--Advertisement--

सेना ने घर में घुसकर मारे ३ पाक सैनिक तो शहीद की फैमिली ने कही ये बात

सेना ने घर में घुसकर मारे ३ पाक सैनिक तो शहीद की फैमिली ने कही ये बात

Danik Bhaskar | Dec 26, 2017, 04:05 PM IST
शनिवार को पाकिस्तानी सेना की त शनिवार को पाकिस्तानी सेना की त

करनाल। भारतीय सेना ने 15 महीने बाद पाकिस्तान में सर्जिकल स्ट्राइक-2 को अंजाम दिया। मंगलवार तड़के LoC पार की गई इस कार्रवाई में तीन पाकिस्तानी सैनिक मारे गए। ये खबर सुन करनाल जिले के गांव रंबा निवासी शहीद जवान परगट सिंह की फैमिली ने संतोष जाहिर किया है। शहीद की मां ने कहा कि यह खबर सुनकर कलेजे को ठंडक पड़ गई, लेकिन बात यहीं खत्म नहीं होनी चाहिए, वो ऐसे सुधरने वाला नहीं है। हमारी सरकार की तरफ से ईंट का जवाब पत्थर से देने की दिशा में कदम उठाया जाना चाहिए, जिससे कि कभी कोई मां का लाल फिर शहीद न हो। किसी बहू-बेटी की मांग न उजड़े।

- बता दें कि शनिवार को भरी दोपहरी में पाकिस्तान ने सीजफायर उल्लंघन किया। जम्मू-कश्मीर के राजौरी डिस्ट्रिक्ट स्थित केरी (120 इन्फैंट्री ब्रिगेड) बटालियन एरिया में पाकिस्तान की तरफ से की गई भारी गोलाबारी में मेजर प्रफुल्ल अम्बादास, लांस नायक गुरमेल सिंह, जवान परगट सिंह और एक अन्य जवान शहीद हो गए थे। साथ ही, एक जवान गंभीर रूप से घायल हो गया था। परगट सिंह हरियाणा के करनाल जिले के गांव रंबा के रहने वाले थे।

पिता ने पहले कहा था- सरकार मौन, अब पूरी फैमिली ने कही ये बात

- बेटे के शहीद होने पर पिता रतन सिंह ने कहा था कि जवान मर रहे हैं और सरकार मौन है। पाकिस्तान को एक बार पावर दिखानी चाहिए।
- अब जबकि मंगलवार तड़के हमारी सेना ने शहीदों के खून का बदला ले लिया है तो शहीद परगट सिंह की फैमिली ने इस कदम का स्वागत किया है।
- शहीद की मां ने कहा कि उन्हें इस बात की खुशी है कि भारतीय सेना ने अपने जवानों के खोने का बदला ले लिया। उनके अौर सैनिकों को मारना चाहिए, ताकि भारत के जवान शहीद न हो अौर न ही कोई पत्नी विधवा हो। पाकिस्तान को इसी तरह मुंहतोड़ जवाब देना चाहिए।
- पिता रतन सिंह ने कहा कि सरकार ऐसे ही मुंहतोड़ जवाब देती रहे और जवानों के लिए अच्छी फैसिलिटी उपलब्ध कराई जाएं, तो भविष्य में होने वाली घुसपैठ की घटनाएं नहीं होंगी।
- वहीं, परगट सिंह की पत्नी रमनदीप कौर ने कहा कि पाकिस्तान में भारतीय जवानों की हत्या कर मेरा घर बर्बाद कर दिया। भारतीय सेना इसी तरह पाकिस्तानी सैनिकों को मौत के घाट उतारे तब कही जाकर उनके पति की आत्मा को शांति मिलेगी।