Hindi News »Haryana »Panipat» 7 साल बाद गेहूं के रिकाॅर्ड उत्पादन की उम्मीद

7 साल बाद गेहूं के रिकाॅर्ड उत्पादन की उम्मीद

पानीपत | 7 साल बाद प्रदेश की जमीन फिर रिकाॅर्ड गेहूं उत्पादन कर सकती है। 25.58 लाख हेक्टेयर में गेहूं की फसल है। इससे...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 03:20 AM IST

7 साल बाद गेहूं के रिकाॅर्ड उत्पादन की उम्मीद
पानीपत | 7 साल बाद प्रदेश की जमीन फिर रिकाॅर्ड गेहूं उत्पादन कर सकती है। 25.58 लाख हेक्टेयर में गेहूं की फसल है। इससे प्रदेश में कृषि विभाग ने 117.80 लाख टन गेहूं उत्पादन का लक्ष्य निर्धारित किया है। गेहूं वैज्ञानिकों की मानें तो वर्ष 2011-12 का 131 लाख टन का रिकाॅर्ड टूट सकता है।

117.80लाख टन उत्पादन का लक्ष्य, 110रु. बढ़ा एमएसपी

यूपी के गेहूं की खरीद नहीं

12फीसदी नमी से अधिक वाला गेहूं नहीं खरीदेंगे।

4एजेंसी करेंगी गेहूं की खरीद।

2,96,680जूट की गांठों का इनडेंट केंद्र सरकार के माध्यम से जूट कमिश्नर को दिया गया।

72घंटे में किसानों के गेहूं बिक्री का भुगतान किया जाएगा।

7 साल में यूं हुआ गेहूं उत्पादन

वर्ष कुल उत्पादन अौसत प्रति हेक्टेयर

2011-12 131 लाख टन 5183

2012-13 111 लाख टन 4452

2013-14 118 लाख टन 4722

2014-15 103 लाख टन 3979

2015-16 113 लाख टन 4407

2016-17 123 लाख टन 4841

नोट : कुल उत्पादन लाख टन में, प्रति हे. औसत उत्पादन िकग्रा. में।

टूट सकते हैं

पिछले रिकाॅर्ड

गेहूं एवं जौ अनुसंधान निदेशालय करनाल के निदेशक डॉ. जीपी सिंह का कहना है कि अबकी बार गेहूं उत्पादन बंपर होगा। पिछले रिकाॅर्ड टूट सकते हैं, क्योंकि मौसम ने पूरा साथ दिया है।

1625रुपए प्रति क्विंटल भाव मिला था पिछले साल किसानों को। अबकी बार 1735 रुपए प्रति क्विंटल।

40प्रतिशत हैफेड द्वारा, खाद्य व पूर्ति विभाग द्वारा 33 प्रतिशत, हरियाणा वेयरहाउसिंग कारपोरेशन द्वारा 15 प्रतिशत, भारतीय खाद्य निगम द्वारा 12 प्रतिशत गेहूं की खरीद होगी।

16.17 लाख किसान परिवार प्रदेश में गेहूं उगाते हैं।

80 लाख टन गेहूं

सेंट्रल पूल में जाएगा

अबकी बार प्रदेश से करीब 80 लाख टन गेहूं केंद्रीय पूल में जाने की संभावना बनी है। हरियाणा की ओर से केंद्रीय पूल में करीब 15 फीसदी खाद्यान्न का योगदान रहता है।

4900करोड़ रुपए का रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया से प्रबंध किया है।

25मार्च तक 266370 गांठें राज्य जिलों में पहुंच चुकी हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Panipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×