--Advertisement--

ज्यूडिशियल कस्टडी में हुआ था अम्मू के सीने में दर्द, क्कत्रढ्ढ से वापस जेल भेजा

ज्यूडिशियल कस्टडी में हुआ था अम्मू के सीने में दर्द, क्कत्रढ्ढ से वापस जेल भेजा

Dainik Bhaskar

Jan 30, 2018, 10:53 AM IST
26 जनवरी को ज्यूडिशियल कस्टडी म 26 जनवरी को ज्यूडिशियल कस्टडी म

गुड़गांव। पद्मावत फिल्म की रिलीज को लेकर गिरफ्तारी के बाद ज्यूडिशियल कस्टडी में भेजे गए करण सेना के महासचिव सूरजपाल अम्मू को उपचार के बाद फिर से गुड़गांव की भौंडसी जेल भेज दिया गया है। अम्मू को रविवार रात 1 बजे सीने में दर्द हुआ था, जिसके चलते उन्हें भौंडसी जेल से गुड़गांव के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां से बाद में पीजीआईएमएस रोहतक रेफर कर दिया गया। अब उपचार के बाद उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया और वापस जेल में भेज दिया गया है। बता दें कि सूरजपाल अम्मू की ज्यूडिशियल कस्टडी सोमवार को खत्म हो रही था और उन्हें कोर्ट में पेश किया जाना था। अब अम्मू की न्यायिक हिरासत 2 फरवरी तक बढ़ा दी गई है। 25 जनवरी को किया गया था गिरफ्तार...

- बता दें कि अम्मू को फिल्म के प्रदर्शन के साथ ही गुरुवार 25 जनवरी सुबह घर में ही रोक दिया गया था। शाम पांच बजे हिरासत में लेने के बाद शाम छह बजे गिरफ्तार कर लिया गया था।
- शुक्रवार 26 जनवरी की दोपहर पुलिस उपायुक्त (मुख्यालय) की कोर्ट में पेश किया गया था। जहां से उन्हें 29 जनवरी तक ज्यूडिशियल कस्टडी में भेज दिया गया था।
- उनकी जमानत के लिए अर्जी पुलिस उपायुक्त की कोर्ट में दी गई थी लेकिन शनिवार सुबह वापस ले ली गई।

कानूनी सलाहकार ने लगाए थे पुलिस पर ये आरोप
- करणी सेना के कानूनी सलाहकार व सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता एपी सिंह ने पुलिस के ऊपर गंभीर आरोप लगाए थे।
- उन्होंने कहा था कि अम्मू डायबिटीज पीड़ित हैं। इसके बाद भी उन्हें पुलिस कस्टडी के दौरान भोजन नहीं दिया गया। परिवार के लोगों से मिलने नहीं दिया गया।
- शासन-प्रशासन के कहने पर उन्होंने जनता से शांति बनाए रखने की अपील भी की। इसके बाद उन्हें पहले हिरासत में लिया गया फिर गिरफ्तार कर लिया गया। उनके साथ ज्यादती हो रही है।
- जिस धाराओं के तहत उन्हें गिरफ्तार किया गया है उनमें जमानत देने का प्रावधान है। इसके बाद भी उन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। जेल में कुछ गैंगस्टरों से उनकी जान को खतरा है। यदि उनके साथ कुछ भी होता है तो इसके लिए शासन-प्रशासन जिम्मेदार होगा।

सूरजपाल अम्मू ने ये दी थी धमकी
- सूरजपाल अम्मू ने दीपिका पादुकोण और संजय लीला भंसाली का सिर काट कर लाने वाले को दस करोड़ का इनाम देने का ऐलान किया था। यही नहीं अम्मू ने पद्मावती में अलाउद्दीन खिलजी का रोल करने वाले रणवीर सिंह के पैर को तोड़ने की धमकी भी दी थी।
- इसके बाद बीजेपी ने उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया था। इसके बाद भी अम्मू विवादित बयान देने से पीछे नहीं हटे थे।

X
26 जनवरी को ज्यूडिशियल कस्टडी म26 जनवरी को ज्यूडिशियल कस्टडी म
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..