--Advertisement--

ज्वैलर की आंखों में मिर्ची पाउडर झोंका महिला ने, वारदात ष्टष्टञ्जङ्क में कैद

ज्वैलर की आंखों में मिर्ची पाउडर झोंका महिला ने, वारदात ष्टष्टञ्जङ्क में कैद

Danik Bhaskar | Dec 15, 2017, 02:39 PM IST
इस महिला पर लूट की कोशिश का आरो इस महिला पर लूट की कोशिश का आरो

अंबाला। अंबाला कैंट में एक ज्वैलरी शॉप पर शुक्रवार को लूट की कोशिश का मामला सामने आया है। आरोप एक महिला पर है, जिसे हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ में जुटी है। गहने लेकर भागी तो आसपास के दुकानदारों ने पकड़ लिया। फिर महिला ने घर के आर्थिक हालात ठीक नहीं होने के चलते बच्चों की फीस के लिए ऐसा किए जाने की बात कही है। बताया जाता है कि इस महिला ने दुकान के मालिक की आंखों पर लाल मिर्च के पाउडर से हमला कर दिया। वारदात के बाद जब वह भागने लगी तो लोगों ने पकड़ लिया। वहीं सूचना पाकर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। साथ ही यह घटना दुकान के सीसीटीवी कैमरे में भी कैप्चर हो गई है। पहले पानी पिया, फिर वॉशरूम जाने के बहाने बंटाया ध्यान...

- घटना अंबाला कैंट के सर्राफा बाजार की है। यहां माेनी ज्वैलर्स पर सवा 11 बजे एक महिला आती है, जो आते ही दुकान के मालिक से चेन दिखाने की कहती है। इसी बीच वह पीने के लिए पानी भी मांगती है। दुकानदार पानी दे देता है।

- पानी पीने के बाद महिला ने चेन हाथ में ली और वॉशरूम जाने की बात कही। दुकानदार ने उनके यहां वॉशरूम नहीं होने की बात कही।

- इसी बीच महिला ने पर्स से निकाल मिर्ची पाउडर दुकानदार की आंखों में फेंक दिया। महिला ने भागने की कोशिश की, लेकिन दुकानदार ने महिला का बैग पकड़ लिया और उसे भागने नहीं दिया।

- साथ ही दुकानदार ने शोर भी मचा दिया। इसके चलते आसपास के लोग इकट्ठा हो गए, जिन्होंने महिला को पकड़ लिया।

- दूसरी ओर लोेगों ने इस घटना की सूचना पुलिस को भी दे दी। सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और महिला को थाने ले गई। थाने में महिला से पूछताछ का सिलसिला जारी है, वहीं पुलिस ने घटनास्थल पर भी जांच-पड़ताल की।
- इस दौरान पाया कि महिला दुकान से कुछ चुराने या लूटने में तो कामयाब नहीं हो सकी, लेकिन महिला पास के गांव केसरी की रहने वाली बताई जा रही है। साथ ही उसकी यह सारी करतूत दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है।

बोली-बच्चों की फीस के लिए कर रही थी चोरी की कोशिश

- पुलिस सूत्रों के मुताबिक अभी तक की पूछताछ में महिला का कहना है कि उसके परिवार के आर्थिक हालात ठीक नहीं हैं। यहां तक कि उनके पास बच्चों की स्कूल फीस देने के लिए भी पैसे नहीं हैं। इसी के चलते वह कोशिश कर रही थी कि किसी तरह यहां से या तो नकदी चुरा ली जाए या फिर कोई ज्वैलरी चुराकर दूसरी जगह बेचकर दो-तीन महीने का खर्चा निकाल सके।