Hindi News »Haryana »Panipat» A Panipat Army JAWAN Got Martyrism In A Naxalite Attack

2 महीने पहले ही ड्यूटी ज्वाइन की थी इस जवान ने, नक्सली हमले में शहीद

२ महीने पहले ही ट्रेनिंग पूरी करके ड्यूटी ज्वाइन की थी इस जवान ने, नक्सली हमले में शहीद

Subhash Rai | Last Modified - Jan 16, 2018, 07:48 PM IST

2 महीने पहले ही ड्यूटी ज्वाइन की थी इस जवान ने, नक्सली हमले में शहीद

पानीपत। पानीपत के गांव गोयला खुर्द का एक फौजी जवान अरुणाचल प्रदेश में नक्सली हमले में शहीद हो गया। चार भाई-बहनों में सबसे बड़े इस जवान ने ट्रेनिंग पूरी करके दो महीने पहले ही ड्यूटी ज्वाइन की थी। अब शहादत की खबर के बाद गांव में मातम का माहौल है, वहीं अभी तक घर की महिलाओं को इसकी जानकारी नहीं दी गई है। बताया जा रहा है कि बुधवार को शहीद का पार्थिव शरीर उसके पैतृक गांव लाया जाएगा। अस्पताल में ली जांबाज ने आखिरी सांस...

- शहीद सचिन शर्मा के पिता सुरेंद्र कुमार कौशिक ने बताया कि उनके पास मंगलवार को अरुणाचल प्र‎देश से टेलीफोन पर आर्मी ने बेटे की शहादत की खबर दी है।
- उन्होंने बताया कि 20 वर्षीय सचिन अरुणाचल प्र‎देश में शनिवार को नक्सली हमले में गंभीर रूप से घायल हुआ था। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां मंगलवार सुबह सचिन ने आखिरी सांस ली।
- सुरेंद्र ने बताया कि उन्होंने प्राइवेट आटा मिल में नौकरी अपने दो बेटों और दो बेटियों को पढ़ाया। एक बेटी सचिन से बड़ी है, जबकि बाकी दो बच्चे यानि एक बेटा और एक बेटी उससे छोटे हैं। छोटा बेटा 10वीं में पढ़ रहा है।
- इनमें से सचिन 12वीं तक पढ़ाई करके एक साल पहले रोहतक में आर्मी राजपूत रेजिमेंट 16 बटालियन में भर्ती होने के ट्रेनिंग पूरी करके 2 महीने छुट्टी पर आकर घर रहा और अब 2 महीने पहले ही उसने ड्यूटी ज्वाइन की थी।

पूरे गांव में नहीं चढ़ा तवा
- शहादत की सूचना के बाद जहां परिजनों के पैरों तले की जमीन खिसक गई, वहीं पूरे गोयला खुर्द गांव में मातम का माहौल बन गया। इस सूचना के बाद गांव में किसी भी घर में तवा नहीं चढ़ा है, वहीं ग्रामीणों का शहीद के घर जमवाड़ा लगा हुआ है। सभी शहीद के परिजनो को सांत्वना देने का प्रयास कर रहे हैं।

बुधवार को पहुंचेगा शहीद का पार्थिव शरीर
- शहीद सचिन के पिता सुरेन्द्र ने बताया कि अभी तक उन्हें ये नहीं पता है कि उनका बेटा कैसे शहीद हुआ हैै। इस बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं दी गई है। बस इतना बताया गया है कि बुधवार को उसके शहीद बेटे का पार्थिव शरीर दिल्ली लाया जाएगा। गांव में कब आए पाएगा, इसकी भी उन्हें कोई जानकारी नहीं है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Haryana News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: 2 mhine pehle hi dyuti jvaain ki thi is jvaan ne, nksli hmle mein Shahid
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Panipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×