--Advertisement--

भाई से बात कर रही लड़की किडनैप, चलती गाड़ी में दो घंटे दरिंदगी के बाद हाईवे पर फेंका

भाई से बात कर रही लड़की किडनैप, चलती गाड़ी में दो घंटे दरिंदगी के बाद हाईवे पर फेंका

Danik Bhaskar | Jan 15, 2018, 11:51 AM IST
फरीदाबाद में एक युवती को किडनै फरीदाबाद में एक युवती को किडनै

फरीदाबाद। फरीदाबाद में सरे राह एक लड़की का अपहरण कर लिया जाता है, और उसके साथ चलती गाड़ी में दो घंटे तक गैंगरेप किया गया, उसके बाद लड़की को बीच हाईवे पर तड़पने के लिए छोड़ दिया गया, जबकि अपहरण के दौरान प्रत्यक्षदर्शियों ने पुलिस को सूचित किया। इसके बावजूद पुलिस लड़की की इज्जत बचाने में नाकाम रही। जिस वक्त लड़की को किडनैप किया गया, वह अपने भाई से फोन पर बात कर रही थी। स्कॉर्पियो गाड़ी में डालने के बाद उसके साथ दरिंदगी की गई। अब पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी है। यह था पूरा मामला...

- मिली जानकारी के मुताबिक शनिवार शाम को काम से लौट रही लड़की को फरीदाबाद में नेशनल हाईवे पर राजीव गांधी चौक से सरेआम स्काॅर्पियो गाड़ी में अगवा किया गया।
- प्रत्यक्षदर्शियों ने कंट्रोल रूम पर फोन कर पुलिस को सूचना भी दी। दरिंदों ने चलती कार में 2 घंटे से अधिक समय तक दरिंदगी करने के बाद लड़की को हाईवे पर ही फरीदाबाद और पलवल के बीच सीकरी में छोड़ कर फरार हो गए।
- अपहरकर्ताओं ने जब लड़की का अपहरण किया तो उस वक्त वह अपने बुआ के बेटे से फोन पर बात कर रही थी। फोन पर लड़की के अपहरण का संशय होने पर बुआ के बेटे ने भी पुलिस को अपहरण की सूचना दी।
- पुलिस जब तक आरोपियों और लड़की की लोकेशन का पता लगाती तभी पीड़िता के बुआ के बेटे के पास पीड़िता ने फोन कर के बताया कि, आरोपी उसे सीकरी इलाके में छोड़ कर भाग गए।
- पीड़िता को सीकरी से बरामद करने के बाद पुलिस ने उसके बयान लिए। पीड़िता का मेडिकल कराने के बाद 4 लोगों के खिलाफ अपहरण और 3 क खिलाफ गैंग रेप का मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस ने इस मामले में मुकदमा तो दर्ज कर लिया है, लेकिन घटना के 24 घंटे बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं।
- पुलिस ने बताया कि स्कॉर्पियो सवार आरोपियों के द्वारा थाना ओल्ड के एरिया से एक लड़की का अपहरण कर उसके साथ गैंगरेप किया है। मामले में आरोपियों को जल्द से जल्द पकड़ने के लिए आज एसआईटी का गठन किया गया है।
- एसआईटी की अध्यक्ष पूजा डाबला, क्राइम अगेंस्ट वुमैन होंगी। उनके नेतृत्व में क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 प्रभारी इंस्पेक्टर सतेंदर रावल, क्राइम ब्रांच सेक्टर 85 प्रभारी इंस्पेक्टर राजेंद्र और थाना प्रबंधक ओल्ड, इंस्पेक्टर राजवीर सिंह की अलग-अलग टीमें बनाई गई हैं। इस केस में गहनता से तफ्तीश की जा रही है आरोपियों को जल्दी पकड़ लिया जाएगा।