Hindi News »Haryana »Panipat» Court Sentenced Life Imprisonment Lovers In Murder Case

प्रेमिका के साथ मिलकर भतीजे का कर दिया था मर्डर, अब दोनों को मिली ये सजा

प्रेमिका के साथ मिलकर भतीजे का कर दिया था मर्डर, अब दोनों को मिली ये सजा

Manoj Kaushik | Last Modified - Feb 01, 2018, 07:42 PM IST

यमुनानगर। प्रेमी के साथ मिलकर जेठानी के साढ़े तीन साल के बच्चे की हत्या कर शव को सूटकेस में रखने वाले प्रेमी जोड़े को कोर्ट ने उम्रकैद और 25-25 हजार रुपए जुर्माना भी लगाया है। इस मामले में कोर्ट ने दोषी रोहित की मां किरना को बरी कर दिया। इस मामले की कोर्ट में एक साल सुनवाई चली। सरकारी वकील जीके टंडन ने बताया कि सेशन जज जगदीप जैन की कोर्ट ने दोषी रोहित (प्रिंस का रिश्ते में चाचा लगता था), उसकी प्रेमिका पूजा (प्रिंस की सगी चाची) को आईपीसी की धारा 302 और 364 में सजा सुनाई। बच्चे की मां ने देखा था आपत्तिजनक हालत में...

- घटना फरवरी 2017 की है। पुलिस पूछताछ में आरोपी रोहित और पूजा ने बताया था कि दोनों के बीच अवैध संबंध थे। बच्चे प्रिंस की मां ममता ने दोनों को आपत्तिजनक हालत में पकड़ लिया था।

- इस पर विवाद हुआ था। विवाद के बाद मारपीट भी हुई थी। यहीं से दोनों ने ममता से बदला लेने का प्लान बनाया और साढ़े तीन साल के बच्चे प्रिंस को बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया था।

ऐसे दिया था वारदात को अंजाम

- 15 फरवरी 2017 को रोहित और पूजा ने प्रिंस की हत्या करने की प्लानिंग बनाई। रोहित उसे बहलाकर अपने घर ले आया। दोनों ने चुन्नी से प्रिंस का गला दबा दिया।
- उसकी मौत होने पर उन्होंने शव को बोरी में डालकर अपने घर में सूटकेस में छिपा दिया। शाम को जैसे ही प्रिंस के गायब होने की बात गांव में फैली तो सभी उसकी तलाश में लग गए।
- इस दौरान रोहित और पूजा भी प्रिंस की तलाश में लगे रहे। रात करीब 11 बजे जब सभी सो गए तो उन्होंने घर से उठाकर प्रिंस के शव को गांव के जोहड़ में फेंक दिया।
- सुबह जब प्रिंस का शव जोहड़ में पड़ा होने का पता चला तो रोहित वहां पर भी सबसे आगे रहा।

ऐसे हुआ था शक

- 15 फरवरी को रोहित और प्रिंस की माता ममता एक किसान के खेत में काम कर रही थी। दोपहर करीब एक बजे रोहित बीच में काम छोड़ यह कहते हुए घर आ गया कि उसे नौकरी का फार्म भरने जाना है।
- जबकि वह कहीं नहीं गया। वहीं गांव के ही कुछ लोगों ने भी रोहित को प्रिंस को अपने साथ घर ले जाते हुए देखा था। यहीं से उस पर शक पैदा हुआ और जब रोहित से पूछताछ की तो उसने पूरा राज उगल दिया।
- उसने बताया था कि पूजा का फोन आने पर ही वह खेत से गांव गया था और उन्होंने घर आने पर दोनों ने मिलकर प्रिंस की हत्या कर दी थी।

मां बोली, इकलौता बेटे के हत्यारों को सजा दिलाकर अब चैन मिला

- बच्चे की मां ममता ने बताया कि प्रिंस उनका इकलौता बेटा था। वह तो एक बार मानसिक संतुलन भी खो बैठी थी, लेकिन किसी तरह परिवार के लोगों ने उन्हें हिम्मत दी।

- इसके बाद उसने मन में सोचा कि अब डटकर लडऩा है और बेटे हत्यारों को सजा दिलाने तक यह लड़ाई लड़ेगी।
- शाम करीब साढ़े तीन बजे जैसे ही पता चला कि कोर्ट ने दोनों को उम्रकैद की सजा सुनाई तो उसे लगा कि उसने यह लड़ाई जीत ली है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Panipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×