--Advertisement--

अवैध प्लॉटों की रजिस्ट्री करने वाले २ तहसीलदार और २ नायब तहसीलदार पर स्नढ्ढक्र दर्ज

अवैध प्लॉटों की रजिस्ट्री करने वाले २ तहसीलदार और २ नायब तहसीलदार पर स्नढ्ढक्र दर्ज

Danik Bhaskar | Jan 08, 2018, 06:56 PM IST

फरीदाबाद। झाड़ सेंतली गांव के रकबे में मलेरना रोड पर अवैध रूप से काटे गए प्लॉटों की रजिस्ट्री करने वाले दो तहसीलदार और दो नायब तहसीलदारों के खिलाफ 16 इंडियन रजिस्ट्रेशन एक्ट 1908 की धारा 81 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। रविवार रात दर्ज हुई इस एफआईआर में बल्लभगढ़ तहसील में तैनात रहे तहसीलदार नरेश जोवल, रणविजय और नायब तहसीलदार वीरेंद्र और चेतराम के नाम शामिल हैं। आईजी सीआईडी और सीएम फ्लाइंग का चार्ज संभाल रहे अनिल राव के आदेश पर मुकदमा दर्ज हुआ है। शिकायतकर्ता सीएम फ्लाइंग के डीएसपी दिनेश यादव हैं।

- डीएसपी यादव के मुताबिक पिछले माह उन्होंने प्लाटिंग स्थल का औचक निरीक्षण किया था। करीब 15 एकड़ जमीन पर 300 से अधिक प्लॉट बेचे गए। तहसील कार्यालय से अवैध रजिस्ट्रियों का रिकॉर्ड हासिल किया था।
- जांच में पता चला कि इसी भूखंड पर करीब 100 प्लॉटों की अवैध रूप से रजिस्ट्री की गई थी। इसकी रिपोर्ट बनाकर उच्चाधिकारियों को भेजी थी। रिपोर्ट को सही मानते हुए अब एफआईआर दर्ज करने की कार्रवाई की गई है।

2014-2015 के बीच हुई थीं रजिस्ट्रियां
- झाड़ सेंतली गांव की जमीन साहूपुरा-मलेरना रोड के दोनों तरफ लगती है। मलेरना रेलवे फ्लाईओवर के आसपास करीब 15 एकड़ जमीन पर कुबेर इंफ्रास्ट्रक्चर ने प्लाटिंग की थी। वर्ष 2014 से 2015 तक 15 एकड़ जमीन को टुकड़ों में बांट दिया गया।
- नियमानुसार कृषि योग्य भूमि की रजिस्ट्री करने के लिए पहले जिला नगर योजनाकार से एनओसी लेनी होती है। इसके बाद इसका सीएलयू कराना पड़ता है। प्लाटिंग करने वाले भूमाफियाओं ने नियम विरुद्ध प्लाटिंग की। बाद में इन्हीं लोगों ने तत्कालीन तहसीलदार व नायब तहसीलदार के कार्यकाल में करीब 100 से अधिक रजिस्ट्रियां भी टुकड़ों में करा दीं।