--Advertisement--

अस्पताल में मंदबुद्धि लेडी के साथ आपत्तिजनक हालत में दिखा पुलिसकर्मी, हंगामा हुआ तो भागा

अस्पताल में मंदबुद्धि लेडी के साथ आपत्तिजनक हालत में दिखा पुलिसकर्मी, हंगामा हुआ तो भागा

Danik Bhaskar | Dec 27, 2017, 06:22 PM IST
यमुनानगर के सिविल अस्पताल में यमुनानगर के सिविल अस्पताल में

यमुनानगर। यहां के सिविल अस्पताल में एक मंदबुद्धि महिला के साथ एक पुलिसकर्मी के आपत्तिजनक हालत में मिलने से हंगामा हो गया। जब तक यह सूचना पुलिस व अस्पताल स्टॉफ तक पहुंची तब तक आरोपी मौका देखकर फरार हो गया। मंदबुद्धि महिला इस हालत में नहीं है कि वह घटना बता सके। अभी तक उसका मेडिकल भी नहीं हुआ है। इस घटना को एक प्रत्यक्षदर्शी महिला ने देखा जो अपने किसी परिजन का इलाज करवाने के लिए अस्पताल आई थी। पूरा मामला सवालों के घेरे में इसलिए भी आ गया है क्योंकि यहां लगे सीसीटीवी में भी 12 बजे से लेकर सुबह तक की फुटेज गायब मिली है। वहीं पुलिस और अस्पताल प्रशासन लीपा-पोती करने की कोशिश कर रही है। पढ़िए क्या है पूरा मामला...

- सिविल अस्पताल में दो दिन पहले मंदबुद्धि महिला को भर्ती कराया गया था। यह महिला पुलिस को लावारिस हालात में मिली थी। इस महिला को मंगलवार को ट्रॉमा सेंटर से प्रिजनर वार्ड के पास बने वार्ड में भर्ती कराया गया।

- अस्पताल में मरीज के साथ आई फरीदा नाम की महिला ने बताया कि उसकी बेटी अस्पताल में भर्ती है। वह रात करीब 12 बजे बाथरूम के लिए आई थी।
- जब वह बाथरूम जाने लगी, तो वार्ड में एक व्यक्ति महिला के साथ गलत कार्य कर रहा था। उसने वार्ड में ही उपस्थित एक अन्य बुजुर्ग महिला को इस बारे में बताया।
- आरोप है कि व्यक्ति शराब के नशे में था और वह पुलिसकर्मी है। पहले तो वह पुलिसकर्मी पीड़ित महिला को अपना जानकार बताने लगा। जब महिला से गलत कार्य करने के बारे में कहा, तो उसने धमकी भी दी।
- जिस पर फरीदा व बुजुर्ग महिला ने अन्य स्टॉफ को इस बारे में बताया। तो वह भी उस ओर पहुंच गए।
- इतने में आरोपी व्यक्ति वहां से भाग निकला। इस दौरान पुलिस को सूचना भी दी गई, पुलिस भी पहुंची। आरोप है कि पुलिस प्रत्यक्षदर्शी महिलाओं की बातों पर विश्वास नहीं किया और उनसे सबूत मांगने लगे। प्रत्यक्षदर्शी महिलाओं का कहना है कि वह इस बात का कोई सबूत नहीं दे सकते। जिसके बाद पुलिसकर्मी वहां से चले गए।

बनाई गई कमेटी
- सिविल अस्पताल के चिकित्साधीक्षक डॉ. विजय दहिया ने कहा कि सभी स्टॉफ से बातचीत की जा रही है। साथ ही तीन चिकित्सकों की कमेटी का गठन किया गया है। जो पूरे मामले की जांच कर रिपोर्ट देगी।
- सिविल अस्पताल चौकी प्रभारी हरिराम का कहना है कि सिविल अस्पताल में हुई घटना के बारे में पता लगा है। फिलहाल कोई शिकायत नहीं आई है। फिर भी जांच कराई जा रही है। उस समय ड्यूटी पर तैनात पुलिस व अस्पताल स्टाफ से पूछताछ की जा रही है।