Hindi News »Haryana »Panipat» Five Killed On The Spot In A Collision Between A Car And A Private Bus

हादसे में खत्म हुईं 5 जिंदगियां, साल का पहला दिन बना जिंदगी का अंतिम दिन

बहादुरगढ़ सेक्टर-7 के रहने वाले एक परिवार के 6 लोग राजस्थान के पिलानी गए हुए थे।

Devendra Shukla/Ram Verma | Last Modified - Jan 02, 2018, 11:04 AM IST

  • हादसे में खत्म हुईं 5 जिंदगियां, साल का पहला दिन बना जिंदगी का अंतिम दिन
    +10और स्लाइड देखें
    झज्जर जिले में गांव खातीवास के पास सोमवार देर शाम सड़क हादसे में आई-10 कार पूरी तरही डैमेज हो गई। इस कार में सवार हो मूल रूप से राजस्थान की फैमिली यहां बहादुरगढ़ लौट रही थी।

    झज्जर। झज्जर में नए साल के पहले दिन की शाम एक परिवार के 5 लोगों के लिए आखिरी शाम बन गई, वहीं 7 साल की एक बच्ची व एक महिला पीजीआई में जिंदगी से लड़ रही हैं। इन सभी को पास की फैक्ट्री में काम कर रहे लोगों ने जेसीबी की मदद से निकाला। मरने वालों में भी तीन महिलाएं हैं। हादसा सोमवार देर शाम पौने 6 बजे तब हुआ, जब जिले के बहादुरगढ़ में रह रहा राजस्थान के पिलानी का यह परिवार पिलानी से लौट रहा था। अचानक एक निजी बस से इनकी कार की टक्कर हुई और पांच ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। कार को ओवरटेक की कोशिश में हुआ हादसा, सड़क से नीचे उतरी बस काे मारी टक्कर...

    - एक तरफ लोग नए साल के स्वागत में नाच-गाकर खुशी का इजहार कर रहे हैं, वहीं झज्जर जिले में गांव खतीवास के पास एक सड़क हादसे ने हंसते-खेलते परिवार को तबाह कर दिया।

    - बताया जाता है कि ये परिवार मूल रूप से राजस्थान के पिलानी का रहने वाला था और फिलहाल बहादुरगढ़ के सेक्टर 7 में रह रहा था।

    - सोमवार शाम जब वो वापस बहादुरगढ़ लौट रहे थे तो करीब पौने 6 बजे उनकी आई-10 कार एक अन्य कार को ओवरटेक करते हुए सामने से जा रही निजी बस से टकरा गई। इनके साथ फरीदाबाद में रिश्तेदारी की 7 सात साल की बच्ची भी थी।

    - हालांकि बस के ड्राइवर ने बचाने की बहुत कोशिश की, जिसके चलते बस सड़क से नीचे उतर गई, लेकिन बावजूद इसके कार सीधा बस में जाकर लगी।

    - हादसे के तुरंत बाद हर तरफ चीख-पुकार मच गई, जिसके बाद आसपास के लोगों ने घायलों की मदद करनी चाही। विडंबना देखिए कि इनमें से पांच ने देखते ही देखते दम तोड़ दिया।

    - मरने वालों में एक की पहचान बहादुरगढ़ के श्यामसुंदर के रूप में हुई है, वहीं घायलों में उसकी 20 वर्षीय स्मृद्धि और फरीदाबाद की 7 साल की अदिति को गंभीर हालत में रोहतक के पीजीआई में भर्ती कराया गया है।

    दौड़ पड़े फैक्ट्री में काम कर रहे लोग, जेेसीबी की मदद से निकाली डेड बॉडीज

    - इस घटना को लेकर मौके पर मौजूद प्रत्यक्षदर्शी एक आदमी ने बताया कि टक्कर की आवाज सुनकर वो फैक्ट्री से बाहर आए तो कार और बस के बीच टक्कर देखी। इसके बाद वे राहत कार्य मे जुट गए। जेसीबी की मदद से भी 2 मृतकों को बाहर निकाला। देखते ही देखते मौके पर ही 3 और की मौत हो गई।

    हादसे की जांच में जुटी पुलिस

    - वहीं इस मामले में झज्जर चौकी प्रभारी राजेश ने बताया कि घटना की सूचना पाकर झज्जर पुलिस मौके पर पहुंची और राहत कार्य मे जुट गई। साथ ही जरूरी कागजी कार्रवाई में पुलिस जुट गई। दुर्घटना में 5 लोगों की मौत हुई है जबकि 2 घायलों को रोहतक पीजीआई रेफर किया गया है।

    सभी फोटोज: रामकुमार वर्मा

  • हादसे में खत्म हुईं 5 जिंदगियां, साल का पहला दिन बना जिंदगी का अंतिम दिन
    +10और स्लाइड देखें
    डैमेज हो चुकी कार से जेसीबी की मदद से निकाला गया डेड बॉडीज और घायल लोगों को। इस हादसे में एक ही परिवार के पांच लोगों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया, जबकि दो अन्य घायल हैं। घायलों को रोहतक पीजीआई में भेजा गया है।
  • हादसे में खत्म हुईं 5 जिंदगियां, साल का पहला दिन बना जिंदगी का अंतिम दिन
    +10और स्लाइड देखें
    हादसे के बाद हर तरफ चीख-पुकार मच गई और देखते ही देखते पांचों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर डेड बॉडीज और घायलों को अस्पताल भिजवाया।
  • हादसे में खत्म हुईं 5 जिंदगियां, साल का पहला दिन बना जिंदगी का अंतिम दिन
    +10और स्लाइड देखें
    घायलों में फरीदाबाद की 7 साल की एक बच्ची अदिति भी है।
  • हादसे में खत्म हुईं 5 जिंदगियां, साल का पहला दिन बना जिंदगी का अंतिम दिन
    +10और स्लाइड देखें
    बहादुरगढ़ के सेक्टर-7 की फैमिली राजस्थान के पिलानी से लौट रही थी।
  • हादसे में खत्म हुईं 5 जिंदगियां, साल का पहला दिन बना जिंदगी का अंतिम दिन
    +10और स्लाइड देखें
    जहाजगढ़ की तरफ से आ रही कार ने सामने से जा रही निजी बस को टक्कर मारी तो सभी लोग कार में ही पिचक गए।
  • हादसे में खत्म हुईं 5 जिंदगियां, साल का पहला दिन बना जिंदगी का अंतिम दिन
    +10और स्लाइड देखें
    इसके बाद अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में एक के बाद एक लाइन लग गई, जहां डॉक्टर्स ने पांच को डेड घोषित कर दिया।
  • हादसे में खत्म हुईं 5 जिंदगियां, साल का पहला दिन बना जिंदगी का अंतिम दिन
    +10और स्लाइड देखें
    इसके बाद अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में एक के बाद एक लाइन लग गई, जहां डॉक्टर्स ने पांच को डेड घोषित कर दिया।
  • हादसे में खत्म हुईं 5 जिंदगियां, साल का पहला दिन बना जिंदगी का अंतिम दिन
    +10और स्लाइड देखें
    इसके बाद अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में एक के बाद एक लाइन लग गई, जहां डॉक्टर्स ने पांच को डेड घोषित कर दिया।
  • हादसे में खत्म हुईं 5 जिंदगियां, साल का पहला दिन बना जिंदगी का अंतिम दिन
    +10और स्लाइड देखें
    इसके बाद अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में एक के बाद एक लाइन लग गई, जहां डॉक्टर्स ने पांच को डेड घोषित कर दिया।
  • हादसे में खत्म हुईं 5 जिंदगियां, साल का पहला दिन बना जिंदगी का अंतिम दिन
    +10और स्लाइड देखें
    डैमेज हो चुकी कार से घायल लोगों और डेड बॉडीज को निकालते आसपास के ग्रामीण।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Panipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×