--Advertisement--

वाइन शॉप पर मर्डर और लूट का आरोपी अरेस्ट, पकड़े जाने के डर से ले ली थी साथी की भी जान

वाइन शॉप पर मर्डर और लूट का आरोपी अरेस्ट, पकड़े जाने के डर से ले ली थी साथी की भी जान

Dainik Bhaskar

Dec 28, 2017, 07:17 PM IST
यमुनानगर में शराब के ठेके पर स यमुनानगर में शराब के ठेके पर स

यमुनानगर। यमुनानगर में 11 दिन पहले शराब के ठेके पर सेल्समैन के मर्डर की घटना में गुरुवार को नया मोड़ आ गया है। वारदात का एक आरोपी डिटेक्टिव स्टाफ के हत्थे चढ़ गया है, जिसने अपने साथियों के साथ मिलकर लूट के लिए ऐसा किया था। हालांकि घटना सीसीटीवी कैमरे में भी कैप्चर हो गई थी। बावजूद इसके आरोपी ने चाल खेली, पकड़े जाने के डर से उसने अपने साथी का भी मर्डर कर दिया था। रात में घर नहीं लौटा सेल्समैन तो ऐसे चला था मौत का पता...

- बताते चलें कि यमुनानगर के विष्णु नगर का रहने वाला महेश शर्मा ससौली रोड पर स्थित एक ठेके पर काम करता था, जो 18 दिसंबर को ठेके पर ही मरा हुआ पाया गया था।
- पुलिस को दिए बयान में महेश के बेटे ने बताया था कि उसके पिता रात को ठेका बंद करके घर लौटते थे। 17 दिसंबर की रात को जब वह घर नहीं लौटे तो पारिवारिक सदस्यों ने इधर-उधर पूछताछ की, लेकिन पिता का कुछ पता नहीं चला।
- 18 की सुबह वह पुलिस चौकी में पहुंचा तो वहां उसे बताया गया कि एक शव पड़ा है। वह मौके पर पहुंचा तो वह उसके पिता का शव था। शव उसके पिता का था।

इस तरह दिया गया था मर्डर की वारदात को अंजाम
- यह घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई थी, जिसमें देखा जा सकता है कि रात को लगभग 10 बजे बाइक पर सवार हो तीन युवक यहां आए थे। उनमें से एक बाहर ही खड़ा रहा, जबकि दो ने अंदर जाकर वहां अकेले मौजूद महेश कुमार से बहस शुरू कर दी।
- युवकों ने महेश कुमार की छाती में चाकू घोंप दिया, जिससे महेश कुमार की मौके पर ही मौत हो गई। इसके बाद युवक ठेके से नकदी लेकर फरार हो गए।
- पुलिस को दिए बयान में महेश के बेटे ने गांव के ही तीन युवकों पर इसका शक जाहिर करते हुए कहा था कि वो अक्सर ठेके पर मुफ्त की शराब के चक्कर में रहते हैं। पहले भी ऐसा कई बार हो चुका है और काफी बहसबाजी के बाद मालिक के कहने पर लौट भी जाते थे। उसे शक है कि उसके पिता की उन्हीं तीन लोगों ने मुफ्त की शराब के लिए हत्या की है।

ऐसे आया आरोपी हाथ, बताया-अपने भी साथी को मारकर नहर में फेंका
- गिरफ्तारी के संबंध में एसएचओ डिटेक्टिव स्टाफ जयपाल सिंह बताते हैं कि संदीप उर्फ सन्नी सन्नी नामक युवक पर पहले से ही पांच आपराधिक केस चल रहे हैं। उसे शक की बिनाह पर हिरासत में लेकर पूछताछ की तो आरोपी ने वारदात कबूल ली।
- सन्नी ने पुलिस को बताया कि उसने गांव के बंटी और भूपेंद्र के साथ ठेके पर लूट के लिए साजिश रची और कुछ दिन पहले रेकी की थी। फिर 17 दिसंबर की रात को तीनों ने अकेले महेश को मारकर वहां से 3 हजार रुपए और कुछ शराब लूटी।
- आरोपी संदीप की मानें तो उसे और बंटी को साथी भूपेंद्र सिंह पर राज उगल देने का शक हो गया। इसके चलते तीनों ने पहले शराब पी, फिर भूपेंद्र सिंह को गोली मारकर उसकी डेड बॉडी को करनाल जिले के पास अावर्धन नहर में फेंक दिया। जिस बाइक पर लूट की थी, उसे भी नहर में फेंकने के बाद फरार हो गए।
- पुलिस अधिकारी जयपाल सिंह ने बताया कि पुलिस को एक देसी माउजर भी बरामद हुआ है। फिलहाल पुलिस उसे कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लेगी। इस दौरान उससे और भी कई खुलासे हो सकते हैं।

X
यमुनानगर में शराब के ठेके पर सयमुनानगर में शराब के ठेके पर स
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..