--Advertisement--

३ बदमाशों ने किडनैप कर अंधेरे कमरे में रखा, १३ दिन बाद लड़की ने बताई ये कहानी

३ बदमाशों ने किडनैप कर अंधेरे कमरे में रखा, १३ दिन बाद लड़की ने बताई ये कहानी

Dainik Bhaskar

Dec 13, 2017, 12:38 PM IST
गांव में अपने भैंसे रुस्तम के गांव में अपने भैंसे रुस्तम के

जींद। जींद के गतौली गांव के रिटायर्ड आर्मी कैप्टन हरिओम के भैंसे रुस्तम ने पंजाब के जगराओ में हुई आल इंडिया पशु प्रदर्शनी में पहला पुरस्कार 1 लाख 71 हजार रुपये जीता है। इससे पहले भी रुस्तम वर्ष 2013-14 में लगातार ट्राफियां जीतकर चैंपियन रह चुका है। गांव पहुंचने पर भैंसे का ढोल व फूल मालाओं के साथ स्वागत किया गया। यह प्रतियोगिता 1 से 11 दिसंबर तक पंजाब के जगराओ में आयोजित की गई थी। घी, बादाम खाता है रुस्तम...

- कैप्टन हरिओम ने बताया कि 5.8 फीट ऊंचाई 15.3 फीट की लंबाई वाले रुस्तम की प्रतिदिन खुराक 300 ग्राम घी, 3 किलोग्राम चना, आधा किलो मेथी, 100 ग्राम बादाम, 10 किलोग्राम दूध, साढ़े तीन किलोग्राम गाजर है। रूस्तम के बैठने के लिए मैट बिछा रखे हैं।
- कैप्टन ने बताया कि पंजाब में हुई आल इंडिया प्रदर्शनी में रुस्तम को 11 करोड़ रुपये की कीमत लगी थी। लेकिन उन्होंने बेचने से इनकार कर दिया। रुस्तम की मां अभी भी उसके पास है जो 25.5 किलोग्राम दूध देती है।

500 रुपये जीतकर की थी शुरूआत

- रुस्तम ने इनाम जीतने का सिलसिला गांव में ही प्रदर्शनी से शुरू किया था। इस प्रदर्शनी में रुस्तम ने 500 रुपए जीते थे।
- वर्ष 2014 में झज्जर में हुई पशु चैंपियनशिप में पहला स्थान प्राप्त किया।
- पिछले दिनों मेरठ के सरदार बल्लभ भाई पटेल कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय की ओर से आयोजित की गई प्रतियोगिता में टॉप किया था। वर्ष 2016 में भी रुस्तम को प्रथम स्थान मिला था।
- पटियाला में आयोजित 10वीं राष्ट्रीय पशुधन चैंपियनशिप में भी चैंपियन की बाजी मारी।
- हरिओम अब हिसार व करनाल में फरवरी माह में होने वाली पशु प्रदर्शनी प्रतियोगिता के लिए रुस्तम को तैयार किया जा रहा है उन्हें पूरा विश्वास है कि वह पहला स्थान प्राप्त करने में पीछे नहीं रहेगा।
- हरिओम ने बताया कि राष्ट्रीय डेयरी अनुसंधान संस्थान द्वारा ही मुर्राह नस्ल के इस भैंसे का नामकरण किया हुआ है।

X
गांव में अपने भैंसे रुस्तम के गांव में अपने भैंसे रुस्तम के
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..