Hindi News »Haryana »Panipat» CBI Will Get Accused 11th Class Student Fingerprint | Pradyuman Murder Case

किदीहउीअर इउाीअइदउ हीरिजहद

किदीहउीअर इउाीअइदउ हीरिजहद

Balraj Singh | Last Modified - Dec 19, 2017, 11:05 AM IST

फरीदाबाद। गुड़गांव के बहुचर्चित प्रद्युमन मर्डर केस में मंगलवार को सीबीआई टीम 11वीं क्लास के आरोपी स्टूडेंट के फिंगर प्रिंट लेने के लिए फरीदाबाद स्थित बाल सुधार गृह पहुंची। दूसरी ओर इस मामले की अगली सुनवाई 20 दिसंबर को होगी, जिसमें तय हो पाएगा कि उसे बालिग मानकर ट्रीट किया जाए या नाबालिग मानकर केस का ट्रयल चलेगा। 15 दिसंबर की सुनवाई में जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड ने आरोपी स्टूडेंट की जमानत खारिज करते हुए सुनवाई के लिए 20 दिसंबर की तारीख तय की थी। कोर्ट ने टिप्पणी की थी कि आरोपी किसी भी तरह की राहत का पात्र नहीं है। आरोपी स्टूडेंट की फैमिली ने किया ऐतराज...

- बता दें कि सीबीआई की टीम डीएसपी एके बस्सी के नेतृत्व में मंगलवार दोपहर फरीदाबाद स्थित बाल सुधार गृह पहुंची, जहां प्रद्युम्न मर्डर केस के आरोपी 11वीं क्लास के स्टूडेंट काे ज्यूडिशियल कस्टडी में रखा गया है।

- 2 बजे से 3 बजे तक टीम ने अपनी कार्यवाही को पूरा किया और फिर वापस रवाना हो गई। यह सारी कार्यवाही कोर्ट की तरफ से अप्वाइंट दो वकीलों की मौजूदगी में हुई।

- दूसरी ओर छात्र के परिजनों ने सीबीआई टीम का विरोध जताया। उनका कहना था कि कोर्ट के ऑर्डर के मुताबिक सीबीआई टीम को फिंगरप्रिंट लेने के लिए 2 बजे का वक्त दिया गया था, लेकिन टीम ने पहले पहुंचकर ठीक नहीं किया है।

- हालांकि कोर्ट की तरफ से अप्वाइंट वकीलों की मानें तो इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि सीबीआई की टीम पहले पहुंच गई थी। उनका कहना था कि सीबीआई टीम ने अपनी कार्यवाही उन्हीं की मौजूदगी में पूरी की है।

बुधवार को तय होगा-आरोपी को बालिग मानें या नाबालिग

- छात्र पर जिस बर्बरता से वारदात को अंजाम दिए जाने का आरोप है, उस हिसाब से नाबालिग आरोपी छात्र को वयस्क अपराधियों की श्रेणी में रखा जाए या नहीं? इस विषय में बीते 15 दिसंबर को जुवेनाइल कोर्ट में पक्ष-प्रतिपक्ष के वकीलों ने बहस की।

- बहस में आरोपी छात्र के पिता ने जमानत याचिका लगाई थी। आरोपी की जमानत याचिका को खारिज करते हुए जुवेनाइल कोर्ट ने कहा कि आरोपी को कोई भी राहत नहीं मिलेगी।
- इस बहस में सीबीआई ने आरोपी छात्र को आक्रामक और उत्तेजित बताया है। फिलहाल, यह बहस पूरी होने के बाद कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है।
- 20 दिसंबर को सुबह 10 बजे आने वाले अहम फैसले में यह पता चलेगा कि आरोपी छात्र को वयस्क अपराधियों की श्रेणी में रखा जाए या नहीं।

8 सितंबर को की गई थी प्रद्युम्न की गला रेतकर हत्या
- उल्लेखनीय है कि 8 सितंबर को रेयान स्कूल में 7 साल के प्रद्युम्न की गला रेतकर बेरहमी से हत्या हुई थी। हरियाणा पुलिस ने उसी दिन स्कूल बस के कंडक्टर अशोक को गिरफ्तार कर लिया था।
- बाद में मामला सीबीआई को सौंपा गया, जिसके बाद इस सनसनीखेज हत्याकांड में बड़ा मोड़ आया। सीबीआई ने जांच के बाद स्कूल के ही 11वीं के एक छात्र को गिरफ्तार किया।
- सीबीआई का दावा है कि आरोपी छात्र ने पीटीएम और परीक्षा को टालने के लिए इस मर्डर को अंजाम दिया था। सीबीआई जांच से हरियाणा पुलिस की भूमिका पर गंभीर सवाल खड़े हुए। आरोपी कंडक्टर को भी जमानत मिल चुकी है।

फोटोज: शिव कुमार

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Panipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×