के पास गए थे। उस पुलिसकर्मी ने परिजनों की सूचना पर क्या कार्रवाई की।


रिपोर्ट के बाद दोषी पाए जाने वाले पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की जाएगी। शनिवार शाम को छात्रा के लापता होने के बाद परिजन रात करीब 12 बजे उरलाना कलां चौकी में गए थे। परिजनों का आरोप था कि उनकी सूचना पर पुलिस ने कार्रवाई नहीं की। एसपी ने कहा कि उरलाना कलां में अवैध खुर्दा चलने की पहले सूचना नहीं थी। छात्रा की हत्या के बाद परिजनों ने ही उन्हें सूचना दी थी। जिले में कहीं भी अवैध खुर्दा नहीं चलने दिए जाएंगे। गांव, कस्बा और शहर में अवैध खुर्दा पर रिपोर्ट लेकर कार्रवाई की जाएगी।

दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश कर दो दिन का रिमांड लिया

वारदात के बाद दो आरोपियों को गिरफ्तार कर रविवार को डीएसपी संदीप मलिक ने सीआईए-वन में प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। मामले में बने विरोधाभास को स्पष्ट करने के लिए सोमवार को एसपी राहुल शर्मा ने अपने कार्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि गिरफ्तार आरोपी उरलाना कलां निवासी प्रदीप और सागर शनिवार सुबह करीब 10 बजे से ही शराब पी रहे थे। शाम करीब 5 बजे छात्रा घर से कूड़ा डालने गई तो दोनों आरोपी अपहरण करके उसे कमरे में ले गए। दोनों ने उसके साथ गैंगरेप किया। रेप के दौरान बच्ची चिल्लाई ताे उसी की चुनरी से गला घोंट दिया। रात को नाले में शव फेंका और उसके कपड़े जला दिए।

पुलिस ने आधे जले हुए कपड़े बरामद किए हैं। दोनों आरोपियों को सोमवार को न्यायालय में पेश कर दो दिन का पुलिस रिमांड लिया है। वारदात में अगर और कोई शामिल होगा तो उसको भी गिरफ्तार किया जाएगा।


आरोपियों का डीएनए कराया जाएगा मैच : एसपी ने कहा कि दोनों आरोपियों का डीएनए मैच करवाया जाएगा। रिमांड के दौरान दोनों आरोपियों के सैंपल लेकर लैब में भेजे जाएंगे। इस केस में जल्द से जल्द चार्जशीट कोर्ट में दाखिल की जाएगी। साथ ही केस को फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलवाया जाएगा। जिससे आरोपियों को जल्द सजा मिल सके। दोनों की साइकोसिस्ट से जांच भी करवाई जाएगी।

Click to listen..