Hindi News »Haryana »Panipat» Police Taking No Action In The Attack Case By The Blade On A Girl Face

अबदहारहब रकतइज िइी३जत ली३म२हल हीज४

अबदहारहब रकतइज िइी३जत ली३म२हल हीज४

Balraj Singh | Last Modified - Dec 02, 2017, 08:15 PM IST

फरीदाबाद। फरीदाबाद में एक युवती के चेहरे पर ब्लेड से हमले के मामले में पुलिस पर ढीली कार्रवाई का आरोप है। 8 दिन पहले हुई इस घटना के बाद उसके चेहरे पर 15 टांके आए हैं, जिसके चलते वह सहमी हुई है। शनिवार को dainikbhaskar.com से बातचीत में सिर्फ गिनी-चुनी तीन लाइनें ही बोल पाई, 'कमिश्नर अंकल! आप मेरा चेहरा आकर देखो, तब आपको मालूम हो जाएगा कि कितना बड़ा हैवान है वो, जिसे पुलिस ढूंढने की जहमत तक नहीं उठा रही है।' बोलते-बोलते फूट पड़ी अश्रुधारा...

- मूल रूप से बदायूं की रहने वाली होली चौक पर रहने वाली 18 वर्षीय लड़की अपने परिवार के साथ किराए के मकान में रहती है और एक फैक्ट्री में नौकरी करती है।
- 25 नवंबर की शाम को वह ड्यूटी खत्म होने के बाद अपनी सहेली के साथ घर लौट रही थी। शाम को करीब 8 बजे के आसपास जब वह घर से चंद कदम की दूरी पर थी, तभी एक युवक सामने से आया। उसने रूमाल से मुंह ढांप रखा था।
- वह लड़की के पास से गुजरा और उसके मुंह पर दायीं तरफ हाथ मारा तो वह थोड़ा असहज हुई। उसे पता भी नहीं चला कि जिस युवक ने उसके चेहरे पर हाथ मारा है, उसने हाथ में ब्लेड पकड़ रखा था।
- फिर जब उसने चेहरे पर हाथ घुमाया तो खून से हथेली सन गई। खून देखकर वह घबरा गई और वहीं बैठ गई। कुछ देर बाद वह दौड़कर घर पहुंची और परिजनों को बताया।
- छोटा भाई उसे लेकर बीके सिविल अस्पताल पहुंचा। अस्पताल में चिकित्सक ने उसके चेहरे पर 15 टांके लगाए। हमले में उसका होंठ भी कट गया। गंभीर घाव होने के कारण चिकित्सकों ने उसे बोलने से परहेज के लिए दिया है।

हमलावर पकड़ से बाहर
- इस मामले में पुलिस ने पीड़िता के बयान ले लिए। मामला भी दर्ज कर लिया, लेकिन आरोपी की पहचान और उसकी धरपकड़ के लिए कुछ नहीं किया है। चौकी और थाना प्रभारी के बीच इस मामले को लेकर कोई कम्युनिकेशन तक नहीं हो सका।
- सारन थाना प्रभारी वेदप्रकाश अरोड़ा से जब dainikbhaskar.com ने घटना की जानकारी ली तो प्रारंभ में उन्होंने कहा कि उन्हें इस मसले का पता नहीं। वह चौकी इंचार्ज से पूछकर बताएंगे। चौकी इंचार्ज से पूछने के बाद थानाध्यक्ष बोले कि यह मामला उनकी नोटिस में है। उन्होंने कहा कि पीड़िता ने पुलिस को एक संदिग्ध के बारे में बताया है लेकिन उसका नाम नहीं बताया है। हालांकि पुलिस को आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज से हमलावर आरोपी को सुराग मिल सकता था, उसका भी पुलिसकर्मियों ने प्रयास नहीं किया।

शादी की चिंता परिजनों को
- पीड़िता के भाई के मुताबिक परिजनों को दुख है कि हमलावर नहीं पकड़ा जा रहा है। उनकी चिंता यह भी है कि जिस तरह का घाव उनकी बच्ची को दिया है, उससे इसकी शादी में भी अड़चन पैदा होगी। पूरा चेहरा बिगड़ गया है।

पुलिस सीरियस है: एसीपी
- पुलिस हर मामले में संवेदनशील होकर काम करती है। हालांकि पुलिस की तरफ से लापरवाही बरते जाने के कुछ मामले अपवाद स्वरूप सामने आते हैं। ऐसे मामलों में संबंधित पुलिस अधिकारियों पर ठोस कार्रवाई भी की जा सकती है। कुछ दिन पहले ही कुछ थाना प्रभारी, चौकी प्रभारी बदले गए थे। कुछ निलंबित और लाइनहाजिर भी किए जा चुके हैं। - राजेश चेची, एसीपी क्राइम।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Panipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×