Hindi News »Haryana »Panipat» Four Dead In A Road Accident While Going To Nawanshar Of Punjab

शादी समारोह में पंजाब जा रहे ४ लोगों की मौत, सेब से भरे ट्रक से टकराई कार

शादी समारोह में पंजाब जा रहे ४ लोगों की मौत, सेब से भरे ट्रक से टकराई कार

Balraj Singh | Last Modified - Dec 26, 2017, 05:49 PM IST

कैथल। कैथल के एक ही परिवार के चार लोगों की मंगलवार को सड़क हादसे में मौत हो गई। हादसा उस वक्त हुआ, जब कैथल के गांव हाबड़ी से पंजाब के नवांशहर में ये लोग बरात में जा रहे थे। चीका-पटियाला रोड पर घनी धुंघ की वजह से एक ट्रक से इनकी कार की टक्कर हो गई। इसमें मारे गए चार लोगों में तीन दूल्हे के चाचा थे, जबकि एक चचेरा भाई। इसके अलावा परिवार के चार अन्य लोग घायल भी हो गए थे। उनका इलाज पटियाला के राजिंद्रा अस्पताल में चल रहा है। हादसे के बाद शादी वाले घर में मातम का माहैल है, वहीं बुधवार को इनकी डेड बॉडीज गांव में आएंगी और इनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। ऐसे हुआ हादसा, मुश्किल से निकाला गया घायलों को...

- - एक रिश्तेदार लक्खा सिंह ने बताया कि सभी कैथल के गांव हाबड़ी से एक बरात नवांशहर के लिए मंगलवार को रवाना हुए थे। चीका रोड पर गांव सुनियारहेड़ी के पास इनोवा और कैंटर की आमने-सामने की टक्कर हो गई।
- हादसे में 8 लोग जख्मी हो गए थे। मौके पर पहुंचे लोगों ने हादसे की सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने कार में फंसे घायलों को बामुश्किल बाहर निकाला और उन्हें अस्पताल पहुंचाया।
- अस्पताल पहुंचाए जाने पर घायलों में से 4 की रास्ते में ही मौत हो गई, जबकि बाकी चार जख्मियाें का राजिंद्रा अस्पताल में इलाज चल रहा है।

- मरने वालों में दूल्हे पलविंद्र सिंह के रिश्ते में लगने वाले तीन चाचा सुखपाल सिंह, हरभजन सिंह, गुरमीत सिंह और काबल का चचेरा भाई रणजीत सिंह (22 वर्ष) शामिल है। रणजीत ही इनोवा चला रहा था।

- इसके अलावा ओंकार सिंह, प्रीतम सिंह, संजीव कुमार और 12 वर्षीय उदंजपाल पटियाला में उपचाराधीन हैं।

- एक ही कुनबे के चार-चार सदस्यों की मौत का पता चलते ही पूरे गांव में मातम छा गया। घर पर जो परिवार के अन्य लोग बरात में नहीं गए थे, वे भी पता चलते ही घटनास्थल के लिए चले गए। घरों में महिलाओं और सगे संबंधियों का रो-रोकर बुरा हाल है।

- इस हादसे में किसी ने इकलौता पुत्र खोया तो किसी बहन बेटे के सिर से बाप का साया उठा गया। एक दिन पहले मनाई जाने वाली खुशी अचानक मातम में बदल गई।

एक घंटा करते एंबुलेंस का इंतजार

- वहीं गांव सुनियारहेड़ी के तेजिंदर सिंह ने बताया कि जख्मियों को गाड़ी से निकालने में गांव के लोगों ने मदद की थी। आेवर स्पीड कैंटर की टक्कर से इनोवा में ड्राइवर की साइड का पूरा हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया था।

- काफी देर तक एंबुलेंस का इंतजार करते रहे पर एक घंटे तक वह नहीं पहुंची थी। बाद में गांव के लोगों ने अपनी गाड़ियों से जख्मियों को अस्पताल पहुंचाया।

इकलौते बेटे को नहीं होंगे बाप के अंतिम दर्शन

मृतक हरभजन सिंह के पास एक बेटा एक बेटी है। बेटा कुछ समय पहले पिता का सपना पूरा करने के लिए ऑस्ट्रेलिया गया हुआ है और घर में बहन की शादी भी करनी है। जब उसे सूचना दी गई कि उसके पिता जी इस दुनिया में नहीं रहे तो वह वापस आने के लिए चल पड़ा है।

गुरमीत का बेटा इटली में

मृतक गुरमीत सिंह के घर में भी है एक बेटा है जो इटली गया हुआ है। बेटी की शादी हो चुकी है। बेटे के भाग्य में पिता को मुखाग्नि देना शायद नहीं होगा। वह चाहकर भी अंतिम संस्कार तक वापस नहीं पा रहा है। वहीं, मृतक सुखपाल के पास दो बेटे दो बेटियां हैं। बेटी खेती-बाड़ी संभालते हैं।

दूल्हा पलविंद्र सिंह कनाडा में है सेटल

काबल सिंह के बेटे पलविंद्र की मंगलवार को शादी हुई। काबल सिंह एनआरआई है और कनाडा में सेटल है। मातम के बीच ही शादी की रस्में पूरी करनी पड़ी।

घर का इकलौता था रणजीत
- इनोवा चलाने वाला रणजीत सिंह घर का इकलौता था। उसके पिता का करीब 5 साल पहले देहांत हो चुका था। अस्पताल में दाखिल संजीव कुमार ने बताया कि उनकी गाड़ी अपनी साइड से थी, सामने से आ रहे कैंटर ने रॉन्ग साइड आकर टक्कर मार दी थी।

सभी फोटोज: जसविंद्र जस्सी

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Haryana News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: pnjaab jaa rhi thi braat, haaDase mein gayi dulhe ke 3 chaachaaon v 1 bhaaee ki jaan
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Panipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×