Hindi News »Haryana »Panipat» A Retired IPS Officer Ram Singh Bishnoi Commit Suicide At His Farm House

ASI भर्ती होकर बना था SP, अब इस तरह किया लाइफ का The End

राम सिंह बिश्नोई मूल रूप से हिसार जिले के गांव ढाणी खैरमपुर के रहने वाले थे, जिनका जन्म 1951 में हुआ था।

Munish Bansal | Last Modified - Jan 29, 2018, 11:54 AM IST

  • ASI भर्ती होकर बना था SP, अब इस तरह किया लाइफ का The End
    +4और स्लाइड देखें
    हिसार के गांव ढाणी खैरमपुर में फार्म हाउस पर पड़ी रिटायर्ड आईपीएस रामसिंह बिश्नोई की डेड बॉडी (इनसेट) बिश्नोई की फाइल फोटो। इन दिनों वह पत्नी-बच्चों के साथ गुड़गांव में रहते थे, जहां से कुरुक्षेत्र के लिए निकले और फिर वहां न जाकर अपने गांव में सुसाइड कर लिया।

    आदमपुर (हिसार)। रिटायर्ड एसपी रामसिंह बिश्नोई ने रविवार दोपहर करीब 3 बजे खैरमपुर गांव स्थित फार्म हाउस में अपनी लाइसेंसी रिवाॅल्वर से गोली मारकर आत्महत्या कर ली। काफी देर तक रिटायर्ड एसपी वापस नहीं लौटे तो उनके चालक ने खोजबीन की तो उनका शव घर से करीब 100 मीटर की दूरी पर खून से लथपथ मिला। सूचना मिलने पर परिवार के लोग और पुलिस भी मौके पर पहुंची। एसपी मनीषा चौधरी ने भी निरीक्षण कर परिजनों से मामले की जानकारी ली। इस प्रकरण में पुलिस ने रिटायर्ड एसपी के भाई रामराय के बयान पर उनके रिश्तेदार देवीलाल के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया है। आरोप है कि बेटी के चाचा ससुर द्वारा जमीन को लेकर किए गए इस्तगासा को लेकर कोर्ट में हो रही बार-बार पेशी से परेशान होकर रिटायर्ड एसपी ने जान दी। खूंखार जनरैल सिंह से की मुठभेड़, इसके बाद मिली थी प्रोमोशन...

    - 1951 में गांव सदलपुर के किसान परिवार में जन्मे रामसिंह बिश्नोई 1971 में बतौर एएसआई हरियाणा पुलिस में भर्ती हुए थे। उनकी कर्तव्यनिष्ठा व बहादुरी के कारण उन्होंने आईपीएस अधिकारी तक का सफर तय किया।

    - पंजाब में आतंकवाद के दौर में इनकी शख्सियत दुनिया के सामने आई। जब उन्होंने बड़ी बहादुरी के साथ वर्ष 1990-91 में खूंखार आतंकवादी जनरैल सिंह सतराना से कई बार मुठभेड़ हुई थी। इसके कारण हरियाणा सरकार ने उन्हें आईपीएस अधिकारी प्रोमोट किया था।

    - इसके साथ ही उन्हें वीरता के लिए राष्ट्रपति से भी सम्मान मिल चुका है। वह हिसार में 2005-2006 विजिलेंस में एसपी रहे। यहां से रेवाड़ी और फिर जींद में एसपी रहे। जींद में रहते रिटायर होने के बाद हरियाणा सरकार ने उन्हें मधुबन में स्पेशल ट्रेनिंग अधिकारी अप्वाइंट किया।

    आखिरी बार मां के साथ पी चाय

    - रिटायर्ड एसपी के भाई सुभाष व अन्य परिजनों ने बताया कि रामसिंह कुरुक्षेत्र बिश्नोई सभा के प्रधान और हिसार बिश्नोई सभा के मेंबर थे। रविवार को कुरुक्षेत्र बिश्नोई समाज के एक प्रोग्राम में जाना था, जिसके लिए वह सुबह गड़गांव स्थित अपने घर से निकले। इसके बाद न जाने क्या वजह रही, वह कुरुक्षेत्र न जाकर हिसार के गांव ढाणी सदलपुर में अपनी मां के पास गए।

    ड्राइवर और रसोइए से कहकर गए, तुम खाना खा लो, मैं अभी नहीं खाऊंगा

    - वहां करीब 15 मिनट रहे राम सिंह बिश्नोई ने चाय पी और फिर वह गांव ढाणी खैरमपुर में पहुंचे। वहां आकर उन्होंने अपने चालक रमेश और रसोईए से कहा कि तुम खाना खा लो, वह अभी कुछ नहीं खाएंगे। फिर वे अपने कमरे में गए और वहां से फार्म हाउस में घूमने के लिए चले गए। खुद को गोली मार ली।

    पत्नी ने चालक के पास किया फोन तो खोजा
    - रिटायर्ड एसपी के चालक रमेश और परिवार के सदस्यों ने पुलिस को बताया कि उसके पास रामसिंह बिश्नोई की पत्नी का फोन आया और पूछा कि साहब फोन नहीं उठा रहे वह कहां पर हैं। उसने कहा कि वह घूमने गए हैं।

    - इसके बाद उनकी पत्नी ने पूछा कि देखो उनका रिवाॅल्वर कहां है। उसने कमरे में जाकर देखा तो रिवाॅल्वर नहीं मिला। जब वह उन्हें देखने के लिए किन्नू के बाग में पहुंचा तो रिटायर्ड एसपी का शव खून से लथपथ पड़ा था।

    आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज किया
    - रिटायर्ड एसपी रामसिंह बिश्नोई की मौत में मौके पर हालातों को देखते हुए प्रथम दृष्टया आत्महत्या ही प्रतीत हो रही है। फिलहाल उनके भाई सुभाष के बयान पर रिश्तेदार के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज कर लिया गया।

    - भाई का आरोप है कि कोर्ट में चल रहे जमीन विवाद प्रकरण में बार-बार हो रही पेशी को लेकर रिटायर्ड एसपी तनाव में थे। इसी को लेकर उन्होंने सुसाइड का कदम उठाया। फिर भी पूरे प्रकरण की जांच की जा रही है। मौत कैसे हुई पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद सामने आएगा। -मनीषा चौधरी, एसपी, हिसार।

    यह था बेटी के चाचा ससुर से जमीन का विवाद

    - रिटायर्ड एसपी रामसिंह बिश्नोई 31 मई 2011 को सेवानिवृत्त हुए थे। इसके बाद उनके खिलाफ आदमपुर निवासी बेटी के चाचा ससुर देवीलाल ने रिटायर्ड एसपी पर अपने पिता कुंभाराम का अंगूठा लगवाकर जमीन हड़पने का आरोप लगाते हुए कोर्ट में इस्तगासा कर रखा था।

    - मामला कोर्ट में अभी विचाराधीन है, जिसमें रिटायर्ड एसपी कई बार पेश हो चुके थे। बार-बार पेश होने से वह तनाव में रहते थे। जमीन विवाद में 30 जनवरी को उनकी हिसार कोर्ट में तारीख थी। इसके अलावा देवीलाल ने अन्य कई विभागों में भी उनके खिलाफ शिकायतें कर रखी हैं। इसके चलते वे काफी परेशान चल रहे थे।

  • ASI भर्ती होकर बना था SP, अब इस तरह किया लाइफ का The End
    +4और स्लाइड देखें
    चालक ने खोजबीन की तो उनका शव घर से करीब 100 मीटर की दूरी पर खून से लथपथ मिला। सूचना मिलने पर परिवार के लोग और पुलिस भी मौके पर पहुंची।
  • ASI भर्ती होकर बना था SP, अब इस तरह किया लाइफ का The End
    +4और स्लाइड देखें
    सुसाइड की सूचना के बाद एसपी मनीषा चौधरी, डीएसपी सुभाष ढांडा और सीन ऑफ क्राइम टीम ने मौके पर पहुंचकर जांच-पड़ताल की।
  • ASI भर्ती होकर बना था SP, अब इस तरह किया लाइफ का The End
    +4और स्लाइड देखें
    एएसआई के पद पर भर्ती हुए रामसिंह खूखार आतंकी जरनैल सिंह से भिड़ने के चलते हुए थे प्रोमोट। अब बताया जाता है कि बेटी के चाचा ससुर द्वारा जमीन को लेकर किए गए इस्तगासा को लेकर कोर्ट में हो रही बार-बार पेशी से परेशान होकर रिटायर्ड एसपी ने जान दी।
  • ASI भर्ती होकर बना था SP, अब इस तरह किया लाइफ का The End
    +4और स्लाइड देखें
    रामसिंह बिश्नोई हिसार और कुरुक्षेत्र बिश्नोई सभा के मेंबर थे इन दिनों।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Haryana News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: A Retired IPS Officer Ram Singh Bishnoi Commit Suicide At His Farm House
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Panipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×