--Advertisement--

गइदबअद अइउह अद बिह कमगह अइतकि अदजिह

गइदबअद अइउह अद बिह कमगह अइतकि अदजिह

Danik Bhaskar | Jan 15, 2018, 07:27 PM IST
पानीपत के गांव उरलाना कलां में पानीपत के गांव उरलाना कलां में

पानीपत। पानीपत के गांव उरलाना कलां में छठीं कक्षा की छात्रा की हत्या के बाद रेप के मामले में डीजीपी बीएस संधू ने उरलाना खुर्द पुलिस चौकी के एसआई देवेंद्र सिंह को सस्पेंड कर दिया है, जबकि चौकी इंचार्ज रामेश्वर दत्त समेत पूरी चौकी के मुलाजिम को लाइन हाजिर कर दिया है। जिस वक्त गांव से छात्रा लापता हुई थी उस वक्त ग्रामीणों ने चौकी में ड्यूटी इंचार्ज की जिम्मेदारी संभाल रहे देवेंद्र को इसकी सूचना दी थी, मगर उन्होंने मामले में लापरवाही बरती और मौके पर पहुंचे थे। इसी लापरवाही को देखते हुए उन्हें सस्पेंड कर दिया गया है। यह मामला मंगलवार को ही हुई कैबिनेट की बैठक में भी उछल चुका है। इनको किया गया लाइन हाजिर...

- डीजीपी बीएस संधू ने उरलाना कलां पुलिस चौकी इंचार्ज रामेश्वर दत्त, एसआई जगबीर, एएसआई बदन सिंह, सुरेश कुमार, रमेश कुमार, हवलदार नरेश, सुभाष, विवेक, बहादुर, सिपाही मनोज कुमार व जगबीर सिंह को लाइन हाजिर कर दिया है।

यह है मामला
- बताते चलें कि लोहड़ी के दिन उरलाना कलां गांव में छठीं कक्षा की छात्रा संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गई थी। अगले दिन उसका शव गंदे नाले में नग्न अवस्था में मिला था। छात्रा लोहड़ी के दिन घर से कूड़ा डालने के लिए गई थी।

- स्नीफर डॉग की मदद से पुलिस ने मामले में गांव के ही प्रदीप व सागर को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने प्रदीप के घर से ही छात्रा के जले हुए कपड़े बरामद किए थे।

- दोनों ने पुलिस पूछताछ में बताया था कि उन्होंने शराब के नशे में उसकी हत्या कर रेप किया था। दोनों आरोपी फिलहाल दो दिन के रिमांड पर है।

आरोपी के घर पहुंचा डॉग, हैवानियत के सबूत मिले

- रेप के मामले की गुत्थी डॉग स्क्वायड टीम के आने के बाद पुलिस ने सुलझा दी थी। नाले के पास शव को सूंघकर डॉग आरोपी प्रदीप के घर पर पहुंच गया।

- उसके घर का ताला बंद था। पुलिस ने ताला खोलकर जांच की तो अंदर छात्रा के साथ हैवानियत के सबूत मिले। छात्रा के कपड़े जले हुए मिले, खून के निशान मिले।

- जिस कूड़ादान में बच्ची कचरा फेंकने जा रही थी, वो भी वहां मिल गया। प्रदीप पर पुलिस को शक हुआ तो भीड़ से उसे पकड़कर थाने ले गई।

- पूछताछ में पहले तो वह कहता रहा कि आप कैसी बात कर रहे हो वह मेरी दोहती लगती है। लेकिन हर बार अलग-अलग बयान देने पर वह खुद ही फंस गया।

- पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो उसने सागर के साथ मिलकर वारदात करना कबूल लिया। इसके बाद पुलिस सागर को भी मौके से पकड़कर ले गई।

- पूछताछ में दोनों ने कबूला कि हत्या व रेप के बाद उन्होंने पराली में आग लगाकर छात्रा के कपड़े जलाए थे, ताकि कोई सबूत न मिले।

नानी बोली- रात 12 बजे आरोपी दिखे भी, लेकिन भाग गए

- नानी ने बताया कि दोहती के लापता होने पर परिजन उसकी तलाश कर रहे थे। रात करीब 12 बजे जहां पर शव मिला, उससे थोड़ी दूरी पर सागर मिला था, लेकिन वह हम लोगों को देखकर कुछ नहीं बोला और वहां से चला गया।

- रविवार को शव मिलने के बाद लोगों में रोष था। जैसे ही शव को पुलिस पानीपत लाने लगी तो महिलाओं व अन्य लोग गाड़ी के आगे खड़े हो गए। आरोपियों के पकड़े जाने के बाद ही शव ले जाने की बात कही।

- एसपी राहुल शर्मा ने महिलाओं को समझाया तो वो हाथ जोड़कर बोलीं कि आरोपी को पकड़कर हमारे सामने लाया जाए। इस पर एसपी ने भी हाथ जोड़कर कहा कि आरोपी को किसी भी कीमत में नहीं छोड़ा जाएगा। इसके बाद सीआईए-3 प्रभारी प्रवीण शर्मा भीड़ में खड़े प्रदीप को पूछताछ के लिए लेकर गए।

शरीर पर नोचने के निशान
- सिविल अस्पताल में मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया गया। बच्ची के सीने पर नोचने के निशान मिले। आरोपियों ने करीब 5 बजे बच्ची को घर के अंदर खींचा था। करीब 7 बजे उन्होंने हत्या कर दी।

- अंधेरा होने और गांव में सबके सो जाने के बाद रात करीब 11 बजे दोनों शव को फेंककर आए। रास्ते में शव को घसीटते हुए ले जाने के निशान मिले हैं। रास्ते में बच्ची की शॉल भी पड़ी मिली।