Hindi News »Haryana »Panipat» Padmavaat Controversy Surajpal Amu Admit In Hospital Due To Chest Pain In Judicial Custody

ज्यूडिशियल कस्टडी में रात 1 बजे अम्मू के सीने में हुआ दर्द, PGI रेफर

पद्मावत पर विवादित बयान देकर सुर्खियों में आए थे सूरजपाल अम्मू। 29 तक ज्यूडिशियल कस्टडी में भेजे गए थे।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jan 29, 2018, 05:14 PM IST

  • ज्यूडिशियल कस्टडी में रात 1 बजे अम्मू के सीने में हुआ दर्द, PGI रेफर
    +2और स्लाइड देखें
    26 जनवरी को ज्यूडिशियल कस्टडी में भेज दिए गए थे सूरजपाल अम्मू। (फाइल)

    गुड़गांव। पद्मावत फिल्म की रिलीज को लेकर गिरफ्तारी के बाद ज्यूडिशियल कस्टडी में भेजे गए करण सेना के महासचिव सूरजपाल अम्मू को रविवार रात 1 बजे सीने में दर्द हो गया। उन्हें भौंडसी जेल से गुड़गांव के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां से बाद में पीजीआईएमएस रोहतक रेफर कर दिया गया। अस्पताल सूत्रों के मुताबिक उन्हें अब आईसीयू में रखा गया था, लेकिन हालत में सुधार नहीं होने पर पीजीआईएमएस रेफर कर दिया गया। बता दें कि सूरजपाल अम्मू की ज्यूडिशियल कस्टडी आज खत्म हो रही था और उन्हें आज कोर्ट में पेश किया जाना था। 25 जनवरी को किया गया था गिरफ्तार...

    - बता दें कि अम्मू को फिल्म के प्रदर्शन के साथ ही गुरुवार 25 जनवरी सुबह घर में ही रोक दिया गया था। शाम पांच बजे हिरासत में लेने के बाद शाम छह बजे गिरफ्तार कर लिया गया था।
    - शुक्रवार 26 जनवरी की दोपहर पुलिस उपायुक्त (मुख्यालय) की कोर्ट में पेश किया गया था। जहां से उन्हें 29 जनवरी तक ज्यूडिशियल कस्टडी में भेज दिया गया था।
    - उनकी जमानत के लिए अर्जी पुलिस उपायुक्त की कोर्ट में दी गई थी लेकिन शनिवार सुबह वापस ले ली गई।

    कानूनी सलाहकार ने लगाए थे पुलिस पर ये आरोप
    - करणी सेना के कानूनी सलाहकार व सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता एपी सिंह ने पुलिस के ऊपर गंभीर आरोप लगाए थे।
    - उन्होंने कहा था कि अम्मू डायबिटीज पीड़ित हैं। इसके बाद भी उन्हें पुलिस कस्टडी के दौरान भोजन नहीं दिया गया। परिवार के लोगों से मिलने नहीं दिया गया।
    - शासन-प्रशासन के कहने पर उन्होंने जनता से शांति बनाए रखने की अपील भी की। इसके बाद उन्हें पहले हिरासत में लिया गया फिर गिरफ्तार कर लिया गया। उनके साथ ज्यादती हो रही है।
    - जिस धाराओं के तहत उन्हें गिरफ्तार किया गया है उनमें जमानत देने का प्रावधान है। इसके बाद भी उन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। जेल में कुछ गैंगस्टरों से उनकी जान को खतरा है। यदि उनके साथ कुछ भी होता है तो इसके लिए शासन-प्रशासन जिम्मेदार होगा।

    सूरजपाल अम्मू ने ये दी थी धमकी
    - सूरजपाल अम्मू ने दीपिका पादुकोण और संजय लीला भंसाली का सिर काट कर लाने वाले को दस करोड़ का इनाम देने का ऐलान किया था। यही नहीं अम्मू ने पद्मावती में अलाउद्दीन खिलजी का रोल करने वाले रणवीर सिंह के पैर को तोड़ने की धमकी भी दी थी।
    - इसके बाद बीजेपी ने उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया था। इसके बाद भी अम्मू विवादित बयान देने से पीछे नहीं हटे थे।

  • ज्यूडिशियल कस्टडी में रात 1 बजे अम्मू के सीने में हुआ दर्द, PGI रेफर
    +2और स्लाइड देखें
    ज्यूडिशियल कस्टडी में रात 1 बजे हुआ सीने में दर्द। (फाइल)
  • ज्यूडिशियल कस्टडी में रात 1 बजे अम्मू के सीने में हुआ दर्द, PGI रेफर
    +2और स्लाइड देखें
    फिल्म पद्मावत की स्टारकास्ट।
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Haryana News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Padmavaat Controversy Surajpal Amu Admit In Hospital Due To Chest Pain In Judicial Custody
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Panipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×