Hindi News »Haryana »Panipat» Improve Learning Level Of Children In Government Schools

हरियाणा के 1.69 लाख छात्र हिंदी और मैथ के सवालों का फटाफट देंगे जवाब, थर्ड पार्टी एसेसमेंट कर बताएगी लर्निंग लेवल

सरकारी स्कूलों में बच्चों के लर्निंग लेवल में अब अपेक्षित सुधार होने लगा है।

गिरिराज अग्रवाल | Last Modified - Nov 06, 2017, 04:36 AM IST

हरियाणा के 1.69 लाख छात्र हिंदी और मैथ के सवालों का फटाफट देंगे जवाब, थर्ड पार्टी एसेसमेंट कर बताएगी लर्निंग लेवल
चंडीगढ़/ पानीपत।सरकारी स्कूलों में बच्चों के लर्निंग लेवल में अब अपेक्षित सुधार होने लगा है। करीब 5 जिलों के प्राइमरी स्कूलों में कक्षा 3, 5 और 7 के बच्चे हिंदी और गणित विषयों में अपनी ग्रेड के मुताबिक दक्ष हो चुके हैं। इन दो विषयों में उनसे कोई भी सवाल करो तो वे उनका सही जवाब देने में सक्षम हैं। यह दावा खुद स्कूलों कुछ स्कूलों ने किया है। इन जिलों के 9 ब्लॉक ऐसे हैं जिनके सरकारी स्कूलों ने आगे आकर अपने यहां इन क्लास में पढ़ रहे बच्चों का टेस्ट लेने के लिए सरकार से आग्रह भी किया है।
राज्य की भाजपा सरकार ने भी बच्चों का बौद्धिक लेवल जांचने के लिए थर्ड पार्टी असेसमेंट कराने का फैसला किया है। इसके लिए ग्रे मैटर इंडिया (जीएमआई) से करार किया गया है। अगर थर्ड पार्टी असेसमेंट में ये बच्चे मापदंड पर खरे उतरते हैं तो इन 9 ब्लॉक को सक्षम ब्लॉक घोषित कर दिया जाएगा। इन ब्लॉक्स के डीईओ, डीईईओ, बीईओ और बीईईओ को गणतंत्र दिवस के मौके पर सीएम मनोहर लाल द्वारा राज्य स्तर पर सम्मानित भी किया जाएगा। मौजूदा भाजपा सरकार ने शैक्षणिक गुणवत्ता के साथ-साथ बच्चों के ओवरऑल डेवलपमेंट पर फोकस किया है। इसी कड़ी के तहत सक्षम ब्लॉक घोषित करने की योजना बनाई गई है। शिक्षा विभाग का दावा है कि राज्य के 119 ब्लॉक में से अभी 9 ब्लॉक चिन्हित किए गए हैं जिनके स्कूली बच्चे अपनी ग्रेड के मुताबिक सवालों का जवाब देने में सक्षम हैं। मार्च, 2018 तक ऐसे ब्लॉक्स की संख्या बढ़कर 40-50 होने की संभावना है।
बच्चों का लर्निंग लेवल ऐसे हुआ बेहतर
शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव के. के. खंडेलवाल ने बताया कि स्कूली बच्चों के लर्निंग लेवल में सुधार को मंथली टेस्ट व्यवस्था लागू की गई है। इसके साथ ही गर्मियों की छुट्टियों में कमजोर बच्चों को आगे लाने के उद्देश्य से कैचअप प्रोग्राम भी चलाया गया। बच्चों पर पढ़ाई का ज्यादा मानसिक दबाव न हो, इसके लिए स्कूलों में विभिन्न तरह की एक्टिविटी चलाई जा रही हैं। सप्ताह में एक दिन यानि शनिवार को बिना किताब और बस्ते के ही उन्हें स्कूलों में बुलाया जाता है। इस दौरान बच्चों को अपनी रुचि के मुताबिक डांस, गायन, नृत्य, निबंध, वाद-विवाद आदि गतिविधियां करने की छूट रहती है।
शिक्षकों को भी बनाएंगे तनाव मुक्त
अतिरिक्त मुख्य सचिव ने बताया कि सीएम की पहल पर अब शिक्षकों को पूरी तरह तनाव मुक्त बनाने का फैसला किया गया है। ताकि वे बच्चों की पढ़ाई पर ही फोकस कर सकें। इस कड़ी में सबसे पहले ऑनलाइन ट्रांसफर पॉलिसी लागू की गई है। ताकि उन्हें अपने तबादले के लिए नेताओं और अफसरों के अनावश्यक चक्कर न काटने पड़ें। इसके बाद अब उनकी अन्य समस्याओं जैसे प्रमोशन, एसीपी, पे-स्केल, छुट्टी आदि के लिए जिलेवार कैंप लगाए जाएंगे। इनके माध्यम से उनकी समस्याओं का समाधान उनके द्वार पर ही जाकर किया जाएगा। ये कैंप इसी महीने शुरू होने की संभावना है। इसके बाद शिक्षकों से बेहतर रिजल्ट की अपेक्षा है। अगर, फिर भी कहीं कोई लापरवाही पाई जाती है तो संबंधित व्यक्ति या शिक्षक के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही भी होगी।
किस ब्लॉक में कितने स्कूल और कितने बच्चे
ब्लॉक का नामकुल बच्चे
जाखल (फतेहाबाद)
9698
बेरी (झज्जर)
12156
मातनहेल (झज्जर)16692
अटेली18965
नारनौल (म.गढ़)18695
महेंद्रगढ़29291
नगीना (नूंह)27785
तावडू (नूंह)35437
कथूरा (सोनीपत)11189
सक्षम योजना से भी आएगा सुधार
शैक्षणिक गुणवत्ता में सक्षम योजना से भी सुधार आने की उम्मीद है। इसके तहत मुख्यमंत्री सक्षम सेल के चार एक्सपर्ट्स को शिक्षा विभाग में लगाया गया है। ये एक्सपर्ट्स दूसरे राज्यों और वर्ल्ड में जहां भी बेस्ट प्रैक्टिस हैं, उनका पता लगाकर शिक्षा विभाग को बताते हैं। विभाग में उच्च स्तरीय परामर्श के बाद जो व्यवहारिक हों, उन उपायों को स्कूलों में लागू किया जा रहा है। बच्चों के लर्निंग लेवल का थर्ड पार्टी असेसमेंट कराने का फैसला किया गया है ताकि किसी तरह गड़बड़ी की गुंजाइश न हो। इसमें मापदंड पर खरा उतरने वाले स्कूलों वाले ब्लॉक को ही सक्षम ब्लॉक घोषित किया जाएगा।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Panipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×