Hindi News »Haryana »Panipat» A Man Commit Suicide After Murdering His Wife And Hiding The Dead Body In Box

एक दिलचस्प कहानी, जो आपको जीवन से भर देगी

एक दिलचस्प कहानी, जो आपको जीवन से भर देगी

Balraj Singh | Last Modified - Dec 11, 2017, 11:46 AM IST

करनाल। करनाल जिले के गांव मंचूरी में एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी की सिर में चोट मारकर हत्या कर दी और उसका शव घर में ही एक संदूक में छिपा दिया। पूरी घटना को उसके दो बच्चों ने देख लिया, जिन्हें वह दूसरे कमरे में बंद कर रात को ही घर से फरार हो गया। नशे की हालत में आरोपी श्याम लाल सोमवार सुबह घर के पास अाया उसके हाथ में जहर की एक शीशी थी। जब वह भाग रहा था तो एक बस की चपेट में आने से उसकी मौत हो गई। उसने गांव वालों को बताया था कि उसने अपनी पत्नी 27 वर्षीया रीना को मार दिया है और अब वह खुद भी मर जाएगा। बच्चे बोले-हमें कमरे में बंद कर मम्मी को पीटा था पापा ने... 

 

- मृतक युवक की पहचान असंध इलाके में पड़ते गांव मंचूरी के श्याम लाल पुत्र पाला राम के रूप में हुई है। सोमवार को उसने अचानक जहर खाकर सुसाइड की कोशिश कर डाली।

- पता चलते ही परिजन और पड़ोसी उसे लेकर जुंडला के एक अस्पताल में लेकर पहुंचे। यहां ये वह चकमा देकर फरार हो गया और कुछ ही देर बाद उसकी बस की चपेट में आने से मौत हो गई।

- सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची तो पता चला कि श्याम लाल का अपनी पत्नी रीना देवी के साथ अक्सर झगड़ा होता रहता था। इसी के चलते पहले उसने पत्नी की हत्या की। उसकी डेड बॉडी को संदूक में छिपाने के बाद श्याम लाल ने खुद यह कदम उठाया।

 

 

8 साल पहले हुई थी शादी, पति-पत्नी में होती रहती थी तकरार

- श्यामलाल के ससुर गांव कारसा डोड निवासी रणजीत ने बताया कि उसने अपनी बड़ी बेटी रीना की शादी करीब 8 साल पहले मंचूरी निवासी श्याम लाल के साथ की थी।

- शादी के बाद दोनों के बीच तकरार रहने लगी। कई बार झगड़ा भी हुआ, क्योंकि श्यामलाल अक्सर शराब पीता था और रीना उसे शराब पीने से रोकती थी।

- रविवार 10 दिसंबर को श्याम लाल फांसी लगाने का प्रयास कर रहा था। इस मामले में श्याम लाल का पिता पाला राम व उसकी बहन-बहनोई समझाने गांव आए थे। 

-  बच्चों ने बताया कि रात को श्याम लाल ने रीना के साथ झगड़ा किया था। 

 

 

ये है श्यामलाल का परिवार

- श्याम लाल मजदूरी करता है और उसके तीन बच्चे हैं। बड़ी बेटी 6 साल की बेटी मनप्रीत, उससे छोटी बेटी 5 साल की वंशिका है, जबकि तीन साल का बेटा लविश है।

- मनप्रीत कई सालों से अपने नाना के घर गांव कारसा डोड में रहती है। श्याम लाल गांव में परिवार सहित रहता था, जबकि उसका एक भाई पवन, पिता पाला राम, मां प्रकाशी देवी के साथ शिव कॉलोनी करनाल में रहता है। 

 

 बच्चे पूछ रहे कहां हैं मम्मी-पापा

- तीनों बच्चे मां की हत्या व पिता की मौत के बाद नाना रणजीत के घर गांव कारसा डोड में हैं। बच्चे बार-बार कह रहे हैं नाना जी मम्मी कहां चली गई, पापा को क्या हो गया। नाना किसी तरह तीनों को दिलासा दे रहे हैं। किसी तरह तीनों बच्चों को खाना खिलाया गया।

- नाना रणजीत ने बताया कि जो बच्चे घटना के समय मंचूरी में थे उन्हें घटना की जानकारी है, जबकि एक बच्ची उनके पास रहती है।

 

नशे की हालत में घूम रहा था श्यामला

गांव के रहने वाले  मदन ने बताया कि वह श्याम लाल का चाचा लगते हैं। सुबह करीब पांच बजे श्याम लाल के दोनों बच्चे रोते हुए रिश्ते में दादा सुनहरा के पास आए थे। बच्चों ने बताया कि घर मम्मी-पापा नहीं हैं। वे श्याम लाल के घर पहुंचे तो कोई यहां नहीं मिला। कुछ समय बाद नशे की हालत में श्याम लाल घर पहुंचा। उसके हाथ में जहरीले पदार्थ की शीशी थी। श्यामलाल ने बताया कि उसने रीना की हत्या कर दी है और वह भी मर जाएगा। कमरे में जाकर रीना की तलाश की तो देखा कि संदूक में रीना का शव खून से लथपथ पड़ा था, तुरंत जलमाना पुलिस चौकी को सूचित किया गया। 

 

 

आज होगा शवों का पोस्टमार्टम

पुलिस का कहना है कि दोनों शवों का पोस्टमार्टम मंगलवार को कराया जाएगा। रीना के शव का पोस्टमार्टम असंध में होगा, क्योंकि मंचूरी गांव असंध थाना की जलमाना चौकी के तहत आता है, जबकि श्याम लाल के शव का पोस्टमार्टम करनाल में होगा। जुंडला में श्यामलाल की मौत हुई है। इस लिए पोस्टमार्टम करनाल में होगा।

 

 

 

फोटोज: चमन लाल

 

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Haryana News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: patni ki laash snduk mein daal bhaagaaa to aise aaee maut, bachcho ne btaaee ye kahani
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Panipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×