--Advertisement--

आईएएस की बेटी से छेड़छाड़ में १०५ दिन बाद मिली थी बेटे को जमानत, अब नेता पिता फंसे झमेले में

आईएएस की बेटी से छेड़छाड़ में १०५ दिन बाद मिली थी बेटे को जमानत, अब नेता पिता फंसे झमेले में

Dainik Bhaskar

Jan 25, 2018, 07:10 PM IST
भारतीय जनता पार्टी के स्टेट प् भारतीय जनता पार्टी के स्टेट प्

फतेहाबाद। हरियाणा भाजपा के प्रधान सुभाष बराला अब नई मुश्किल में पड़ गए हैं। हरियाणा रोडवेज के फतेहाबाद डिपो के एक इंस्पेक्टर के याचिका पर पंजाब एवं हाईकोर्ट ने बराला को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। इंस्पेक्टर ने अपनी याचिका में बराला पर आरोप लगाया है कि उसने उनकी बात नहीं मानी तो तबादला कर दिया गया। कोर्ट ने सरकारी वकील को इस मामले को मुख्यमंत्री के संज्ञान में लाने के आदेश दिए हैं। साथ ही तबादले के आदेश पर रोक लगा दी है। ये है पूरा मामला...

- याचिकाकर्ता ईश्वर सिंह बूरा ने याचिका में कहा है कि उसने फतेहाबाद डिपो के दो सफाई कर्मियों के न आने पर उनकी गैरहाजिरी दर्ज कर दी।

- अगले दिन बराला के भतीजे ने आकर कहा कि सफाई कर्मी बराला के खास हैं, आगे से उनकी गैरहाजिरी दर्ज न की जाए।
याचिकाकर्ता के अनुसार उसने अपना काम ईमानदारी से निभाया और सफाई कर्मियों के न आने पर उनकी दोबारा गैरहाजिरी दर्ज कर फतेहाबाद डिपो के महाप्रबंधक को रिपोर्ट भेज दी। इस वजह से उसका तबादला दिल्ली अंतरराज्यीय बस अड्डे पर कर दिया गया। इसके बाद उसने डिपो महाप्रबंधक को फोन किया तो उन्होंने बराला से बात करने की सलाह दी।
- याचिकाकर्ता का कहना है कि उसने यह कॉल रिकार्ड कर ली। रिकाॅर्डिंग को आधार बनाते हुए उसने हाई कोर्ट की शरण ली। याचिका जब सुनवाई के लिए कोर्ट पहुंची तो खुली अदालत में रिकाॅर्डिंग सुनाई गई। इस पर कोर्ट ने सुभाष बराला, हरियाणा सरकार और रोडवेज के महाप्रबंधक को नोटिस जारी किया है।
- बता दें कि इससे पहले सुभाष बराल अपने बेटे विकास बराला के चंडीगढ़ में हरियाणा के एक आईएएस अफसर की बेटी से छेड़छाड़ और अपहरण की कोशिश के मामले में फंसे थे। विकास को 105 दिन जेल में रहने के बाद बीते दिनों जमानत मिली है। इस मामले में सुभाष बराला पर भी सवाल उठे थे और उन्‍हें सवालाें का सामना करना पड़ा था।

X
भारतीय जनता पार्टी के स्टेट प्भारतीय जनता पार्टी के स्टेट प्
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..