--Advertisement--

यहां जो भी आया-दोबारा सरकार नहीं बना पाया, अब १७ साल बाद कोई सीएम पहुंचा

यहां जो भी आया-दोबारा सरकार नहीं बना पाया, अब १७ साल बाद कोई सीएम पहुंचा

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2018, 08:17 PM IST
सीएम के काफिले की अगुवाई करते सीएम के काफिले की अगुवाई करते

करनाल। उत्तर प्रदेश में ग्रेटर नोयडा और हरियाणा में मधुबन पुलिस एकेडमी। ये दो ऐसी जगहें हैं, जहां जो भी सीएम पहुंचा, वह दोबारा सत्ता नहीं बचा पाया। मिथक को लेकर चर्चा में एक जगह पर बीते दिनों योगी आदित्य नाथ पहुंचे थे, वहीं दूसरी जगह रविवार को हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने एक प्रोग्राम में शिरकत की है। आज मधुबन पुलिस एकेडमी में पासिंग आउट परेड में 4358 जवानों को खट्टर ने संबोधित किया, वहीं इससे पहले 2001 में तत्कालीन सीएम ओमप्रकाश चौटाला एक प्रोग्राम में आए थे। इस तरह समझें पूरी कहानी...

- इस दौरान डीजीपी बीएस संधू ने बताया कि मधुबन पुलिस ट्रेनिंग सेंटर की स्थापना जनवरी 1976 में हुई थी। अब तक यहां से 2 लाख 50 हजार जवान प्रशिक्षण ले चुके हैं।
- डीजीपी ने कहा कि 500 एकड़ में फैले इस सेंटर को लेकर एक कहानी बन चुकी है कि आज तक जो भी मुख्यमंत्री यहां आया है, वह दोबारा सत्ता में नहीं आया।
- डीजीपी के कहे और अब तक के इतिहास पर गौर करें तो आखिरी बार 2001 में तत्कालीन मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला यहां एक प्रोग्राम में पहुंचे थे।
- हालांकि इसमें भी कोई दो राय नहीं कि ओमप्रकाश चौटाला उसके बाद सत्ता में रहे और साथ ही इन दिनों बेटे अजय के साथ जेबीटी भर्ती घोटाले को लेकर तिहाड़ जेल में सजा काट रहे हैं।
- उनके बाद दो बार सीएम रहे भूपेंद्र सिंह हुड्डा, लेकिन वह भी शायद इसी मिथक के चलते हरियाणा पुलिस एकेडमी में नहीं आए।
- साथ ही ध्यान देने वाली बात यह भी है कि यहां आने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री बंसीलाल, पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री पी चिदंबरम सहित कई मंत्रियों की भी कुर्सी गई है। ओमप्रकाश चौटाला के बाद रविवार को 17 साल बाद मनोहर लाल के रूप में फिर से कोई सीएम है, जो यहां पहुंचा है। इसी बीच पुरानी बातों को आधार बनाकर खट्टर की सरकार जाना तय मानते हुए हजारों पुलिस कर्मचारियों के बीच खूब चर्चा रही।

समाज की सेवा करने वाले सिपाही पैदा करने वाली जगह अशुभ कैसे हो सकती है
- इस दौरान सवाल करने पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा, मैंने माना कि जहां पर विभिन्न राज्यों के पुलिस के कर्मचारी, अधिकारी सहित अन्य विभागों के कर्मचारी व अधिकारी यहां से ट्रेनिंग लेकर जाते हैं, जो समाज की अच्छी सेवा करते हैं। ऐसे लोगों को मंच देने वाली जगह किसी के लिए अशुभ कैसे हो सकती है। इसी भ्रांति को तोड़ने के लिए आज हम यहां आए हैं।

फोटोज: चमन लाल

X
सीएम के काफिले की अगुवाई करते सीएम के काफिले की अगुवाई करते
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..