--Advertisement--

२ महीने पहले ही ट्रेनिंग पूरी करके ड्यूटी ज्वाइन की थी इस जवान ने, नक्सली हमले में शहीद

२ महीने पहले ही ट्रेनिंग पूरी करके ड्यूटी ज्वाइन की थी इस जवान ने, नक्सली हमले में शहीद

Dainik Bhaskar

Jan 16, 2018, 07:37 PM IST
a Panipat Army JAWAN got martyrism in a naxalite attack

पानीपत। पानीपत के गांव गोयला खुर्द का एक फौजी जवान अरुणाचल प्रदेश में नक्सली हमले में शहीद हो गया। चार भाई-बहनों में सबसे बड़े इस जवान ने ट्रेनिंग पूरी करके दो महीने पहले ही ड्यूटी ज्वाइन की थी। अब शहादत की खबर के बाद गांव में मातम का माहौल है, वहीं अभी तक घर की महिलाओं को इसकी जानकारी नहीं दी गई है। बताया जा रहा है कि बुधवार को शहीद का पार्थिव शरीर उसके पैतृक गांव लाया जाएगा। अस्पताल में ली जांबाज ने आखिरी सांस...

- शहीद सचिन शर्मा के पिता सुरेंद्र कुमार कौशिक ने बताया कि उनके पास मंगलवार को अरुणाचल प्र‎देश से टेलीफोन पर आर्मी ने बेटे की शहादत की खबर दी है।
- उन्होंने बताया कि 20 वर्षीय सचिन अरुणाचल प्र‎देश में शनिवार को नक्सली हमले में गंभीर रूप से घायल हुआ था। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां मंगलवार सुबह सचिन ने आखिरी सांस ली।
- सुरेंद्र ने बताया कि उन्होंने प्राइवेट आटा मिल में नौकरी अपने दो बेटों और दो बेटियों को पढ़ाया। एक बेटी सचिन से बड़ी है, जबकि बाकी दो बच्चे यानि एक बेटा और एक बेटी उससे छोटे हैं। छोटा बेटा 10वीं में पढ़ रहा है।
- इनमें से सचिन 12वीं तक पढ़ाई करके एक साल पहले रोहतक में आर्मी राजपूत रेजिमेंट 16 बटालियन में भर्ती होने के ट्रेनिंग पूरी करके 2 महीने छुट्टी पर आकर घर रहा और अब 2 महीने पहले ही उसने ड्यूटी ज्वाइन की थी।

पूरे गांव में नहीं चढ़ा तवा
- शहादत की सूचना के बाद जहां परिजनों के पैरों तले की जमीन खिसक गई, वहीं पूरे गोयला खुर्द गांव में मातम का माहौल बन गया। इस सूचना के बाद गांव में किसी भी घर में तवा नहीं चढ़ा है, वहीं ग्रामीणों का शहीद के घर जमवाड़ा लगा हुआ है। सभी शहीद के परिजनो को सांत्वना देने का प्रयास कर रहे हैं।

बुधवार को पहुंचेगा शहीद का पार्थिव शरीर
- शहीद सचिन के पिता सुरेन्द्र ने बताया कि अभी तक उन्हें ये नहीं पता है कि उनका बेटा कैसे शहीद हुआ हैै। इस बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं दी गई है। बस इतना बताया गया है कि बुधवार को उसके शहीद बेटे का पार्थिव शरीर दिल्ली लाया जाएगा। गांव में कब आए पाएगा, इसकी भी उन्हें कोई जानकारी नहीं है।

X
a Panipat Army JAWAN got martyrism in a naxalite attack
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..