--Advertisement--

९५ हजार रुपए छीनने के लिए जानवरों की तरह काट दिया ड्राइवर व हेल्पर को

९५ हजार रुपए छीनने के लिए जानवरों की तरह काट दिया ड्राइवर व हेल्पर को

Danik Bhaskar | Jan 21, 2018, 08:10 PM IST

करनाल। करनाल के गांव दरड़ के अड्डे पर 95 हजार रुपए छीनने के लिए एक मीट शॉप संचालक ने दोस्तों के साथ प्लािनंग बनाकर एक ट्रक के ड्राइवर और हेल्पर को जानवरों की तरह काट दिया। मीट काटने वाले दरांत से तब तक वार करते गए, जब तक उसकी मौत नहीं हुई। इस निर्मम हत्या को अंजाम देकर आरोपियों ने ड्राइवर का शव हाथ-पांव बांधकर सुलारू से दरड़ की तरफ जा रहा कच्चे रास्ते में दबा दिया, वहीं हेल्पर को भी हाथ-पांव बांधकर नहर में फेंक दिया था। 27 को हत्या, 5 को डेड बॉडी मिली, 17 जनवरी को पर्दाफाश...

- डीएसपी राजीव कुमार ने बताया कि ड्राइवर की पहचान राम मुकुट और हेल्पर अशोक उर्फ बुल्लू वासी थाना कलां, खरखौदा सोनीपत के रूप में हुई।
- इन दोनों की हत्या 27 दिसंबर की रात को की गई और बाइक पर ले जाकर उन्हें ड्राइवर का शव जमीन में दबाया।
- 5 जनवरी को कुत्तों ने जमीन को नोचा तो शव दिखाई दिया। पुलिस ने ड्राइवर की डेड बॉडी मिली, जिसके हाथ-पांव बंधे और तेजधार हथियार से वार किए गए थे।
- अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर पुलिस ने जांच की। 17 जनवरी को आरोपी जयबीर ने इस केस को कबूला। आरोपियों ने हेल्पर के हाथ उसी की शर्ट से बांधे हुए थे, जो सफीदों में डेड बॉडी मिली।

दारू पिला कर रहे थे हत्या और नाबालिग आरोपी दे रहा था पहरा
- डीएसपी राजीव कुमार ने बताया कि 27 दिसंबर की रात को ड्राइवर और हेल्पर मीट दुकान में मीट लेने गए और दारू पीने लगे।
- मीट के पैसे देते वक्त आरोपियों की नजर उसकी जेब पर पड़ गई और पैसों की गड्‌डी नजर आई। इस पर आरोपियों ने उसी दुकान में उनको दारू पीने के बैठा लिया। प्लानिंग के तहत जब आरोपी पैसे छिनने लगे तो उन्होंने विरोध किया।
- दुकान का शटर डाउन करके आरोपियों ने दरांत से उन्हें बुरी तरह काटकर मौत के घाट उतार दिया। इस दौरान नाबालिग आरोपी ने बंद शटर के आसपास पहरेदारी की।

छीनी गई रकम को बांट चुके हैं आरोपी
- वहीं सदर थाना के प्रभारी मनोज वर्मा ने बताया कि फिलहाल आरोपियों को कोई क्रिमिनल रिकॉर्ड नहीं है। 95 हजार रुपए जो छिने गए थे, वह आपस में बांट चुके हैं।
- दो आरोपियों के बारे में सामने आया है कि एक आरोपी 24 हजार रुपए ले जा चुका है और इनमें से दूसरा आरोपी छह हजार रुपए। इन सभी आरोपियों से रकम बरामद करनी है। पुलिस हर पहलू पर जांच कर रही है।
- डीएसपी राजीव कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि एसपी जश्नदीप सिंह रंधावा की तरफ से इस डबल ब्लाइंड मर्डर की गुत्थी सुझाने के लिए डीएसपी राजीव कुमार के नेतृत्व में एसआईटी गठित की गई। इसमें सदर थाना के प्रभारी मनोज वर्मा, रंबा चौकी के इंचार्ज बक्शा सिंह व सीआईए टू के इंचार्ज शामिल रहे।

ऐसे खुला भेद, ये किया गया रिकवर
- टीम ने जांच को बढ़ाते हुए उस एरिया के युवाओं पर नजर रखी। पता चला कि दरड़ गांव के कई युवा घर पर नहीं हैं। दबाव बनाया तो दरड़ गांव के जयकुमार ने कोर्ट में सरेंडर कर वारदात कबूली।
- सदर थाना पुलिस ने छह दिन के रिमांड के दौरान चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इस केस में और भी साथी सहयोगी हो सकते हैं।
- पुलिस द्वारा आरोपी की निशानदेही पर वारदात में प्रयोग किया गया छुरा, ड्राइवर राममुकुट के जूते, पर्स बरामद किया है।
- नाबालिग आरोपी को अंबाला सिटी सुधार घर में छोड़ दिया गया है। आरोपी सोनी और गुरविंद्र उर्फ दिपी को पुलिस टीम ने रविवार को मेरठ रोड से गिरफ्तार किया, जिन्हें सोमवार को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा।

फोटोज: चमन लाल