--Advertisement--

छात्रा ने स्कूल हॉस्टल में लगाई फांसी, एफआईआर

छात्रा ने स्कूल हॉस्टल में लगाई फांसी, एफआईआर

Danik Bhaskar | Dec 20, 2017, 11:38 AM IST
नूंह में मेवात मॉडल स्कूल के ब नूंह में मेवात मॉडल स्कूल के ब

नूंह (गुड़गांव)। नूंह के मेवात मॉडल स्कूल की 12वीं कक्षा की छात्रा ने स्कूल के हॉस्टल में मंगलवार को गले में रस्सी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। सूचना मिलने पर सारा जिला प्रशासन स्कूल के होस्टल में पहुंच गया। मंगलवार को  लड़की के परिजनों की ओर से किसी प्रकार की पुलिस को शिकायत नहीं दी गई थी, वहीं बुधवार को इस मामले में हंगामे का माहौल बन गया। मृतक लड़की के परिजनों और अन्य स्टूडेंट्स ने स्कूल को ताला लगाकर यहां धरना शुरू कर दिया। ये ह मामला...

 

 

- नूंह शहर पुलिस चौकी प्रभारी रमेश कुमार द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार घटना शाम करीब साढ़े चार बजे की है।

रेणु पुत्री रोहताश निवासी फिरोजपुर नमक पिछले 2 साल से मेवात मॉडल स्कूल के  होस्टल में रह रही थी। वह 12वीं कक्षा में पढ़ रही थी। 

- मंगलवार को रेणु ने अपने होस्टल के कमरे में गले मे फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। कमरे में झूलती हुई रेणु को जब उसके साथ होस्टल में रहने वाली लड़कियों ने देखा तो उनके पैरों तले की जमीन निकल गई। लड़कियों ने वार्डन को घटना की जानकारी दी।

- पुलिस ने मौके पर पहुंचकर लड़की को नीचे उतारा और नल्हड मेडिकल कॉलेज ले गई. जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

- घटना की जानकारी मिलते ही एमडीए चेयरमैन खुर्शीद अहमद राजाका के अलावा एमडीए और स्कूल का स्टाफ मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी पुलिस को दी।

- चेयरमैन से लेकर जिला प्रशासन के अधिकारियों को घटना की जानकारी मिली तो सबके रौंगटे खड़े हो गए। नूंह एसडीएम मनोज कुमार नल्हड़ मेडिकल काॅलेज पहुंचे और घटना की जानकारी जुटाई।

- पुलिस ने रेणु के शव को शहीद हसन खां मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल से पोस्टमाॅर्टम कराने के बाद परिजनों के हवाले कर दिया।

- उधर बुधवार को उस वकत माहौल तनावपूण हो गया, जब स्कूल के गेट पर काफी संख्या में अन्य लोगों के साथ लड़की के परिजन जमा हो गए। इस दौरान स्कूल की अन्य लड़कियाें ने भी स्कूल प्रबंधन पर प्रताड़ना के आरोप लगाए हैं।

- इस बारे में शहर पुलिस चौकी प्रभारी रमेश कुमार का कहना है कि नाबालिग लड़की द्वारा इतना बड़ा कदम कैसे उठाया गया, इस मामले की तहकीकात की जा रही है। हालांकि मंगलवार को इस मामले में लड़की के परिजनों की तरफ से कोई शिकायत नहीं दी गई थी। अब जबकि स्कूल प्रबंधन, खासकर होस्टल प्रशासन पर सवाल उठ रहे हैं तो उसकी भी गहनता से जांच की जा रही है।