Hindi News »Haryana News »Panipat» DITAC Gurgaon Also Could Not Find Any Clue Harddisks Recovered From The DERA

हिंसा के बाद डेरे से मिली 65 हार्डडिस्क और दूसरी चीजों से नहीं खुला कोई राज

Kuldeep Sharma | Last Modified - Jan 02, 2018, 06:33 PM IST

डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को 25 अगस्त 2017 को पंचकूला स्थित सीबीआई कोर्ट ने दोषी करार दिया था।
  • हिंसा के बाद डेरे से मिली 65 हार्डडिस्क और दूसरी चीजों से नहीं खुला कोई राज
    +5और स्लाइड देखें
    डेरा सच्चा सौदा सिरसा का गेट, जिसके चीफ गुरमीत राम रहीम सिंह को साध्वियों से यौन शोषण के मामले में 20 साल की कैद और जुर्माने की सजा हो चुकी है। राम रहीम को दोषी करार दिए जाने के बाद पंचकूला-सिरसा समेत आसपास के इलाके में हिंसा भड़क गई थी, जिसके बाद पुलिस ने यहा सर्च के दौरान कुछ सबूत मिटाए जाने की बात को लेकर सर्च किया था।

    सिरसा। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को यौन शोषण में दोषी करार दिए जाने के बाद डेरे से बरामद की गई 65 हार्ड-डिस्क से पुलिस के हाथ कोई राज नहीं लग सका। दरअसल इन हार्ड-डिस्क के अलावा हनीप्रीत के बैग, लैपटॉप और अन्य दस्तावेजों को जांच के लिए गुड़गांव स्थित डिजिटल इन्वेस्टिगेशन ट्रेनिंग एंड एनालिसिस सेंटर (DITAC) में भेजा गया था। 3 महीने बाद भी लैब के एक्सपर्ट जब कुछ हासिल नहीं कर पाए तो अब हरियाणा पुलिस किसी दूसरे राज्य संभवत: नई दिल्ली की किसी लैब से हार्ड डिस्क की जांच करवाने की तैयारी में है। फिलहाल इस बारे में सिरसा के एसपी से बात की गई तो उन्होंने इन सभी चीजाें की विभिन्न लैब्स से जांच-पड़ताल जारी होने की बात कही है।

    - बताते चलें कि डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को 25 अगस्त 2017 को पंचकूला स्थित सीबीआई कोर्ट ने साध्वियों से यौन शोषण के मामले में दोषी करार दिया था। इसके बाद 28 अगस्त को रोहतक की जिला जेल में स्पेशल कोर्ट लगाकर राम रहीम को 20 साल की कैद, 28 लाख हर्जाने और 2 लाख जुर्माने की सजा सुनाई गई थी।

    - इसी बीच 25 अगस्त को पंचकूला समेत हरियाणा व आसपास के राज्यों में हिंसा भड़क गई थी। इसमें लगभग 40 लोगों की माैत हो गई, वहीं पौने 3 सौ के करीब घायल हो गए थे। सिरसा में भी इनमें से 6 लोगों की मौत गोलीबारी में हुई थी। करोड़ों रुपयों की सरकारी संपति को आग के हवाले कर दिया गया था।
    - इसके बाद पुलिस ने डेरा सच्चा सौदा के आईटी विंग के हेड विनीत को गिरफ्तार किया था। उसने पुलिस की पूछताछ में कबूल किया था कि उसने हार्डडिस्क निकालकर डेरा के खेतों में बने टाॅयलेट में फेंक दी थी।
    - पुलिस ने वो हार्ड-डिस्क बरामद की, वहीं सर्च ऑपरेशन के दौरान भी कुछ डैमेज पैन ड्राइव और हार्ड डिस्क बरामद हुई थी। पुलिस का मानना है कि इन हार्ड डिस्क में डेरे से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारियां छिपी हुई है। पंचकूला और सिरसा में हुई हिंसा व आगजनी की घटनाओं के बारे में भी इनमें सबूत छिपे हुए हैं।
    - साथ ही यह बात भी उल्लेखनीय है कि डेरे में करीब 5 हजार सीसीटीवी कैमरे लगे हुए थे, जिनमें डेरे के अंदर होने वाली तमाम गतिविधियां रिकाॅर्ड थी। उन्हें नष्ट करने के उद्देश्य से ही हार्डडिस्क को डैमेज किया गया था।

    हनीप्रीत के बैग से भी नहीं खुला राज
    - सिरसा से पंचकूला एसआईटी की टीम को मिले हनीप्रीत के काले रंग के बैग का राज भी अभी तक पुलिस को नहीं मिला है। उसमें एक लैपटॉप, हार्डडिस्क, पैन ड्राइव और अन्य सामान था। यह बैग भी गुडगांव स्थित डिजिटल जांच प्रशिक्षण एवं विशेषण केंद्र (डाईटेक) में जांच के लिए भेजा हुआ है।

    अब क्या कहते हैं पुलिस अधिकारी?
    - गुड़गांव के डिजिटल इन्वेस्टिगेशन ट्रेनिंग एंड एनालिसिस सेंटर के एक्सपर्ट तीन महीने बीतने के बाद भी कोई राज हासिल नहीं कर पाए तो उन्होंने अपनी असमर्थता जाहिर कर दी।
    - इस संबंध में सिरसा एसपी सिमरदीप सिंह ने ज्यादा जानकारी तो नहीं दी, मगर इतना जरूर कहा कि हार्डडिस्क की अलग-अलग लैब से जांच करवाई जा रही है। हालांकि अभी तक की जांच के दौरान कोई राज पुलिस के हाथ नहीं लगा है, लेकिन जरूरत पड़ी तो किसी अन्य लैब की भी मदद ली जाएगी।

    किस मामले में बाबा को सजा हुई है?

    - 2002 में एक साध्वी ने गुमनाम चिट्ठी लिखी। इसमें बताया गया था कि कैसे डेरा सच्चा सौदा के अंदर लड़कियों का सेक्सुअल हरेसमेंट होता था। यह चिट्ठी पंजाब और हरियाणा कोर्ट को भी भेजी गई थी। इसके बाद डेरा सच्चा सौदा प्रमुख के खिलाफ यौन शोषण का केस शुरू हुआ और सीबीआई ने जांच शुरू की।
    - 15 साल बाद सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने गुरमीत राम रहीम सिंह को दोषी करार दिया। माना जाता है कि ये चिट्ठी राम रहीम के 20 साल ड्राइवर रहे रणजीत सिंह की बहन ने लिखी थी। बाद में रणजीत का मर्डर हो गया था। इसका शक भी बाबा समर्थकों पर जताया गया। यह केस भी पंचकूला की सीबीआई अदालत में चल रहा है।

    क्या सजा सुनाई थी कोर्ट ने राम रहीम को?
    - डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम को 28 अगस्त को CBI की स्पेशल कोर्ट ने 10-10 साल की सजा सुनाई। यानी डेरा चीफ को कुल 20 साल जेल में गुजारने होंगे। कोर्ट ने राम रहीम पर कुल 30 लाख रुपए का जुर्माना लगाया। इसमें 15-15 लाख रुपए का जुर्माना दो रेप केस के लिए है। 14-14 लाख रुपए दोनों रेप विक्टिम साध्वियों को हर्जाने के रूप में देने होंगे। सजा सुनाए जाने पर राम रहीम कोर्ट रूम में फूट-फूटकर रोने लगा।

  • हिंसा के बाद डेरे से मिली 65 हार्डडिस्क और दूसरी चीजों से नहीं खुला कोई राज
    +5और स्लाइड देखें
    राम रहीम के साथ उसकी मुंहबोली बेटी प्रियंका तनेजा उर्फ हनीप्रीत, जो 38 दिन बाद पंजाब से अरेस्ट की गई थी। फाइल फोटो
  • हिंसा के बाद डेरे से मिली 65 हार्डडिस्क और दूसरी चीजों से नहीं खुला कोई राज
    +5और स्लाइड देखें
    बाबा को दोषी करार दिए जाने के बाद हनीप्रीत जहां लाल बैग को लेकर पुलिस के निशाने पर थी, वहीं डेरे से उसका एक काला बैग भी मिला था, जिससे काफी कुछ राज खुलने की पुलिस को आस थी।
  • हिंसा के बाद डेरे से मिली 65 हार्डडिस्क और दूसरी चीजों से नहीं खुला कोई राज
    +5और स्लाइड देखें
    सीबीआई कोर्ट में दोषी करार दिए जाने के बाद राम रहीम को हेलीकॉप्टर से सीधे रोहतक भेजा गया था।
  • हिंसा के बाद डेरे से मिली 65 हार्डडिस्क और दूसरी चीजों से नहीं खुला कोई राज
    +5और स्लाइड देखें
    सुनारियां गांव में स्थित रोहतक की जिला जेल, जहां डेरा चीफ राम रहीम सजा काट रहा है।
  • हिंसा के बाद डेरे से मिली 65 हार्डडिस्क और दूसरी चीजों से नहीं खुला कोई राज
    +5और स्लाइड देखें
    सर्च के दौरान डेरे में मिली गुफा का रास्ता।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Haryana News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: DITAC Gurgaon Also Could Not Find Any Clue Harddisks Recovered From The DERA
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      More From Panipat

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×