Hindi News »Haryana News »Panipat» Murder Accused Suicide In Jail After Postmortem No One Come To Take Dead Body

इस शख्स ने जेल में किया सुसाइड, गुनाह ऐसा कि कोई नहीं लेना चाहता इसकी बॉडी

Sukhbir Saini | Last Modified - Dec 30, 2017, 06:52 PM IST

कुरुक्षेत्र की जिला जेल में फांसी लगाकर किया सुसाइड। सारसा गांव का रहने वाला था आरोपी।
  • इस शख्स ने जेल में किया सुसाइड, गुनाह ऐसा कि कोई नहीं लेना चाहता इसकी बॉडी
    +5और स्लाइड देखें
    आरोपी जगदीप (बायें)। पोस्टमॉर्टम हाउस के बाहर तैनात पुलिसकर्मी। (दायें)

    कुरुक्षेत्र। कुरुक्षेत्र के सारसा गांव में तीन बच्चों की हत्या करने वाले आरोपी चाचा जगदीप ने गुरुवार देर शाम जेल के बाथरूम में सुसाइड कर लिया। दो दिन बाद भी कोई जगदीप का शव लेने नहीं पहुंचा है। परिवार वालों के साथ-साथ पत्नी ने भी लिखित में यह कह दिया है कि वह शव नहीं लेना चाहती। बता दें कि शुक्रवार को जगदीप का पोस्टमॉर्टम हुआ था। वहीं गांव की पंचायत ने यह निर्णय लिया था कि जगदीप का दाह संस्कार गांव में नहीं होने देंगे। अभी भी शव सिविल अस्पताल की मोर्चरी में रखा हुआ है। ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में हुआ था पोस्टमॉर्टम...

    - शुक्रवार को ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट अरविंद कुमार बंसल की निगरानी में वीडियोग्राफी हुई और पोस्टमॉर्टम करवाया गया।
    - पोस्टमॉर्टम के दौरान डिप्टी जेल सुपरिटेंडेंट सुभाष चंद्र भी मौजूद रहे। वहीं पोस्टमॉर्टम करने वाले दल में डॉक्टर नीतिका भटनागर, डॉ. एसएस अरोड़ा व डॉ. विमल शामिल थे।

    पायजामे का बनाया था फंदा
    - जेल में यूं तो सुबह शाम गिनती होती है। शाम के समय रोजाना यह देखने के लिए अलग से जिला जेल में अभियान चलाते हैं कि सब कुछ ठीक है या नहीं। शाम के समय बंदियों की गिनती के दौरान जब जगदीप गायब मिला, तो उसके कमरे में देखने सुरक्षा कर्मी गए। लेकिन वह कमरे में नहीं मिला।
    - इस पर कमरे के साथ बाथरूम में देखने गए। जहां देखा कि वहां वह पायजामा का फंदा बनाकर पानी की टंकी की टोंटी से झूलता मिला। जगदीप के खिलाफ अपने छोटे भाई की हत्या करने का भी आरोप था।

    तीन बच्चों की गोली मारकर की थी हत्या
    - बता दें कि 19 नवंबर को गांव सारसा पिहोवा से तीन बच्चे समीर-समर व सिमरन तीनों बच्चे संदिग्ध परिस्थितियों में घर से लापता हो गए थे। तीसरे दिन 21 नवंबर को तीनों बच्चों के शव पंचकूला के मोरनी जंगल से मिले थे। फिर पता चला कि जगदीप ने ही तीनों बच्चों की हत्या की थी।
    - देर शाम कागजी कार्रवाई कर पुलिस ने जगदीप का शव पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया था। 19 नवंबर को लापता हुए बच्चों की हत्या की खबर से ना केवल सारसा बल्कि पूरा कुरुक्षेत्र सन्न रह गया था। तब जगदीप ने कबूल किया था कि हत्या बच्चों के पिता सोनू के कहने पर की थी। प्लानिंग के तहत जगदीप बच्चों को सारसा से कार में लेकर गया।
    - किसी को शक ना हो, इस लिए पहले बच्चों को पैदल गांव के बाहर भेजा। फिर बाद में कार से मेला दिखाने की कह मोरनी हिल्स ले गया। वहां सुनसान एरिया में तीनों बच्चों की अलग-अलग जगह लेकर उसने गोली मार हत्या कर दी थी।
    - इसके बाद उसने पुलिस को दिए बयान में बताया कि बच्चों की हत्या उसने अपने ताऊ के लड़के सोनू की जमीन व प्रॉपर्टी हड़पने के उद्देश्य से की थी।

    जगदीप कबूल चुका था अपना जुर्म
    - पुलिस ने शक के आधार पर बच्चों के पिता सोनू के चचेरे भाई जगदीप को गिरफ्तार किया था। जगदीप ने तीनों बच्चों की हत्या की वारदात कबूली थी। साथ ही पुलिस रिमांड के दौरान उसने अपने छोटे भाई बलविंद्र सिंह की हत्या की वारदात भी कबूली थी।

    पत्नी से फोन पर बातचीत में जताया था पछतावा
    - बता दें कि इस जघन्य हत्याकांड का खुलासा करने में जगदीप की पत्नी ने अहम भूमिका निभाई थी। उसने जगदीप के साथ बातचीत रिकॉर्ड की थी। इस बातचीत में भी उस हत्याकांड के लिए जगदीप पछतावा करता सुन रहा था। वहीं जगदीप को सनकी भी माना जा रहा था। गांव में घर में भी उसने अलग से अपना कमरा बनाया हुआ था।

    आगे की स्लाइड्स में देखें अन्य फोटो.....

  • इस शख्स ने जेल में किया सुसाइड, गुनाह ऐसा कि कोई नहीं लेना चाहता इसकी बॉडी
    +5और स्लाइड देखें
    सुसाइड के बाद जिला जेल के बाहर
  • इस शख्स ने जेल में किया सुसाइड, गुनाह ऐसा कि कोई नहीं लेना चाहता इसकी बॉडी
    +5और स्लाइड देखें
    11 वर्षीय समीर। (फाइल)
  • इस शख्स ने जेल में किया सुसाइड, गुनाह ऐसा कि कोई नहीं लेना चाहता इसकी बॉडी
    +5और स्लाइड देखें
    8 वर्षीय सिमरन। (फाइल)
  • इस शख्स ने जेल में किया सुसाइड, गुनाह ऐसा कि कोई नहीं लेना चाहता इसकी बॉडी
    +5और स्लाइड देखें
    4 साल का समर। (फाइल)
  • इस शख्स ने जेल में किया सुसाइड, गुनाह ऐसा कि कोई नहीं लेना चाहता इसकी बॉडी
    +5और स्लाइड देखें
    देर रात भी जगदीप के घरवाले थाने में उसकी लाश देखने नहीं आए।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Haryana News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Murder Accused Suicide In Jail After Postmortem No One Come To Take Dead Body
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From Panipat

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×