--Advertisement--

पिता के कहने पर चाचा ने मारी थी ३ बच्चों को गोली, अब पंचायत में हुई ये बात

पिता के कहने पर चाचा ने मारी थी ३ बच्चों को गोली, अब पंचायत में हुई ये बात

Danik Bhaskar | Dec 03, 2017, 03:14 PM IST
कुरुक्षेत्र के गांव सारसा के त कुरुक्षेत्र के गांव सारसा के त

कुरुक्षेत्र। कुरुक्षेत्र जिले के सारसा गांव के तीन बच्चों की हत्या को मामले पर रविवार काे पंचायत हुई। इसमें लोगों ने पुलिस जांच पर सवाल उठाया और इस पर अविश्‍वास जताया। दरअसल 21 नवंबर को पंचकूला के मोरनी के जंगलों में तीन बच्चों के शव मिले थे। पुलिस के मुताबिक इन बच्‍चों की हत्या उनके चाचा जगदीप मलिक ने उनके पिता साेनू मलिक ने कराई थी। ग्रामीणों का कहना है कि अब कुरुक्षेत्र पुलिस सोनू मलिक काे निर्दोष करार दे रही है। आरोपी की पत्नी ने कही था-टुकड़े कर दो उसके...

- इसी बीच मुख्य आरोपी जगदीप की पत्नी रीना ने बच्चों की मां सुमन से कहा कि जो भी इसमें दोषी हो, उसके टुकड़े कर वहीं फेंको, जहां उसके बच्चों को फेंका था। चाहे वह मेरा पति हो या कोई दूसरा।
- रीना ने कहा कि जगदीप की इस करतूत से दोनों घर बर्बाद हो गए हैं। जगदीप ने जो अपराध किया है इसके लिए उसे सख्त सजा मिलनी चाहिए।

ग्रामीणों की कमेटी ने की जांच

इस मामले को लेकर रविवार को गांव में पंचायत हुई, जिसमें विभिन्न संगठनों के लोग शामिल हुए। सभी ने इस मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग रखी। उनका कहना है कि यदि सरकार या पुलिस उनकी बात नहीं सुनती है तो सड़क पर उतरने को मजबूर होंगे।
- पंचायत में इस मामले पर ग्रामीणों द्वारा गठित कमेटी ने घटनाक्रम के बारे में जानकारी सार्वजनिक की। कमेटी के सदस्‍यों ने कहा‍ कि पुलिस तीनों मासूम बच्‍चों की हत्‍या की साजिश रचने वाले उनके पिता सोनू मलिक को निर्दोष करार देना चाहती है। इस पर किसी भी तरह से यकीन नहीं किया जा सकता।
- बच्चों की मां स्पष्ट कर चुकी है कि सोनू ने ही बच्चों की हत्या कराई है। कमेटी ने भी अपनी जांच में पाया है कि बच्चों की हत्या में सोनू की भूमिका है। बैठक में सभी ने एकमत से कहा कि उन्हें पुलिस की जांच पर विश्वास नहीं है इस मामले की जांच सीबीआई से कराई जाए। इस संबंध में कमेटी शीघ्र ही मुख्यमंत्री से मिलेगी।

दो दिन लापता थे बच्चे, हुआ था ये खुलासा
- बता दें कि 21 नवंबर को पंचकूला के मोरनी के जंगलों में तीन बच्चों के शव मिले थे। पुलिस के मुताबिक इन बच्‍चों की हत्या उनके चाचा जगदीप मलिक ने उनके पिता साेनू मलिक ने कराई थी।
- जगदीप से पूछताछ में खुलासा हुआ था कि पिता का दूसरी महिला से अवैध संबंध था और उससे शादी के लिए बच्‍चों को रास्‍ते से हटाना चाहता था।
- यह भी खुलासा हुआ था कि वह बाद में पत्‍नी सुमन को भी इस तरह मारना चाहता था कि पूरा मामला आत्‍महत्‍या लगे। बच्‍चों की पहचान 11 साल के समीर, आठ साल की सिमरन और चार साल के समर के रूप में हुई थी।
- अब ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस सोनू मलिक काे निर्दोष करार दे रही है।