Hindi News »Haryana »Panipat» Thief Dead In Police Encounter

पुलिस मुठभेड़ में शातिर चोर ढेर, एक साथी गिरफ्तार किया, दूसरा फरार

रविनगर में गुरुवार रात करीब पौने दस बजे होंडा सिटी कार बदमाशों से अपराध शाखा ईस्ट टीम की मुठभेड़ हुई।

Bhaskar news | Last Modified - Dec 23, 2017, 08:27 AM IST

पुलिस मुठभेड़ में शातिर चोर ढेर, एक साथी गिरफ्तार किया, दूसरा फरार

गुड़गांव। रविनगर में गुरुवार रात करीब पौने दस बजे होंडा सिटी कार बदमाशों से अपराध शाखा ईस्ट टीम की मुठभेड़ हुई। पुलिस को देखकर बदमाशों ने फायरिंग की। जवाबी कार्रवाई में एक बदमाश की मौत हो गई। एक बदमाश को मौके से पकड़ लिया गया, जबकि दूसरा अंधेरे का फायदा उठाकर फरार हो गया। ड्यूटी मजिस्ट्रेट के सामने पुलिस ने बोर्ड से शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया।

पुलिस के अनुसार गुरुवार को गांधी नगर निवासी विवेक की होंडा सिटी कार चोरी हुई थी। पीड़ित ने इसकी शिकायत शिवाजी नगर थाने में दी थी। पुलिस जांच में जुट गई। कार मालिक ने बताया कि कार में जीपीएस सिस्टम लगा है। इस पर अपराध शाखा ईस्ट प्रभारी मनोज की टीम ने कार मालिक के साथ आरोपियों का पीछा शुरू किया। ट्रेस करने पर पुलिस को पता चला कि कार बसई रोड स्थित रवि नगर की गली नंबर तीन के पास है। टीम आरोपियों का पीछा करते हुए वहां पहुंच गई। पुलिस को देख तीनों बदमाश कार लेकर भागने लगे। पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की, लेकिन आरोपी गाड़ी तेजी से लेकर चले गए। पुलिस ने भी कार का पीछा किया और घेराबंदी की। इसी बीच बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में गोली लगने से लक्की उर्फ आकाश घायल हो गया। पुलिस उसे लेकर सिविल अस्पताल पहुंची, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। लक्की यूपी के अलीगढ़ का रहने वाला था और बहादुरगढ़ में रहता था। पुलिस ने मौके से सागर को अरेस्ट कर लिया, जबकि मनीष फरार हो गया। अपराध शाखा की शिकायत पर पुलिस ने आरोपियों पर पुलिस टीम पर हत्या की नीयत से फायरिंग करने और आर्म्स एक्ट में केस दर्ज किया है। आकाश के शव का पोस्टमार्टम ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट की देखरेख में डाक्टरों की टीम ने किया।

30से अधिक मामलों में वांछित था आकाश
पुलिसके अनुसार लक्की उर्फ आकाश पर 30 से अधिक मामलों में वांछित था। आरोपी पर वाहन चोरी, घर में चोरी और डकैती के प्रयास के केस थे. साल 2015 में आकाश एनआईटी फरीदाबाद पुलिस कस्टडी से फरार हो गया था। इसके बाद से आरोपी फरार था। सागर और मनीष के साथ मिलकर आरोपी वारदात को अंजाम देता था। आरोपी करीब तीन साल पहले रवि नगर में किराए के मकान में रहता था। उसका कोई जानकारी भी रवि नगर में रहता था। इसलिए आरोपी देर रात कॉलोनी में गया था। बता दें कि पिछली साल फरवरी 2016 में गुड़गांव पुलिस ने मुंबई में एयरपोर्ट के पास एक होटल में गैंगस्टर संदीप गडौली का एनकाउंटर किया था।
रवि नगर में आरोपी एक खाली जगह पर कार में शराब पी रहे थे। कार से शराब की बोतल और गिलास मिले। पुलिस की दबिश से आरोपी कार लेकर भागने लगे। भागने के दौरान उनकी कार गली में सीवर के होल के ढक्कन से टकराने के बाद बिजली के पोल से जा भिड़ी और वहीं रुक गई। कार चला रहे 19 वर्षीय लक्की उर्फ आकाश खून से लथपथ था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार गोली उसकी कमर के ऊपर लगी और अारपार हाे गई। डॉक्टरों के मुताबिक अधिक खून बहने से उसकी मौत हो गई। वहीं उसके बगल में बैठा आरोपी का गेट नहीं खुला, जबकि पीछे बैठा तीसरा युवक भागने में सफल रहा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Haryana News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: police muthbheड़ mein shaatir chor dher, ek saathi gairftaar kiyaa, dusraa fraar
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Panipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×