--Advertisement--

कर कटिकतचटेग टेकिुेुगिेु कतचिुकचटेति

कर कटिकतचटेग टेकिुेुगिेु कतचिुकचटेति

Danik Bhaskar | Mar 08, 2018, 10:20 AM IST
बजट पेश करने के लिए विधानसभा ज बजट पेश करने के लिए विधानसभा ज

चंडीगढ़/पानीपत। वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने मनोहर सरकार का चौथा बजट शुक्रवार को हरियाणा विधानसभा में पेश किया। जीएसटी लागू होने के बाद राज्य का यह पहला बजट है। बजट अभिभाषण में वित्तमंत्री ने कहा कि यह बजट हरियाणा एक हरियाणवी एक की भावना को ध्यान में रखकर बनाया गया है। वर्ष 2018-19 के लिए 1 लाख 15 हजार 198.29 करोड़ रुपये का बजट पेश किया गया है, जो 2017-18 की तुलना में 12.6 प्रतिशत अधिक है। इस बार के बजट में राज्य की आय बढ़ाने के लिए किसी भी वर्ग पर कोई नया कर नहीं लगाया गया है।उद्योगों द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली प्राकृतिक गैस पर वैट 12.5 प्रतिशत से घटाकर 6 प्रतिशत किया गया है। पढ़िए क्या है बजट में खास...

हरियाणा किसान कल्याण प्राधिकरण होगा स्थापित
- सरकार ने कृषि को लाभकारी बनाने, कृषि उत्पादकता बढ़ाने तथा किसान परिवारों और भूमिहीन श्रमिकों के शारीरिक, वित्तीय और मनोवैज्ञानिक दवाब को कम करने के लिए उपाय करने हेतु ‘हरियाणा किसान कल्याण प्राधिकरण’ स्थापित करने का निर्णय लिया है। इस सम्बन्ध में एक विधेयक इस सदन के चालू सत्र में लाए जाने की सम्भावना है।

आवारा बैलों को समस्या से दिलाएंगे छुटकारा
- आवारा बैलों की समस्या से निपटने के साथ-साथ मादा पशुओं की संख्या में वृद्धि करके दूध उत्पादन बढ़ाने के प्रयासों में, सरकार का वर्ष 2018-19 में बड़े पैमाने पर सेक्सड सीमन टैक्नोलोजी अपनाने का प्रस्ताव है। इस तकनीक के तहत गाय के 90 प्रतिशत से अधिक बछिया पैदा होंग।

मुर्राह अनुसंधान एवं कौशल विकास केंद्र होगा स्थापित
- हरियाणा विश्व प्रसिद्ध मुर्राह नस्ल की भैंस का गर्वित भंडार है। मुर्राह जर्मप्लाजम के और अधिक विकास, प्रचार और संरक्षण के लिए, वर्ष 2018-19 के दौरान नारनौंद उपमण्डल, हिसार में ‘मुर्राह अनुसंधान एवं कौशल विकास केंद्र’ स्थापित करने का प्रस्ताव किया गया।

अम्बाला को मिला पशुधन विकास डिप्लोमा कॉलेज
- इसके अतिरिक्त, पशु चिकित्सा क्षेत्र में शिक्षा के अवसर उपलब्ध करवाने के लिए लाला लाजपत राय पशु चिकित्सा एवं पशु विज्ञान विश्विद्यालय, हिसार के तहत एक पशु चिकित्सा पशुधन विकास डिप्लोमा कॉलेज लखनौर साहिब, अम्बाला में स्थापित किया जाएगा।

15,000 हैक्टेयर क्षेत्र में लगाए जाएंगे पेड़
- वर्ष 2018-19 के दौरान लगभग 15,000 हैक्टेयर क्षेत्र में वनीकरण किया जाएगा।

एसवाईएल के लिए 100 करोड़ परिव्यय आवंटित
- एसवाईएल परिजयोजना के लिए वर्ष 2018-19 में विशेष रूप से 100 करोड़ रुपये का परिव्यय आवंटित करने का प्रस्ताव किया गया है। यदि एसवाईएल के निर्माण के लिए 1000 करोड़ रुपये की भी आवश्यकता पड़ी, तो हम उपलब्ध करवाएंगे।

125 नहरी चैनलों का जीर्णोद्वार
- वर्ष 2018-19 और 2019-20 के दौरान 550 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से लगभग 125 चैनलों के मुख्य जीर्णोद्धार की योजना बनाई गई है।

हेमोडायलिसिस सेवाएं सभी अस्पतालों में होगी शुरू
- हेमोडायलिसिस सेवाएं 7 नागरिक अस्पतालों (पंचकूला, गुरुग्राम, जींद, फरीदाबाद, सिरसा, हिसार और अम्बाला छावनी) में संचालित हैं और जल्द ही अन्य शेष जिलों के नागरिक अस्पतालों में संचालित की जाएगी।

फरीदाबाद और गुड़गांव में ह्दय चिकित्सा सुविधा
- फरीदाबाद और गुड़गांव में हृदय चिकित्सा सेवाएं अर्थात कार्डियक कैथ लैब और कार्डियक केयर यूनिट्स और एंजियोग्राफी, एंजियोप्लास्टी जैसी सेवाएं तथा 20 बिस्तरों वाली कार्डियक केयर यूनिट्स शुरू किए जाने की योजना है।

महेंद्रगढ़ और गुड़गांव में मेडिकल कॉलेज खोलने के प्रस्ताव
- महेन्द्रगढ़ में एक चिकित्सा महाविद्यालय खोलने का प्रस्ताव है। वहीं नगर निगम गुड़गांव और श्री माता शीतला देवी पूजा स्थल बोर्ड, गुड़गांव के सहयोग से गुड़गांव में एक मेडिकल कॉलेज स्थापित किए जाने का प्रस्ताव है।