Hindi News »Haryana »Panipat» Rail Track And Roads Jam By The People Due To Not Finding The Drowned Students

नहर में डूबे 3 दोस्त दूसरे दिन भी नहीं मिले, रेलवे ने ट्रेनें रोकी ताे टोल से गाड़ियां वापस

सांपला मेन बाजार के हितेश (24) पुत्र ब्रह्मप्रकाश ने बीते दिनों सीए में सिलेक्शन के बाद दोस्तों को पार्टी देने आ रहे थे।

Sandeep Lakra/Manoj Kharab/Niranjan Rana | Last Modified - Jan 22, 2018, 08:42 PM IST

  • नहर में डूबे 3 दोस्त दूसरे दिन भी नहीं मिले, रेलवे ने ट्रेनें रोकी ताे टोल से गाड़ियां वापस
    +7और स्लाइड देखें
    सोनीपत में रोहतक रोड को जाम कर लोग नहर में डूबे युवकों को तलाशने में लापरवाही के आरोप लगाते हुए। सोनीपत ही नहीं, इस मसले को लेकर सोमवार को सांपला में भी हालात बेकाबू हो गए। न सिर्फ रोड जाम, बल्कि लोगों ने रेल ट्रैक भी जाम कर दिया।

    सोनीपत/बहादुरगढ़। सोनीपत में रोहट गांव के पास पश्चिमी यमुना लिंक नहर में कार समेत गिरे पांच दोस्तों में से तीन का सोमवार को दो दिन बीत जाने के बावजूद यह नहीं पता चल पाया कि वो जिंदा भी हैं या मौत हो चुकी है। एनडीआरएफ की एक टीम के अलावा १०० से ज्यादा गोताखोर इनकी तलाश में जुटे हैं, वहीं परिजनों में इनके नहीं मिलने को लेकर रोष का माहौल है। लोगों ने आज फिर रोहतक-सोनीपत रोड पर जाम लगाया, वहीं बहादुरगढ़ से मिली जानकारी के अनुसार सांपला में एनएच ९ पर जाम भी लगा दिया गया। साढ़े ३ बजे के बाद रोड के दोनों तरफ वाहन खड़े हैं तो साढ़े ६ बजे दिल्ली-रोहतक रेलवे ट्रैक पर भी लोग बैठ गए। ष्ट्र में सिलेक्शन के बाद दोस्तों को पार्टी देने मुरथल ले जा रहा था हितेश...


    - बताते चलें कि सांपला के मेन बाजार के रहने वाले हितेश (२४) पुत्र ब्रह्मप्रकाश ने बीते दिनों सीए में सिलेक्शन के बाद दोस्तों को पार्टी देने का प्लान किया था।
    - पांच दोस्त लक्ष्य (२३) पुत्र महावीर, रोहित (२२) पुत्र राकेश, सौरभ (२२) पुत्र प्रदीप, हितेश (२४) पुत्र ब्रह्मप्रकाश व चिराग (२३) पुत्र अशोक पार्टी करने के लिए रोहतक के लिए निकले।
    - दोस्तों ने स्पेशल डिश की डिमांड की, लेकिन डिश ना मिल पाने के चलते रोहतक आने की बजाय सभी दोस्त मुरथल की ओर रवाना हो गए। होंडा इमेज कार को सौरभ चला रहा था।
    - जब सोनीपत जिले में रोहट के पास से गुजरती पश्चिमी यमुना लिंक नहर पर पहुंचे तो अचानक सौरभ ने संतुलन खो दिया। कार रॉन्ग साइड में चली गई। आगे से ट्रक आने पर सौरभ ने बचाव की कोशिश की और कार पुल की रेलिंग के तौर पर बनाई गई दीवार तोड़कर पलटे खाते हुए पानी में जा गिरी।

    एक की मौत, एक झाड़ पकड़कर निकला तो तीन का पता ही नहीं
    - हादसे के बाद कार का एक साइड का शीशा टूट गया। यहां युवक चिराग का हाथ बाहर उगे झाड़ पर जा पड़ा। चिराग झाड़ पकड़कर जिंदा निकल आया। लक्ष्य की डेड बॉडी निकाली गई थी, लेकिन पानी के तेज बहाव में बह गए रोहित, हितेश व सौरभ का दो दिन बीत जाने के बावजूद कहीं पता नहीं चल पाया है।

    - हितेश के पिता ब्रह्मप्रकाश व अन्य ने अधिकरियों पर लापरवाही बरतने के आरोप लगाते हुए कहा कि जान-बूझकर ऐसा कर रहे हैं। हमें अपने बच्चों के शव चाहिए। कल जो मंत्री और नेता उनसे मिलने पहुंचे थे, वो भी निकम्मे हैं। कोई कुछ नही कर रहा है।
    ये है स्थिति: रेलवे ने ट्रेनें रोकी तो टोल से भी वाहन वापस
    - विरोध प्रदर्शन के चलते रेलवे ने ट्रेनों की आवाजाही रोक दी। ५४०३५ जाखल पैसेंजर सांपला में खड़ी है। कुरुक्षेत्र डीएमयू आसौदा में, भिवानी पैसेंजर बहादुरगढ़ में, जींद पैसेंजर घेवरा में और सिरसा एक्सप्रेस शकूर बस्ती रेलवे स्टेशन पर खड़ी हैं। इसके अलावा आधा दर्जन मालगाड़ियां भी अलग-अलग स्टेशनों पर रोकी गई हैं।
    - जाम के चलते बहादुरगढ़ से भारी संख्या में पुलिस टीम मौके पर पहुंची और टोल प्लाजा से वाहनों को वापस भेजा जाने लगा। एक टीम रोहद व एक टीम आसौदा में लगाई गई है। पुलिस वाहनों को सम्पर्क मार्गों से निकालने में लगी हुई है। पीक टाइम होने की वजह से कई हजार वाहनों को समस्या से दो चार होना पड़ा। वहीं किसी भी स्थिति से निपटने के लिए रोहद टोल पर सदर थाना प्रभारी जसबीर सिंह खुद मौजूद हैं।
    क्या कहता है प्रशासन?
    - दूसरी ओर एसडीएम जितेन्द्र कुमार की मानें तो टीम लगातार काम कर रही है। १०० से ज्यादा गोताखोर और एनडीआरएफ की एक टीम काम कर रही है पानी कम करने का भी प्रयास किया जाएगा। जरूरत रही तो और भी टीम मंगवाई जाएंगी।
    - इसके अलावा एएसपी डीके भारद्वाज का कहना है कि नहर में लापता छात्रों के शवों को बरामद करना एक बड़ी चुनौती बनती जा रही है, क्योंकि एक तरफ पानी कम नहीं हो रहा है तो दूसरी तरफ परिजनों में रोष भी बढ़ रहा है।
  • नहर में डूबे 3 दोस्त दूसरे दिन भी नहीं मिले, रेलवे ने ट्रेनें रोकी ताे टोल से गाड़ियां वापस
    +7और स्लाइड देखें
    सांपला में रोड जाम के चलते जाम में फंसे वाहन। इलाके में दो टोल बैरियर्स से वाहनों को वापस लौटना पड़ा।
  • नहर में डूबे 3 दोस्त दूसरे दिन भी नहीं मिले, रेलवे ने ट्रेनें रोकी ताे टोल से गाड़ियां वापस
    +7और स्लाइड देखें
    हितेष, जो सीए बनने की खुशी में दोस्तों को पार्टी देने के लिए मुरथल आ रहा था। नहर में डूब जाने के बाद एक दोस्त की मौत हो गई। एक जिंदा भी निकल आया, लेकिन हितेश समेत तीन का दो दिन बाद भी कोई पता नहीं।
  • नहर में डूबे 3 दोस्त दूसरे दिन भी नहीं मिले, रेलवे ने ट्रेनें रोकी ताे टोल से गाड़ियां वापस
    +7और स्लाइड देखें
    हितेश का दोस्त लक्ष्य, जिसकी डूब जाने से मौत हो गई थी।
  • नहर में डूबे 3 दोस्त दूसरे दिन भी नहीं मिले, रेलवे ने ट्रेनें रोकी ताे टोल से गाड़ियां वापस
    +7और स्लाइड देखें
    हितेष, जो सीए बनने की खुशी में दोस्तों को पार्टी देने के लिए मुरथल आ रहा था। नहर में डूब जाने के बाद एक दोस्त की मौत हो गई। एक जिंदा भी निकल आया, लेकिन हितेश समेत तीन का दो दिन बाद भी कोई पता नहीं।
  • नहर में डूबे 3 दोस्त दूसरे दिन भी नहीं मिले, रेलवे ने ट्रेनें रोकी ताे टोल से गाड़ियां वापस
    +7और स्लाइड देखें
    हितेष, जो सीए बनने की खुशी में दोस्तों को पार्टी देने के लिए मुरथल आ रहा था। नहर में डूब जाने के बाद एक दोस्त की मौत हो गई। एक जिंदा भी निकल आया, लेकिन हितेश समेत तीन का दो दिन बाद भी कोई पता नहीं।
  • नहर में डूबे 3 दोस्त दूसरे दिन भी नहीं मिले, रेलवे ने ट्रेनें रोकी ताे टोल से गाड़ियां वापस
    +7और स्लाइड देखें
    डूबे युवकों को नहर में तलाशती एनडीआरएफ की टीम।
  • नहर में डूबे 3 दोस्त दूसरे दिन भी नहीं मिले, रेलवे ने ट्रेनें रोकी ताे टोल से गाड़ियां वापस
    +7और स्लाइड देखें
    रोष प्रदर्शन के चलते सोनीपत-रोहतक रोड पर लगे जाम में फंसे वाहन।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Haryana News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Rail Track And Roads Jam By The People Due To Not Finding The Drowned Students
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Panipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×