--Advertisement--

तहसील में भ्रष्टाचार की शिकायतें, क्कङ्खष्ठ मंत्री ने किया तहसीलदार को सस्पेंड

तहसील में भ्रष्टाचार की शिकायतें, क्कङ्खष्ठ मंत्री ने किया तहसीलदार को सस्पेंड

Danik Bhaskar | Dec 22, 2017, 05:11 PM IST

रेवाड़ी। रेवाड़ी में कष्ट निवारण समिति की बैठक के दौरान समस्याएं सुन रहे पीडब्ल्यूडी मंत्री राव नरबीर के तेवर सख्त नजर आए। बैठक में एक युवक ने भ्रष्टाचार की शिकायत रखी। भाजपा पदाधिकारियों ने भी तहसीलदार के खिलाफ सीधा मोर्चा खोल दिया। आरोप लगाए कि तहसीलदार विकास मलिक किसी से एक तो किसी से 2 लाख रुपए रिश्वत लेता है। जांच हो तो लाखों रुपए का मामला उजागर हो सकता है। इतनी शिकायतों के बाद पीडब्ल्यूडी मंत्री ने तुरंत तहसीलदार को निलंबित किए जाने के आदेश दिए तथा सीएम विजिलेंस जांच की सिफारिश की। तहसीलदार बोला- मेरा परिवार संघर्ष करेगा...

- शुक्रवार को रेवाड़ी के बाल भवन में कष्ट निवारण समिति की बैठ चल रही थी। इसमें लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर शिकायतें सुन रहे थे।
- एक युवक ने कहा कि रेवाड़ी तहसील में रजिस्ट्री के नाम पर खुलेआम रिश्वत मांगी जा रही है। काम के लिए महीनों तक चक्कर कटाए जा रहे हैं।
- भाजपा व्यवसायिक प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक सतीश खोला ने युवक की पैरवी करते हुए कहा कि वे खुद डीसी को कई ऐसी रजिस्ट्रियां भेज चुके हैं, जो कि फर्जी तरीके से की गई हैं। नगर पार्षद भूपेंद्र सिंह ने भी भ्रष्टाचार व तहसीलदार का रुखा व्यवहार होने के आरोप लगाए।
- राव नरबीर ने तुरंत तहसीलदार को सस्पेंड करने के आदेश दिए। कहा कि सीएम विजलेंस से मामले की जांच कराई जाएगी।
- इस पर तहसीलदार विकास मलिक ने कहा कि उसे निलंबित कर दिया तो उसका परिवार परेशानी झेलेगा, मैं पहले भी सस्पेंड हो चुका हूं।