--Advertisement--

हरियाणा में भूकंप के भयंकर झटके, कई की मौत-सड़कों पर तड़पते रहे घायल!

हरियाणा में भूकंप के भयंकर झटके, कई की मौत-सड़कों पर तड़पते रहे घायल!

Dainik Bhaskar

Dec 21, 2017, 03:13 PM IST
mock drill: करनाल जिले में इंडेन गैस ब mock drill: करनाल जिले में इंडेन गैस ब

पानीपत। हरियाणाभर में गुरुवार को भूकंप के भारी झटके महसूस किए गए। सुबह 9 से 10 बजे के बीच रह-रहकर विभिन्न जगहों से ऐसी खबरें आती रही। हर तरफ या तो चीख-पुकार या फिर एंबुलेंस और फायर ब्रिगेड की गाड़ियों के सायरन सुनाई दे रहे थे। लोग भी घरों से निकल सड़कों पर आ गए थे। इसी बीच करनाल जिले में घरौंडा से सटे गांव गुढ़ा में गैस बॉटलिंग प्लांट में 10 लोगों की मौत हो गई तो पांच घायल हो गए। कई अन्य जगह भी ऐसी ही घटनाएं सामने आई। हालांकि कई जगह विभिन्न विभागों का अच्छा तालमेल देखने को मिला, लेकिन घरौंडा और फतेहाबाद में अव्यवस्था राहत कार्य में रुकावट बनी नजर आई। घरौंडा में एंबुलेंस 35 मिनट तक रेलवे फाटक पर फंसी रही तो फतेहाबाद में एंबुलेंस स्टार्ट ही नहीं हो पाई। यहां तक कि कर्मचारी एंबुलेंस को धक्का लगाते नजर आए। जानें कहां कैसे थे हालात...

करनाल: करनाल से मिली जानकारी के अनुसार घरौंडा से सटे गांव गुढ़ा में इंडेन के घरेलू गैस बॉटलिंग प्लांट में भूकंप के बाद गैस लीकेज के बाद आग लग गई। एक के बाद एक आधा दर्जन दमकल गाड़ियां गैस प्लांट में दाखिल हुई। दमकल कर्मियों ने आग बुझाने का काम शुरू किया, वहीं घायलों को निकाले जाने का काम शुरू हुआ। इस दौरान घायलों को अस्पताल पहुंचाने में बड़ी दिक्कत का सामना करना पड़ा। एंबुलेंस की गाड़ियां और थाना घरौंडा प्रभारी हरजिंदर सिंह दल-बल के साथ मौके के लिए रवाना हुए, मगर कोहंड की रेलवे फाटक बंद होने की वजह से लगभग 35 मिनट देरी से पहुंच सके। इसके बाद राहत कार्य में कुछ मदद मिली। दरअसल फाटक से एक के बाद एक कई रेलगाड़ियों को गुजरना था, जिसके यह दिक्कत आई और परिणाम यह हुआ कि इस अव्यवस्था के चलते यहां 10 लोगों की मौत हो गई, जबकि अभी तक 5 लोगों के घायल हो जाने का समाचार है। हालांकि अभी संख्या और भी बढ़ सकती है।
पानीपत: भूकंप के पानीपत के सिविल अस्पताल की बिल्डिंग में काफी संख्या में लोगों के फंसे होने की सूचना मिली। इसके बाद आनन-फानन में आपदा प्रबंधन विभाग की टीम ने मौके पर पहुंचकर बिल्डिंग को खाली कराया। इमारतों में फंसे घायलों को विभिन्न विभागों की मदद से बाहर निकाला गया। हालात इस कदर बिगड़ गए कि स्पेशल मेडिकल कैंप लगाकर लोगों को राहत दिलाई गई। इसके अलावा आसपास के सीएचसी-पीएचसी व निजी अस्पतालों को भी अलर्ट किया गया।
फतेहाबाद: फतेहाबाद में भूकंप के बाद भारी संख्या में लोगों के घायल होने की सूचना थी। आनन-फानन में राहत कार्य शुरू हुआ। घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया। हालात इतने बुरे थे कि एक तरफ एंबुलेंस मौके पर स्टार्ट नहीं हो पाई, जिसे स्टाफ धक्के मारता रहा, वहीं ट्रॉमा सेंटर में बेड कम पड़ गए। एक-एक बेड पर दो घायलों को लिटाना पड़ा तो बाद में जमीन पर गद्दे बिछाकर घायलों का उपचार शुरू किया गया। इसके अलावा जब मीडिया टीम वहां पहुंची ताे डॉक्टर न के बराबर नजर आए, वहां सिर्फ नर्सों से ही काम चलाया जा रहा था।
अंबाला: अंबाला में भी इंडियन ऑयल टर्मिनल में बिल्डिंग गिर जाने से यहां काफी लोगों के दबे होने की सूचना मिली। हर तरफ लोगों की चीख-पुकार सुनाई दे रही थी, वहीं आपदा प्रबंधन विभाग की टीम ने बेहद चतुराई का परिचय देते हुए घायलों रस्सी के सहारे ऊपर की बिल्डिंग से निकाला। घायलों को अस्पताल में पहुंचाया गया। सूचना मिलते ही यहां सीएम मनोहर लाल और कैबिनेट मंत्री अनिल विज ने मौके पर पहुंचकर घायलों का हाल जाना। इस दौरान मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने प्रदेश और अम्बाला के मुद्दों पर अपनी राय रखी। अम्बाला कैंट में स्थित इंडियन ऑयल टर्मिनल को शिफ्ट किए जाने के मुद्दे पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इस टर्मिनल को शिफ्ट किए जाने का विषय अंडर प्रोसेस है। ये अकेले हरियाणा सरकार के हाथ में नही है। ये केंद्र सरकार का प्रोजेक्ट है। हम चाहते हैं कि इसे आपसी सहमति के बाद ही ये हो पाएगा।


यहां भी हिली धरती
- इसी तरह चंडीगढ़, पंचकूला, कुरुक्षेत्र, यमुनानगर, कैथल, रोहतक, सोनीपत, झज्जर, भिवानी, सिरसा, हिसार, रेवाड़ी, महेंद्रगढ़, चरखी दादरी, गुड़गांव और फरीदाबाद में भी आज सुबह भूकंप के झटके महसूस किए गए। हालांकि चंडीगढ़ को छोड़कर बाकी सभी जगह अभी तक किसी बड़े जानी नुकसान की सूचना नहीं है। चंडीगढ़ में आपदा प्रबंध मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने मौके पर पहुंचकर घायलों का हाल जाना। बहरहाल पूरे प्रदेश में इस आपदा के बाद दहशत का माहौल है, वहीं सरकार ने मृतकों के परिवारों और घायलों के लिए मुआवजे की घोषणा भी की है।


नोट:- घबराने की कोई जरूरत नहीं है, कहीं कोई आपदा नहीं आई है। यह मॉक ड्रिल थी और पूरे प्रदेश में एक साथ की गई। इस दौरान विभिन्न विभागोें में अच्छा तालमेल देखने काे मिला।


इनपुट: घरौंडा से विवेक राणा, फतेहाबाद से प्रवीण शर्मा, अंबाला से उज्ज्वल शर्मा, पानीपत से सचिन कुमार सिंह

आगे की स्लाइड्स में देखें मॉक ड्रिल की और चुनिंदा फाेटोज...

X
mock drill: करनाल जिले में इंडेन गैस बmock drill: करनाल जिले में इंडेन गैस ब
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..